1. home Hindi News
  2. world
  3. new dangerous virus found in china wuhan scientists claim neocov virsu can kill one out of 3 prt

Neocov Virus: चीन में मिला नया खतरनाक वायरस, वुहान के वैज्ञानिकों का दावा- 3 में से ले सकता है 1 की जान

पूरी दुनिया को कोरोना से दहलाने के बाद एक बार फिर चीन का वुहान शहर खौफ मचा रहा है. दरअसल, वुहान के वैज्ञानिकों ने अब एक नए वायरस आने की बात कही है. वुहान के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस 'नियोकोव' (NeoCoV) को लेकर चेतावनी जारी की है.

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
चीन में मिला नया खतरनाक वायरस
चीन में मिला नया खतरनाक वायरस
Twitter, Symbolic Image

पूरी दुनिया को कोरोना से दहलाने के बाद एक बार फिर चीन का वुहान शहर खौफ मचा रहा है. दरअसल, वुहान के वैज्ञानिकों ने अब एक नए वायरस आने की बात कही है. वुहान के वैज्ञानिकों ने कोरोना वायरस 'नियोकोव' (Neocov) को लेकर चेतावनी जारी की है. हालांकि, वैज्ञानिकों ने कहा है कि यह वायरस दक्षिण अफ्रीका में मिला है. लेकिन सबको डर इस बात का सता रहा है कि 2019 में वुहान से निकले कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में तबाही मचा दी है.

वुहान के वैज्ञानिकों का कहना है कि नियोकोव बेहद खतरनाक वायरस है. इसकी संक्रमण और मृत्यु दर काफी ज्यादा है. वैज्ञानिकों ने कहा है कि हर दिन में से एक मरीज की जान चली जाती है इस संक्रमण से संक्रमित होने पर. रूस की समाचार एजेंसी स्पुतनिक की रिपोर्ट के मुताबिक, यह बेहद खतरनाक वायरस है, जो मार्स सीओवी वायरस से ताल्लुक रखता है. हालांकि रिपोर्ट में कहा गया है कि यह कोई नया वायरस नहीं है. इससे पहले यह 2012 और 2015 में भी सामने आ चुका है.

रूसी समाचार एजेंसी स्पुतनिक की रिपोर्ट के मुताबिक, यह वायरस अफ्रीकी देशों में 2012 और 2015 में फैसला शुरू किया था. रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि, यह यह सार्स कोव 2 (SARS-CoV-2) के समान है. रिपोर्ट में यह भी कहा गया है कि यह इंसानों को कोरोना वायरस से संक्रमित कर सकता है.

वैज्ञानिकों ने कहा है कि नियोकोव वायरस चमगादड़ में पाया गया है. यह आमतौर पर जानवरों में ही फैलता है. लेकिन बायोरेक्सिव (Biorxiv) वेबसाइट की एक रिपोर्ट में दावा किया जा रहा है कि यह इंसानों को भी संक्रमित कर सकता है. वुहान के वैज्ञानिकों ने भी दावा किया है कि अगर नियोकोव वायरस अपना एक भी वेरिएंट में बदलाव करता है तो यह इंसानों को भी संक्रमित करने में सक्षम हो सकता है. शोधकर्ताओं का ये भी कहना है कि इसकी संक्रामक क्षमता बहुत ज्यादा है.

Posted by: Pritish Sahay

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें