34.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

रहीम दास बोले: अनुचित बचन न मानिए…

अनुचित बचन न मानिए, जदपि गुराइसु गाढि! है रहीम रघुनाथ ते, सुजस भरत की बाढि!! अर्थात भरपूर दबाव पड़ने पर भी अनुचित कार्य कभी न करें. जिस कार्य को करने के लिए आपका अंतर्मन गवाही न दे, वह कार्य को बड़ा व आदरणीय व्यक्ति भी कहे तो भी न करें.

अनुचित बचन न मानिए, जदपि गुराइसु गाढि!

है रहीम रघुनाथ ते, सुजस भरत की बाढि!!

अर्थात

भरपूर दबाव पड़ने पर भी अनुचित कार्य कभी न करें. जिस कार्य को करने के लिए आपका अंतर्मन गवाही न दे, वह कार्य को बड़ा व आदरणीय व्यक्ति भी कहे तो भी न करें.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें