1. home Home
  2. world
  3. dy pm of afghanistan mullah baradar killed taliban said this mtj

अफगानिस्तान के राष्ट्रपति भवन में संघर्ष, मारा गया मुल्ला बरादर, तालिबान ने कही ये बात

खबर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगी, तो तालिबान ने सफाई दी. कहा कि मुल्ला बरादर की मौत नहीं हुई है.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
मुल्ला अब्दुल गनी बरादर
मुल्ला अब्दुल गनी बरादर
File Photo

काबुलः अफगानिस्तान (Afghanistan) के राष्ट्रपति भवन में सत्ता के लिए संघर्ष हुआ और उसमें देश का उप-प्रधानमंत्री मुल्ला अब्दुल गनी बरादर मारा गया (Mullah Abdul Ghani Baradar Death News). इस सत्ता संघर्ष में अफगानिस्तान का गृह मंत्री सिराजुद्दीन हक्कानी घायल हो गया है. पंजशीर में तालिबान (Taliban) से जंग लड़ रहे नॉर्दर्न फ्रंट ने यह दावा किया.

यह खबर सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल होने लगी, तो तालिबान ने सफाई दी. कहा कि मुल्ला बरादर की मौत नहीं हुई है. यह खबर पूरी तरह से गलत और भ्रामक है. बाद में मुल्ला बरादर ने भी ऑडियो टेप जारी कर अपने जिंदा होने के सबूत दिये.

तालिबान के शीर्ष नेताओं में शुमार मुल्ला बरादर ने ऑडियो टेप जारी कर इसे प्रोपेगेंडा करार दिया है. मोहम्मद हसन अखुंद के डिप्टी प्रधानमंत्री ने कहा है कि मेरी मौत के बारे में सोशल मीडिया में एक खबर तेजी से फैल रही है. पिछले कुछ दिनों से मैं लगातार दौरे कर रहा हूं. मैं इस वक्त जहां हूं, वहां बिल्कुल सही-सलामत हूं.

मुल्ला बरादर ने आगे कहा है कि मीडिया हमेशा दुष्प्रचार करता है. इसलिए मीडिया के झूठ को नकारें. मैं आपको आश्वस्त करता हूं कि अफगानिस्तान में कोई समस्या नहीं है.

तालिबान के प्रवक्ता ने जारी किया बयान

तालिबान के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने कतर से बयान जारी कर तालिबान के सह-संस्थापक और अब अफगानिस्तान के डिप्टी पीएम मुल्ला बरादर की मौत की खबरों को गलत और भ्रामक करार दिया. प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने कहा कि कुछ साल पहले तालिबान के सुप्रीम लीडर हैबतुल्लाह अखुंदजादा की मौत की खबर इसी मीडिया ने फैला दी थी. अखुंदजादा अब भी जीवित हैं. कांधार में हैं. इसलिए ऐसी खबरों पर विश्वास न करें.

उल्लेखनीय है कि अफगानिस्तान पर जब तालिबान ने कब्जा किया था, तो चर्चा थी कि मुल्ला बरादर को देश का नया प्रधानमंत्री बनाया जायेगा. लेकिन ऐसा नहीं हुआ. मुल्ला हसन अखुंद को अफगानिस्तान की अंतरिम सरकार का प्रधानमंत्री घोषित किया गया और मुल्ला बरादर को उनका डिप्टी बनाया गया. इसके बाद से कहा जा रहा था कि मुल्ला बरादर नाराज चल रहे हैं.

इसलिए फैली मुल्ला बरादर की मौत की खबर

पिछले दिनों कतर के उप-प्रधानमंत्री और विदेश मंत्री शेख मोहम्मद बिन अब्दुर रहमान अल सानी काबुल आये थे. यहां उन्होंने तालिबान के शीर्ष नेताओं से मुलाकात की, लेकिन इस दौरान डिप्टी पीएम मुल्ला बरादर कहीं नहीं दिखे. प्रधानमंत्री मुल्ला हसन अखुंद और गृह मंत्री सिराजुद्दीन हक्कानी ने विदेशी मेहमानों से मुलाकात की. इसके बाद ही सोशल मीडिया पर खबरें चलने लगीं कि मुल्ला बरादर राष्ट्रपति भवन में हुए एक संघर्ष में मारा गया.

Posted By: Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें