नये साल से शहर में बंद हो जायेंगे गैर कानूनी टोटो व सिटी ऑटो

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

सिलीगुड़ी : जनवरी महीने से सिलीगुड़ी के रास्ते पर गैर कानूनी तरीके से चलने वाले टोटो तथा सिटी ऑटो के खिलाफ स्थानीय प्रशासन कड़ा कदम उठाने जा रही है. प्रशासन की ओर से 31 दिसंबर से पहले ही सिटी ऑटो को बीएस-4 तथा टीन धारक टोटो को ई-रिक्सा में परिवर्तित करने का निर्देश दिया गया है.

इसको लेकर गुरुवार की शाम को सिलीगुड़ी के मैनाक टूरिस्ट लॉज में पर्यटन मंत्री गौतम देव ने आरटीओ दार्जिलिंग, जलपाईगुड़ी, कालिम्पोंग व अन्य प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक किया. उस बैठक में दार्जिलिंग पहाड़ पर पर्यटकों को लेकर जाने वाली गाड़ियों के फेयर चाट को लेकर भी चर्चा की गयी.
सिलीगुड़ी शहर को जाममुक्त बनाने के लिए स्थानीय पुलिस प्रशासन का प्रयास बार-बार असफल हो रहा है. प्रशासन के निर्देश के बाद भी शहर के मुख्य रास्तों पर बेलगाम टोटो आसानी से दौड़ रहा है. शहर में पुराने और खटारा सिटी ऑटो को भी प्रदूषण का दूसरा कारक माना गया है.
जिसे ध्यान में रखते हुए प्रशासन की ओर से शहर से खटारा सिटी ऑटों को बीएस-4 में बदलने का फैसला लिया गया है. लगभग शहर में 1200 ऑटों में से 484 टोटो को बीएस-4 में बदलने के लिए आवेदन जमा हुआ है. इसी बीच 31 दिसंबर के भीतर और 8 सौ टोटो को स्क्रैब किया जायेगा.
संवाददाताओं से बात करते हुए मंत्री गौतम देव ने बताया कि नये सिरे से केवल महिला टोटो चालकों को ही टीन नंबर प्रदान किया जायेगा. मंत्री ने बताया कि 2400 टीन नंबर धारक टोटो में से अब तक 900 टोटो को स्क्रैब कर उसे ई-रिक्सा में बदल दिया गया है. बाकी के बचे टोटो को स्क्रैब करने का निर्देश दिसंबर महीने के 31 तारीख तक का दिया गया है. जिसके बाद ही ये गाड़ियां राष्ट्रीय राजमार्ग तथा राज्य सड़क को छोड़कर पॉकेट रूट पर चल सकती हैं.
सिटी ऑटो को लेकर मंत्री ने बताया कि 484 ऑटों को बीएस-4 में बदलने के लिए आवेदन जमा हुआ है. उन्होंने बताया कि बैठक में 31 दिसंबर तक पुराने ऑटों को बीएस-4 मॉडल में बदलने का फैसला लिया गया है. मंत्री ने निर्देश जारी करते हुए बताया कि 1 जनवरी से शहर के रास्तों पर गैरकानूनी टोटो तथा ऑटों को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा.
जिसे लेकर इन टोटो तथा ऑटों के मालिकों से भी बात हुई है. उन्होंने बताया कि इस फैसले से शहर में जाम की समस्या में काफी कमी आयेगी. गौतम देव ने बताया कि दार्जिलिंग पहाड़ पर पर्यटकों को ले जाने वाली छोटी गाड़ी तथा लक्जरी टैक्सी के किराये का भी पुर्ननिर्धारण किया जा रहा है.
Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें