36.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Advertisement

Mahindra बदलेगी किसानों की तकदीर! लॉन्च हुई पहली मोनो-फ्यूल ट्रैक्टर, प्रति घंटे होगी 100 रुपये की बचत

इस ट्रैक्टर का अनावरण चार दिवसीय सम्मेलन के पहले दिन भारत सरकार के सड़क परिवहन, और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी की मौजूदगी में किया गया. गडकरी ने इस अवसर पर कहा कि सीएनजी ट्रैक्टरों का उपयोग करने से किसानों को डीजल की तुलना में काफी बचत होगी.

Mahindra First CNG Tractor: भारत के प्रमुख ट्रैक्टर निर्माताओं में से एक महिंद्रा ट्रैक्टर्स ने अपने पहले सीएनजी मोनो-फ्यूल ट्रैक्टर को युवो ट्रैक्टर प्लेटफॉर्म पर लॉन्च किया है. यह ट्रैक्टर एक महत्वपूर्ण कदम है जो भारतीय कृषि क्षेत्र में हरित क्रांति को बढ़ावा देने में मदद करेगा. इस ट्रैक्टर का अनावरण नागपुर में हुए एग्रोविजन में किया गया है, जो मध्य भारत का सबसे बड़ा कृषि सम्मेलन माना जाता है. इस सम्मेलन में देशभर के किसान, कृषि विशेषज्ञ और नीति निर्माता एकत्रित हुए थे.

नितिन गडकरी के सामने हुआ अनावरण

इस ट्रैक्टर का अनावरण चार दिवसीय सम्मेलन के पहले दिन भारत सरकार के सड़क परिवहन, और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी की मौजूदगी में किया गया. गडकरी ने इस अवसर पर कहा कि सीएनजी ट्रैक्टरों का उपयोग करने से किसानों को डीजल की तुलना में काफी बचत होगी. उन्होंने यह भी कहा कि इससे पर्यावरण प्रदूषण को कम करने में भी मदद मिलेगी.

Also Read: CSIR-PRIMA ET11: भारत का पहला इलेक्ट्रिक ट्रैक्टर, जो अपनी खूबियों से किसानों को करेगा मालामाल!

महिंद्रा रिसर्च वैली में बनी ट्रैक्टर

महिंद्रा ट्रैक्टर्स का कहना है कि सीएनजी वाहनों के विकास में अपनी विशेषज्ञता का लाभ उठाते हुए उसने इष्टतम उत्सर्जन नियंत्रण, प्रदर्शन और परिचालन लागत दक्षता को प्राथमिकता दी है. इसे चेन्नई में स्थित महिंद्रा रिसर्च वैली में विकसित और परीक्षण किया गया है.

70% तक कम उत्सर्जन

महिंद्रा का दावा है कि सीएनजी ट्रैक्टर अपने डीजल समकक्ष की तुलना में लगभग 70% तक उत्सर्जन कम करने के साथ-साथ डीजल से चलने वाले ट्रैक्टरों के बराबर शक्ति और प्रदर्शन प्रदान करता है. यह कम इंजन कंपन भी प्रदान करता है जो शोर स्तर को कम करने में मदद करता है, डीजल ट्रैक्टरों से 3.5db कम है. यह वृद्धि न केवल विस्तारित काम के घंटे और इंजन जीवन की सुविधा प्रदान करती है बल्कि ऑपरेटर आराम को भी बढ़ाती है, जो कृषि और गैर-कृषि दोनों अनुप्रयोगों के लिए उपयुक्त है.

प्रति घंटे डीजल ट्रैक्टरों पर 100 रुपये की बचत का अनुमान

CNG ट्रैक्टर मौजूदा डीजल ट्रैक्टरों की क्षमताओं से मेल खाते हुए विभिन्न कृषि और ढुलाई अनुप्रयोगों को आसानी से संभालता है. महिंद्रा के सीएनजी ट्रैक्टर में चार टैंक हैं जिनमें से प्रत्येक में 45 लीटर पानी की क्षमता है, या 24 किलो गैस ऑन-बोर्ड है, जो 200-बार दबाव में भरा हुआ है. कंपनी प्रति घंटे डीजल ट्रैक्टरों पर 100 रुपये की बचत का अनुमान लगाती है.

भारतीय कृषि क्षेत्र के लिए एक गेमचेंजर

महिंद्रा ट्रैक्टर्स का मानना है कि सीएनजी ट्रैक्टर भारतीय कृषि क्षेत्र के लिए एक गेमचेंजर साबित होगा. कंपनी का कहना है कि वह इस ट्रैक्टर को पूरे भारत में उपलब्ध कराएगी और किसानों को सीएनजी ट्रैक्टर अपनाने के लिए प्रोत्साहित करेगी.

Also Read: भारत के किसानों के लिए किफायती है न्यू हॉलैंड ट्रैक्टर, जानें इसकी खासियत

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें