33.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

अमेरिका : 80 साल की उम्र में जो बाइडन ने राष्ट्रपति चुनाव-2024 के लिए पेश की दावेदारी

जो बाइडन की दलील है कि 2024 में चुनावों में गर्भपात के अधिकार, लोकतंत्र की रक्षा, मतदान के अधिकार और सामाजिक सुरक्षा तंत्र सबसे महत्वपूर्ण मुद्दों में से एक होंगे. उन्होंने कहा कि अमेरिकियों की हर पीढ़ी ने एक ऐसे क्षण का सामना किया है, जब उन्हें लोकतंत्र की रक्षा करनी है.

वाशिंगटन : अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने पूर्ववर्ती डोनाल्ड ट्रम्प को हराने के तीन साल से भी कम समय में एक बार फिर 2024 में शीर्ष पद के लिए अपनी दावेदारी की मंगलवार को घोषणा की. उन्होंने लोकतंत्र को बचाने और काम पूरा खत्म करने के लिए अमेरिकियों से फिर से उन्हें चुनने का आह्वान करते हुए अपनी दावेदारी की शुरुआत की. डेमोक्रेट जो बाइडन (80) ने तीन मिनट के एक प्रचार वीडियो में इस बात का ऐलान किया. इस वीडियो की शुरुआत एक शब्द ‘फ्रीडम’ के साथ होती है.

इतिहास में सबसे उम्रदराज अमेरिकी राष्ट्रपति

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन कई दशकों से राजनीति में सक्रिय रहे हैं. वह अमेरिकी इतिहास के सबसे उम्रदराज राष्ट्रपति हैं. जो बाइडन की दलील है कि 2024 में चुनावों में गर्भपात के अधिकार, लोकतंत्र की रक्षा, मतदान के अधिकार और सामाजिक सुरक्षा तंत्र सबसे महत्वपूर्ण मुद्दों में से एक होंगे. उन्होंने कहा कि अमेरिकियों की हर पीढ़ी ने एक ऐसे क्षण का सामना किया है, जब उन्हें लोकतंत्र की रक्षा करनी है, हमारी व्यक्तिगत स्वतंत्रता के लिए खड़े होना है, और हमारे मतदान के अधिकार और हमारे नागरिक अधिकारों के लिए खड़े होना है. यह हमारे हैं.

रिपब्लिकन अतिवाद के खिलाफ लड़ाई

वीडियो में जो बाइडन ने 2024 के चुनाव को रिपब्लिकन अतिवाद के खिलाफ लड़ाई करार दिया. उन्होंने कहा कि उन्हें राष्ट्र के चरित्र को बहाल करने के लिए अपने संकल्प को पूरी तरह से साकार करने के लिए और वक्त चाहिए. उन्होंने वीडियो में कहा कि जब मैं चार साल पहले राष्ट्रपति पद के लिए खड़ा हुआ था, तब मैंने कहा था कि हम अमेरिका की आत्मा के लिए लड़ रहे हैं और हम अब भी लड़ रहे हैं.

Also Read: Joe Biden Health: राष्ट्रपति जो बाइडन के स्वास्थ्य को लेकर व्हाइट हाउस के डॉक्टर ने किया बड़ा खुलासा

मैं दोबारा चुनाव लड़ रहा हूं

जो बाइडन का यह वीडियो छह जनवरी 2021 के उपद्रव और गर्भपात अधिकार कार्यकर्ताओं के अमेरिकी सुप्रीम कोर्ट में विरोध की तस्वीरों के साथ शुरू होता है. उन्होंने कहा कि हम जिस प्रश्न का सामना कर रहे हैं, वह यह है कि क्या आने वाले वर्षों में हमारे पास अधिक स्वतंत्रता है या कम स्वतंत्रता है. अधिक अधिकार हैं या कम. बाइडन ने कहा कि मुझे पता है कि मैं क्या जवाब चाहता हूं और मुझे लगता है कि आप भी जानते हैं. यह संतुष्ट होने का समय नहीं है. इसलिए मैं दोबारा चुनाव लड़ रहा हूं.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें