24.9 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Israel -Iran war : इजरायल ने ईरान के महत्वपूर्ण शहर इस्फहान पर किया जवाबी हमला, जानिए विवाद से जुड़ी 10 बड़ी बातें

इजरायल ने अमेरिकी दबाव के आगे झुके बिना ईरान पर जवाबी कार्रवाई कर दी है. सीरिया के दमिश्क शहर में स्थित ईरान के दूतावास पर हमले के जवाब में ईरान ने इजरायल पर आधी रात को मिसाइलें बरसाई थीं.

Israel -Iran war : ईरान ने 13 अप्रैल को इजरायल पर हमला किया था और 19 अप्रैल को इजरायल ने जवाबी कार्रवाई करते हुए ईरान पर मिसाइल दाग दिए हैं. हालांकि ईरान ने यह दावा कर रहा है कि उसने इजरायली मिसाइलों को बेकार कर दिया. लेकिन अमेरिकी अधिकारियों के हवाले से मीडिया में जो खबरें आई हैं, उनके अनुसार ईरान के इस्फहान शहर के सैन्य हवाई अड्डे के पास विस्फोट की आवाजें सुनाई दी है. ईरान के परमाणु संयंत्रों पर हमले की अभी की तक कोई सूचना नहीं है.

संयुक्त राष्ट्र ने बनाया इजरायल पर दबाव

गौरतलब है कि सीरिया के दमिश्क शहर में स्थित ईरान के दूतावास पर हमले के जवाब में ईरान ने इजरायल पर आधी रात को मिसाइलें बरसाई थीं, जिसके बाद अमेरिका और संयुक्त राष्ट्र ने इजरायल से जवाबी कार्रवाई नहीं करने को कहा था, क्योंकि संयुक्त राष्ट्र संघ का कहना है कि विश्व तीसरे विश्व युद्ध को नहीं झेल सकता है. कई पश्चिमी देश जिसमें जर्मनी और ब्रिटेन भी शामिल हैं उन्होंने इजरायल को बदला लेने से रोकने की कोशिश की. लेकिन इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू ने स्पष्ट कर दिया था कि वह किसी के दबाव में आने वाले नहीं हैं और ईरान को जवाब वो अपने दम पर देंगे. इजरायल ने अपना दम दिखाते हुए ईरान पर हमला कर दिया है.


जानिए इजरायल-ईरान वार से जुड़ी दस बड़ी बातें

  • -इजरायल ने ईरान के जिस शहर इस्फहान पर हमला किया है वो शहर ईरान का सैन्य अड्डा है और यहां परमाणु संयंत्र भी हैं.
  • -इस्फहान शहर ईरान का तीसरा सबसे बड़ा शहर है, जहां की आबादी लगभग 22 लाख है.
  • -इस्फहान में इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड काॅर्प्स का महत्वपूर्ण सैन्य अड्डा है और यहां से ईरान का सबसे बड़ा यूरेनियम प्रोग्राम भी आपरेट होता है.
  • -इस्फहान ईरान का काफी महत्वपूर्ण शहर है, जहां से कई रणनीतिक फैसले भी लिए जाते हैं, ऐसे में इजरायल, ईरान को यह संदेश देना चाहता है कि वह जब चाहे ईरान को उसकी औकात बता सकता है.
  • -ईरान ने दमिश्क में हुए हमले का बदला लेने के लिए इजरायल पर 13 अप्रैल को हमला किया था.
  • -अमेरिकी दबाव के आगे नहीं झुका इजरायल, ईरान पर की जवाबी कार्रवाई
  • -खाड़ी क्षेत्र में युद्ध छिड़ने के बाद कच्चे तेल की कीमत में भारी बढ़ोतरी दर्ज हो सकती है.
  • -भारत का सैन्य व्यापार हो सकता है प्रभावित, क्योंकि इजरायल से सबसे अधिक सैन्य हथियार भारत ही खरीदता है.
  • -इजरायल का रवैया अगर बदला लेने वाला ही रहा, तो छिड़ सकता है महायुद्ध
  • -अमेरिका इजरायल के समर्थन में खड़ा है, लेकिन युद्ध वह भी नहीं चाहता है.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें