23.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

CNG कार में LPG के इस्तेमाल से धधक उठेगी गाड़ी! माइलेज घटेगा और इंजन हो सकता है सीज

एलपीजी का पूरा नाम लिक्विड पेट्रोलियम गैस है. यह नेचुरल गैसों के साथ ही पेट्रोलियम उत्पादन के दौरान भी प्राप्त होती है. सीएनजी का पूरा नाम कंप्रेस्ड नेचुरल गैस है. इसमें मुख्य रूप से मिथेन गैस होती है, जो हाई प्रेशर में भी गैस के रूप में ही रहता है.

LPG Use in CNG Car: देश में पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों की वजह से लोग सीएनजी (कम्प्रेस्ड नेचुरल गैस) वाली कारों को अधिक खरीद रहे हैं. बाजार में कुछ ऐसी ऑटोमैटिक हाइब्रिड कारें भी आ रही हैं, जो सीएनजी के साथ-साथ पेट्रोल-डीजल या फिर इलेक्ट्रिक बैटरी से भी चलती हैं. लेकिन, कुछ लोग सीएनजी कार के खर्च को कम करने के लिए उसमें एलपीजी (लिक्विड पेट्रोलियम गैस) का भी इस्तेमाल करते हैं. क्या ऐसा करना सही है? सीएनजी कार में एलपीजी के इस्तेमाल से माइलेज बढ़ जाएगा? इसका इंजन पर क्या प्रभाव पड़ेगा? एलपीजी से सीएनजी कार चलाने पर कोई खतरा तो नहीं है? आइए, इसके बारे में सबकुछ विस्तार से जानते हैं.

सीएनजी और एलपीजी में क्या है अंतर

सीएनजी से चलने वाली कार में एलपीजी के इस्तेमाल के बारे में जानने से पहले आपको इन दोनों गैसों के बीच का अंतर समझ लेना ज्यादा बेहतर होगा. जब आप इन दोनों के बीच का अंतर समझ लेंगे, तब आप यह भी जान जाएंगे कि सीएनजी कार में एलपीजी का इस्तेमाल किया जा सकता है या नहीं?

एलपीजी : इसका पूरा नाम या फुलफॉर्म लिक्विड पेट्रोलियम गैस है. यह नेचुरल गैसों के साथ ही पेट्रोलियम उत्पादन के दौरान भी प्राप्त होती है. इसमें प्रोपेन और ब्यूटेन का मिश्रण होता है, जो दबाव के कारण तरल रूप धारण कर लेता है है. एलपीजी का इस्तेमाल घरों में रसोई बनाने वाले ईंधन के तौर पर किया जाता है.

सीएनजी: इसका पूरा नाम या फुलफॉर्म कंप्रेस्ड नेचुरल गैस है. इसमें मुख्य रूप से मिथेन गैस होती है, जो हाई प्रेशर में भी गैस के रूप में ही रहता है. इस गैस का इस्तेमाल मुख्य रूप से गाड़ियों में ईंधन के तौर पर किया जाता है. यह पेट्रोल-डीजल के मुकाबले काफी सस्ता, स्वच्छ और कम प्रदूषण फैलाती है.

Also Read: 13 लोगों वाली इस बड़ी फैमिली के आगे Force Traveller को भूल जाएंगे आप! जानें इसकी कीमत

क्या सीएनजी कार में एलपीजी का कर सकते हैं इस्तेमाल

सीएनजी कार में एलपीजी का इस्तेमाल करना कतई सही कदम नहीं हो सकता है. इसका कारण यह है कि सीएनजी और एलपीजी का रासायनिक मिश्रण अलग-अलग है. इन दोनों में किसी प्रकार की समानता नहीं है. इन दोनों का इस्तेमाल भी अलग-अलग है. एलपीजी का इस्तेमाल रसोई बनाने में किया जाता है. वहीं, कार चलाने के लिए सीएनजी का इस्तेमाल किया जाता है. इन दोनों गैसों का दबाव, तापमान, जलने का आनुपातिक तापमान और उर्जा के गुण अलग हैं. सीएनजी कारों के इंजन, फ्यूल टैंक, नली और नोजल कम्प्रेस्ड नेचुरल गैस से चलने के लायक ही बनाए जाते हैं. इसमें एलपीजी के इस्तेमाल पर कई प्रकार के नुकसान हो सकते हैं.

Also Read: Maruti की सस्ती कार पर 62,000 का डिस्काउंट, सीएनजी वेरिएंट में 34km माइलेज

सीएनजी कार में एलपीजी के इस्तेमाल से लग सकती है आग

सीएनजी इंजन वाली कार में एलपीजी के इस्तेमाल से आपकी गाड़ी का माइलेज और परफॉर्मेंस घट जाएगा. इसका कारण यह है कि एलपीजी में कैलोरिफिक वैल्यू सीएनजी के मुकाबले काफी कम होती है. इसके अलावा, आपकी कार का इंजन सीज हो सकता है. इसका कारण यह है कि एलपीजी में सल्फर की मात्रा अधिक होती है, जो इंजन के कलपुर्जों को नुकसान पहुंचाता है और इंजन की लाइफ कम हो जाती है. सबसे बड़ी बात यह है कि सीएनजी कार में एलपीजी के इस्तेमाल से गाड़ी में आग लगने का खतरा अधिक रकता है. एलपीजी जल्दी लीक हो जाती है और आसानी से आग पकड़ लेती है. इसके अलावा, कार की वारंटी खत्म हो सकती है, क्योंकि कंपनियां सीएनजी इंजन वाली कारों को एलपीजी के लिए अनुमोदित नहीं करती हैं. अगर आप ऐसा करते हैं, तो आपको किसी भी प्रकार की सर्विस या रिपेयर की सुविधा नहीं मिलेगी.

Also Read: फेसलिफ्ट अवतार में देखी गई मारुति की ये पॉपुलर कार, जानें कब होगी लॉन्च

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें