34.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

रहीम दास बोले- अमृत ऐसे वचन में…

अमृत ऐसे वचन में, रहिमन रिस की गांस! जैसे मिसिरिहु में मिली, निरस बांस की फांस!! अर्थात ज्ञानी संत- महात्माओं की अमर वाणी में कभी-कभी उनके क्रोध से उपजे शब्द भी ठंडक पहुंचाते हैं, जैसे मीठी मिसरी में घुली-मिली बांस की नीरस फांस भी मधुर लगती है.

अमृत ऐसे वचन में, रहिमन रिस की गांस!

जैसे मिसिरिहु में मिली, निरस बांस की फांस!!
अर्थात
ज्ञानी संत- महात्माओं की अमर वाणी में कभी-कभी उनके क्रोध से उपजे शब्द भी ठंडक पहुंचाते हैं, जैसे मीठी मिसरी में घुली-मिली बांस की नीरस फांस भी मधुर लगती है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें