28.8 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Japan Open: लक्ष्य सेन पहुंचे सेमीफाइनल में, सात्विक-चिराग की जोड़ी और एचएस प्रणय हारकर बाहर

भारतीय स्टार बैडमिंटन खिलाड़ी लक्ष्य सेन जापान ओपन के सेमीफाइनल में पहुंच गये हैं. वहीं चिराग और सात्विक की जोड़ी प्रतियोगिता से बाहर हो गयी है. एचउस प्रणय का सफर भी समाप्त हो गया है. लक्ष्य सेन से ही अब भारत की सभी उम्मीदें हैं.

तोक्यो : भारत के स्टार लक्ष्य सेन ने अपना प्रभावी प्रदर्शन जारी रखते हुए जापान के कोकी वातानाबे को सीधे गेम में हराकर जापान ओपन सुपर 750 बैडमिंटन टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया. वहीं, एच एस प्रणय और सात्विक साइराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की जोड़ी हारकर बाहर हो गयी. विश्व चैम्पियनशिप 2021 के कांस्य पदक विजेता दुनिया के 13वें नंबर के खिलाड़ी सेन ने 33वीं रैंकिंग वाले वातानाबे को 21-15, 21-19 से शिकस्त दी. वह कनाडा और अमेरिका के बाद लगातार तीसरे सेमीफाइनल में पहुंचे हैं.

चीनी ताइपे की जोड़ी से हारे सात्विक-चिराग

अलमोड़ा के 21 वर्ष के राष्ट्रमंडल खेल चैम्पियन सेन का सामना इंडोनेशिया के पांचवीं वरीयता प्राप्त जोनाथन क्रिस्टी से होगा. दुनिया के दसवें नंबर के खिलाड़ी प्रणय को दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी डेनमार्क के विक्टर एक्सेलसेन ने 19-21, 21-18, 21-8 से हराया. फॉर्म में चल रही सात्विक साइराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी की भारतीय जोड़ी को ओलंपिक चैम्पियन चीनी ताइपै के ली यांग और वांग चि लान ने 21-15, 23-25, 21-16 से मात दी. इसके साथ ही उनका लगातार 12 मैच का विजय अभियान भी खत्म हो गया.

Also Read: PM Modi ने दी लक्ष्य सेन और वर्ल्ड तीरंदाजी युवा चैंपियनशिप में मेडल जीतने वाले खिलाड़ियों को दी बधाई
लक्ष्य सेन ने जीत से किया आगाज

कनाडा ओपन सुपर 500 टूर्नामेंट जीतने वाले सेन ने 5-3 की बढ़त से आगाज किया और ब्रेक तक यह बढ़त 11-7 की कर ली. उन्हें जापानी विरोधी का सामना करन में दिक्कत नहीं आई और पहला गेम क्रॉसकोर्ट पर दो शानदार रिटर्न के साथ उन्होंने अपने नाम किया. दूसरे गेम में वातानाबे ने वापसी की कोशिश की लेकिन सेन ने लय नहीं छोड़ी. एक समय स्कोर 18-17 था लेकिन दो रिटर्न के साथ सेन ने एक मैच प्वाइंट बना लिया. इसके बाद बैकलाइन पर शानदार रिटर्न के साथ जीत दर्ज की.

रोमांचक मुकाबले में हारे प्रणय

एक्सेलसेन और प्रणय का मैच काफी रोमांचक रहा और दोनों ने शानदार रेलियां लगाई. पिछले तीन मैचों में दो बार एक्सेलसेन को हरा चुके प्रणय ने पहला गेम जीता और दूसरे में भी 7-1 की बढ़त बना ली थी लेकिन इसके बाद लय कायम नहीं रख सके. एक्सेलसेन ने वापसी करते हुए शानदार स्मैश लगाये और 17-13 की बढ़त बना ली. प्रणय ने वापसी करके स्कोर 17-17 किया. क्रॉसनेट शॉट के दम पर एक्सेलसेन ने फिर दो अंक की बढ़त बना ली. हालांकि प्रणय ने एक बार फिर स्कोर 19-19 कर दिया.

सात्विग-चिराग से थी काफी उम्मीदें

बेहतरीन क्रॉसनेट शॉट पर प्रणय ने एक अंक की बढ़त बनाई. एक्सेलसेन ने हालांकि लगातार अंक लेकर वापसी की. तीसरे गेम में भी स्कोर बराबरी पर था लेकिन एक्सेलसेन ने लगातार सात अंक हासिल किए. दूसरी ओर थकान प्रणय पर हावी हो गई थी और वह गलतियां करते चले गए. भारत को सात्विक और चिराग की जोड़ी से काफी उम्मीदें थी. इस जोड़ी ने हाल की में दो चैंपियनशिप जीतकर कमाल का प्रदर्शन किया था.

लक्ष्य सेन की पांच बड़ी उपलब्धियां

  • लक्ष्य सेन पूर्व विश्व जूनियर चैंपियन हैं, उन्होंने 2018 एशियाई जूनियर चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक जीता था. उन्होंने 2021 विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता और 2022 ऑल-इंग्लैंड ओपन में उपविजेता रहे.

  • सेन उस भारतीय टीम का भी हिस्सा थे, जिसने थॉमस कप 2022 जीता था. वह उस टीम का भी हिस्सा थे जिसने 2020 बैडमिंटन एशिया टीम चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीता था.

  • सेन ने वरिष्ठ अंतरराष्ट्रीय स्तर पर भी प्रतिस्पर्धा की और 2016 इंडिया इंटरनेशनल सीरीज टूर्नामेंट में पुरुष एकल का खिताब जीता.

  • 2019 में सेन ने विक्टर स्वेंडसन को 21-14 और 21-15 से हराकर बेल्जियम इंटरनेशनल टूर्नामेंट जीता. सेन ने जापान के युसुके ओनोडेरा को हराकर डच ओपन पुरुष एकल खिताब जीतकर अपना पहला बीडब्ल्यूएफ टूर खिताब जीता.

  • नवंबर 2019 में, उन्होंने जर्मनी में BWF टूर सुपर 100 टूर्नामेंट, सारलोरलक्स ओपन जीता. उन्होंने फाइनल में चीन के वेंग होंगयांग को हराकर खिताब अपने नाम किया. उन्होंने ब्राजीलियाई यगोर कोएल्हो के खिलाफ जीत के साथ 2019 स्कॉटिश ओपन भी जीता.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें