1. home Hindi News
  2. tech and auto
  3. reliance jio join hands with qualcomm for low cost 5g services in india mukesh ambani led company says it has accelerated the process of introducing 5g network in the country know details here rjv

JIO 5G भारत में होगा बहुत सस्ता, कंपनी ने उठाया यह बड़ा कदम

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Mukesh Ambani on Jio 5G
Mukesh Ambani on Jio 5G
jio

Reliance JIO 5G services in India: मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज (Reliance Industries) टेलीकॉम (telecom) सेक्टर में 4जी (4G) की ही तरह देश में 5जी (5G) क्रांति लाने जा रही है. रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने भारत में 5जी इकोसिस्टम (5G Ecosystem) को ज्यादा बेहतर और सबकी पहुंच में आनेवाला बनाने के लिए 'क्रिटिकल एक्विपमेंट' के स्थानीय निर्माण के लिए अमेरिकी चिपमेकर कंपनी क्वालकॉम (Qualcomm) टेक्नोलॉजी के साथ साझेदारी की है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में कहा कि जियो डिजिटल प्लैटफॉर्म (Jio Platform) और स्वदेशी तरीके से विकसित अगली पीढ़ी की 5जी सेवाएं (5G Services) पेश करने की प्रक्रिया को गति दे रही है. भारत की 'वैश्विक डिजिटल क्रांति' में अग्रणी भूमिका निभाने का जिक्र करते हुए यह कहा गया है.

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी वार्षिक रिपोर्ट में कहा कि जियो डिजिटल प्लैटफॉर्म और स्वदेशी तरीके से विकसित अगली पीढ़ी की 5जी सेवाएं पेश करने की प्रक्रिया को गति दे रही है. भारत के 'वैश्विक डिजिटल क्रांति' में अग्रणी भूमिका निभाने का जिक्र करते हुए यह कहा गया है.

रिपोर्ट के अनुसार, रिलायंस जियो ने अगले 30 करोड़ मोबाइल ब्रॉडबैंड सेवा उपयोगकर्ताओं, जियो फाइबर का इस्तेमाल करने वाले पांच करोड़ घरों और पांच करोड़ सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम व्यापार इकाइयों के लिए पर्याप्त नेटवर्क क्षमता का निर्माण किया है.

कंपनी के चैयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने रिपोर्ट में कहा कि क्वालकॉम और जियो ने जियो भारत में 5जी निदान का सफलतापूर्वक परीक्षण किया है. जियो 5जी निदान पर एक जीबीपीएस स्पीड का महत्वपूर्ण मुकाम हासिल किया गया है.

रिपोर्ट के अनुसार, जियो और क्वालकॉम ने जियो प्लैटफॉर्म्स की पूर्ण स्वामित्व वाली अनुषंगी रेडिसिस कॉरपोरेशन के साथ मिलकर एक मुक्त और अंतर-संचालित इंटरफेस-अनुकूलन आधारित 5जी निदान का विकास किया है, जो वर्चुअलाइज्ड आरएएन (वीआरएएन) से लैस है. यह भारत में स्वदेशी 5जी नेटवर्क ढांचे और सेवाओं के विकास और उसे पेश करने की प्रक्रिया को तेज कर देगा. (इनपुट : भाषा)

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें