FaceApp यूजर्स सावधान! कहीं आपका डेटा मुफ्त में न बेच दे बूढ़ा दिखने की चाह

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

आजकल फेसऐप ओल्ड एज फिल्टर, यानी बुढ़ापे वाले फिल्टर की वजह से चर्चा में है. सेलिब्रिटीजसे लेकर आम आदमी तक, सभी इसका इस्तेमाल करते हुए अपनी बुढ़ापे वाली तस्वीरों को शेयर कर रहे हैं.

फेसऐप की इस बढ़ती लोकप्रियता की वजह से इसका इस्तेमाल करने वाले लोगों के डेटा और प्राइवेसी को लेकर बड़ी चिंता सामने आयी है, क्योंकि इस ऐप को इस्तेमाल करने की शर्तें प्राइवेसी के लिए गंभीर खतरा हैं.

इस ऐप का इस्तेमाल करने के लिए जो भी फोटो इस्तेमाल किये जाते हैं, वो सीधे फेसऐप के क्लाउड पर स्टोर होते हैं. रूस से जुड़े फेसऐप का कहना है कि वह सिर्फ उन्हीं फोटो को काउल्ड पर लेता है, जो फिल्टर के लिए अपलोड किये जाते हैं. इसके अलावा, वह फोन में मौजूद दूसरे फोटो को क्लाउड पर प्रोसेस नहीं करता.

फेसऐप की शर्त
फेसऐप को जब आप इस्तेमाल करते हैं, तो यह आपकी तस्वीर किसी भीउद्देश्य के लिए इस्तेमाल करने की अनुमति ले लेता है. फेसऐप किसी भी तस्वीर का इस्तेमाल अपने बिजनेस के लिए कर सकता है. फेसऐप किसी भी यूजर का नाम और उससे जुड़े हुए कंटेंट को किसी भी मीडिया फॉर्मेट में इस्तेमाल कर सकता है. फेसऐप ने शर्त में साफ लिखा है- आप जो भी कंटेट हमारी सर्विस के साथ इस्तेमाल करते हैं वह पूरी तरह से पब्लिक है और उसकी लोकेशन भी पब्लिक रहेगी.

बेचा भी जा सकता है आपका डेटा
फेसऐप की शर्तों में लिखा है कि कंपनी किसी और थर्ड पार्टी के साथ डेटा शेयर कर सकती है. हालांकि कंपनी का कहना है कि वह ऐसा नहीं करने जा रही है. कंपनी फेसऐप के द्वारा जुटाये जा रहे डेटा को अमेरिका या किसी दूसरे देश में स्टोर कर सकती है.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें