1. home Hindi News
  2. world
  3. rich people of india are very chic flights to britain are being filled by private jet by paying lakhs of rupees vwt

कोरोना में भी भारत के रईसों की खूब हैं ठाठ, लाखों रुपये देकर प्राइवेट जेट से भर रहे ब्रिटेन के लिए उड़ान

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
रइसों की मनमानी.
रइसों की मनमानी.
डेमो फोटो.

लंदन : भारत को रेड लिस्ट में डालने के बावजूद ब्रिटेन में भारत के रईसों को खूब ठाठ है. कोरोना की दूसरी लहर के दौरान ब्रिटेन में भारत से जाने वालों पर रोक लगाए जाने के बावजूद वे लंदन के लिए उड़ान भर रहे हैं. भारत से ब्रिटेन जाने वाले लोगों पर बीते 23 अप्रैल से रोक लगाए जाने के बाद यहां के रईस 100,000 पाउंड में प्राइवेट जेट बुक करके अपने ब्रिटेन जा रहे हैं. टाइम्स लंदन के आकंड़ों अनुसार, 23 अप्रैल को सुबह 4 बजे नई यात्रा प्रतिबंध लागू होने के बाद पहले 24 घंटे में कम से कम आठ प्राइवेट जेट विमान ब्रिटेन से भारत के लिए उड़ान भरा है. भारत से ब्रिटेन की यात्रा औसतन नौ घंटे की होती है.

दरअसल, प्राइवेट जेट विमानों में से एक (मुंबई से एक 13-सीटर बॉम्बार्डियर ग्लोबल 6000) लंदन के ल्यूटन हवाई अड्डे पर उतरा, जबकि तीन अन्य विमान चुपके से कहीं गायब बताए जा रहे हैं. लंदन का ल्यूटन हवाई अड्डा प्राइवेट जेट विमानों का सबसे व्यस्त माना जाता है. ब्रिटेन ने 19 अप्रैल को भारत को हवाई यात्रा के लिए रेड लिस्ट में शामिल किया था. ब्रिटेन के स्वास्थ्य सचिव मैट हैनॉक ने कहा कि यह प्रतिबंध 23 अप्रैल की सुबह 4 बजे से लागू है.

इस घोषणा के साथ ही ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अपनी भारत यात्रा को भी रद्द कर दिया. ब्रिटेन की रेड लिस्ट में भारत, दक्षिण अमेरिका, पाकिस्तान और भारत समेत दुनिया भर के 39 देशों के नाम शामिल हैं. यह प्रतिबंध ब्रिटिश और आयरिश नागरिकों को छोड़कर रेड लिस्ट में शामिल देशों से आने वाले नागरिकों पर लागू है. इसमें शर्त यह भी शामिल है कि जो प्रतिबंधित देश से वहां पहुंच चुके हैं, उन्हें कम से कम 10 दिनों के लिए कोरेंटिन रहना होगा. हैनॉक का कहना है कि भारत से आए 103 लोगों में कोरोना का संक्रमण पाए जाने के बाद यह प्रतिबंध लगाया गया है.

कोरोना की दूसरी लहर के दौरान भारत में रोजाना 3.5 लाख संक्रमित पाए जा रहे हैं. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में चिकित्सा व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई है और वहां के लोगों को ऑक्सीजन की कमी से जूझना पड़ रहा है. ऑक्सीजन सप्लाई क्रिटिकल लेवल पर पहुंचने के बाद अस्पतालों को एसओएस भी जारी करना पड़ रहा है.

ब्रिटेन के सबसे बड़े व्यावसायिक हवाई अड्डा हीथ्रो द्वारा भारत के लिए आठ उड़ानों को रोक दिए जाने के बाद प्राइवेट जेट विमानों के लिए होड़ सी मच गई. बीबीसी की एक रिपोर्ट के अनुसार, पासपोर्ट के लिए लंबी लाइनों के मद्देजनजर कई एयरलाइंस की ओर से अतिरिक्त विमानों के अनुरोध को ठुकरा दिया गया. बावजूद इसके ल्यूटन हवाई हड्डे पर आठ प्राइवेट जेट विमान की लैंडिंग देखी गई. 23 अप्रैल को प्रतिबंध लागू होने के करीब 45 मिनट पहले करीब 3.16 मिनट पर बंबार्डियर ग्लोबल 6000 का विमान यहां पहुंचा. इस विमान पर चार्टर कंपनी विस्टा जेट का मालिकाना हक है और यह 22 अप्रैल को दुबई से मुंबई के पैसेंजरों को लेकर उड़ान भरा था. यह खाड़ी के देश, इराक और तुर्की होते हुए लंदन के ल्यूटन हवाई अड्डे तक पहुंचा.

यह विमान 23 अप्रैल को प्रतिबंध शुरू होने के करीब 1.45 घंटा पहले 2.15 बजे रात को ल्यूटन हवाई अड्डे पर उतरा था. यह विमान किसी प्राइवेट आदमी के नाम पर रजिस्टर्ड है. इसी तरह बंबार्डियर ग्लोबल 6000 के दो अन्य विमान दिल्ली और अहमदाबाद से उड़ान भरकर ल्यूटन हवाई अड्डे पर एक घंटे के अंतराल पर उतरे. इसके पहले भारत का व्यावसायिक विमान विस्तारा का बोईंग 787 ड्रीमलाइनर 22 अप्रैल की शाम करीब सात बजे यहां पहुंचा था.

Posted by : Vishwat Sen

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें