26.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Fact Check: 6 से 10 रुपये तक कम हो सकते हैं पेट्रोल-डीजल के दाम? केंद्र सरकार ने बताया क्या है सच

पुरी ने मीडिया में चल रही खबरों का खंडन करते हुए कहा, सरकार की बड़ी प्राथमिकता ईंधन की उपलब्धता को बनाए रखने की है. उन्होंने कहा, दक्षिण एशियाई देशों में पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगभग 40-80% बढ़ीं. अगर आप पश्चिमी औद्योगिक दुनिया को देखें, तो वहां कीमतें बढ़ी हैं. लेकिन यहां कीमतें कम हो गई हैं. =

नये साल में पेट्रोल-डीजल की कीमत में 6 से 10 रुपये की कटौती की खबर तेजर से मीडिया में आई थी. जिसके बाद महंगाई से परेशान लोगों में थोड़ी राहत की उम्मीद जगी थी. लेकिन सरकार की ओर से जो अपडेट आया है, उससे आपको तगड़ा झटका लग सकता है. केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कीमत में कटौती की खबर को सिरे से खारिज कर दिया है.

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने पेट्रोल-डीजल की कीमत में कटौती को लेकर दिया बड़ा बयान

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने पेट्रोल-डीजल की कीमत में कटौती की खबर को सिरे से खारिज कर दिया. उन्होंने कहा, कीमत में कमी को कोई प्रस्ताव नहीं है. पुरी ने मीडिया में चल रही खबरों का खंडन करते हुए कहा, सरकार की बड़ी प्राथमिकता ईंधन की उपलब्धता को बनाए रखने की है. उन्होंने कहा, दक्षिण एशियाई देशों में पेट्रोल और डीजल की कीमतें लगभग 40-80% बढ़ीं. अगर आप पश्चिमी औद्योगिक दुनिया को देखें, तो वहां कीमतें बढ़ी हैं. लेकिन यहां कीमतें कम हो गई हैं. हम दूरदर्शी और दूरदर्शी नेतृत्व के कारण ऐसा करने में सक्षम हैं. केंद्रीय उत्पाद शुल्क में कटौती दो मौकों पर की गई, नवंबर 2021 और मई 2022 में.

पेट्रोल कीमत पुरी वैश्विक तेल बाजार में बेहद अशांत स्थिति, स्थिर होने पर होगी कटौती

पेट्रोलियम मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने अंतरराष्ट्रीय तेल कीमतों में आई नरमी के बीच पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कटौती की संभावना पर बुधवार को कहा कि वैश्विक बाजार इस समय ‘बेहद अशांत’ है और किसी भी कटौती से पहले इसे स्थिर होना होगा.

Also Read: डीजल ना पेट्रोल… गाय के गोबर से चलती है Maruti Suzuki की ये पॉपुलर कार!

पिछले 21 महीनों से पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में कोई बदलाव नहीं

सार्वजनिक क्षेत्र की तीनों तेल विपणन कंपनियों ने पिछले 21 महीनों से पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों में कोई बदलाव नहीं किया है. इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन लिमिटेड (आईओसीएल), भारत पेट्रोलियम कॉरपारेशन लिमिटेड (बीपीसीएल) और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड (एचपीसीएल) का लगभग 90 प्रतिशत घरेलू पेट्रोलियम बाजार पर नियंत्रण है.

पुरी ने तेल कंपनियों के साथ चर्चा की खबर को भी किया खारिज

पुरी ने खुदरा कीमतों में कटौती को लेकर तेल कंपनियों के साथ किसी तरह की बातचीत के बारे में पूछे जाने पर कहा, ऐसे किसी भी मुद्दे पर तेल विपणन कंपनियों के साथ कोई चर्चा नहीं हुई है. उन्होंने कहा कि तेल कंपनियां ईंधन मूल्य निर्धारण के बारे में अपना फैसला खुद करती हैं. इसके साथ ही पेट्रोलियम मंत्री ने रूस-यूक्रेन युद्ध और इजराइल-हमास संघर्ष का जिक्र करते हुए कहा, हम इस समय अत्यधिक अशांत स्थिति में हैं. वैश्विक मानचित्र पर दो क्षेत्र हैं जो संघर्ष की स्थिति में हैं.

अंतर्राष्ट्रीय तेल की कीमतों में उछाल आया

पुरी ने कहा कि वैश्विक समुद्री परिवहन का 12 प्रतिशत, तेल का 18 प्रतिशत और एलएनजी व्यापार का चार-आठ प्रतिशत लाल सागर एवं स्वेज नहर के जरिये संचालित होता है. लाल सागर में जहाजों पर हमले के बाद अंतर्राष्ट्रीय तेल की कीमतों में उछाल आया था लेकिन बाद में दरें कम हो गई हैं. पुरी ने कहा, इस अत्यधिक अस्थिर स्थिति में हमारा प्राथमिक दायित्व तेल की उपलब्धता और किफायत को सुनिश्चित करना है. हम इस स्थिति को बहुत सावधानी से देख रहे है.

पेट्रोल और डीजल की कीमतें अप्रैल, 2022 से स्थिर

पेट्रोल और डीजल की कीमतें अप्रैल, 2022 से ही स्थिर बनी हुई है. राष्ट्रीय राजधानी में पेट्रोल की कीमत 96.72 रुपये प्रति लीटर है और डीजल 89.62 रुपये प्रति लीटर है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें