1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. side effect of bengal chunav 2021 water supply disrupted just after voting in purulia district villagers blocked road in kajora village of andal mtj

इलेक्शन के साइड इफेक्ट: पुरुलिया में चुनाव खत्म होते ही पानी को तरसे लोग, जलापूर्ति की मांग पर अंडाल में 4 घंटे सड़क जाम

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
अंडाल के काजोड़ा गांव में जलापूर्ति की मांग पर रोड जाम
अंडाल के काजोड़ा गांव में जलापूर्ति की मांग पर रोड जाम
प्रभात खबर

पुरुलिया/अंडाल: चुनाव समाप्त होते ही पुरुलिया और अंडाल में लोग एक बार फिर पेयजल के लिए तरसने लगे. नियमित जलापूर्ति की मांग पर अंडाल के एक गांव में लोगों ने 4 घंटे तक रोड जाम कर दिया.

पुरुलिया जिला के रघुनाथपुर विधानसभा क्षेत्र के प्रखंड एक अंतर्गत आढ़रा ग्राम पंचायत इलाके में पाइपलाइन से पानी की सप्लाई हो रही थी, जिसे मतदान खत्म होने के बाद बंद कर दिया गया. इससे स्थानीय लोगों में काफी रोष है.

स्थानीय लोगों ने बताया कि चुनाव से पहले नल से जो पानी आता था, उससे उनका गुजारा हो जाता था. चुनाव खत्म होते ही पानी की सप्लाई पूरी तरह से ठप कर दी गयी है. इस भीषण गर्मी में लोग पानी के लिए तरस रहे हैं. प्रदूषित पानी पीने को लोग मजबूर हैं.

इस विषय में तृणमूल परिचालित आढ़रा ग्राम पंचायत के सदस्यों का कहना है कि जिस नदी से पानी की सप्लाई की जाती थी, वह सूख गयी है. इसलिए जलापूर्ति बाधित हो रही है. वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है. जल्द ही लोगों को पानी मिलने लगेगा.

कट मनी की वजह से ठेकेदार ने लगाये घटिया पाइप

स्थानीय भाजपा नेताओं का कहना है कि केंद्र सरकार ने नल-जल परियोजना के लिए जो रुपये राज्य सरकार को दिये थे, उसी से घर-घर पानी पहुंचाने का काम किया जा रहा था. इस काम के लिए नियुक्त ठेकेदार से तृणमूल के नेताओं ने इतनी कट मनी ली कि काम पूरा ही नहीं हो पाया.

भाजपा नेताओं ने कहा कि केवल वोट लेने के लिए कुछ दिन पाइप से पानी की सप्लाई की गयी. कट मनी देने के बाद ठेकेदार ने घटिया पाइप लगा दी, जिसका खामियाजा लोगों को भुगतना पड़ रहा है. भाजपा लगातार प्रशासन पर दबाव बना रही है, ताकि लोगों को पानी मिल सके.

काजोड़ा गांव में सड़क जाम

अंडाल के काजोड़ा गांव में पानी की समस्या को लेकर काजोड़ा मोड़ से काजोड़ा बाजार जाने वाली सड़क को शुक्रवार को सुबह नौ बजे से दोपहर एक बजे तक बाधित कर दिया गया. तृणमूल के जिला सचिव मलय चक्रवर्ती ने बताया कि काजोड़ा ग्राम में इसीएल की ओर से टैंकर से पानी की सप्लाई होती थी.

उन्होंने कहा कि इसीएल से जितनी सप्लाई की जाती थी, उससे गांव वालों की जरूरतें पूरी नहीं हो पाती. हमारी मांग है कि इसीएल हर रोज 25 से 30 टैंकर पानी यहां उपलब्ध कराये. पिछले एक महीने से लोगों को जरूरत के मुताबिक पानी नहीं मिल रहा है. इसलिए बाध्य होकर सड़क जाम करना पड़ा.

25 टैंकर पानी की सप्लाई के बाद खत्म हुआ आंदोलन

मलय चक्रवर्ती ने कहा कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होती, सड़क जाम रहेगी. दोपहर एक बजे ग्रामीणों का समूह काजोड़ा एरिया कार्मिक प्रबंधक कार्यालय में प्रबंधन से मिला. ईसीएल के कार्मिक प्रबंधक की मौजूदगी में पानी टैंकर मालिकों से बातचीत हुई. निर्णय हुआ कि फिलहाल 25 टैंकर पानी सप्लाई की जायेगी. जरूरत पड़ने पर इसे बाद में बढ़ा दिया जाएगा. इसके बाद आंदोलन समाप्त हुआ.

Posted By : Mithilesh Jha

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें