18.1 C
Ranchi
Thursday, February 22, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

Homeराज्यपश्चिम-बंगालरामपुरहाट हिंसा मामला : ममता बनर्जी के अल्टीमेटम के बाद हरकत में आई बीरभूम पुलिस, 200 से अधिक बम...

रामपुरहाट हिंसा मामला : ममता बनर्जी के अल्टीमेटम के बाद हरकत में आई बीरभूम पुलिस, 200 से अधिक बम बरामद

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अल्टीमेटम के बाद पुलिस ने गुरुवार को पश्चिम बर्दवान जिले के सालानपुर में भी एक हथियार बनाने वाले कारखाने का भंडाफोड़ किया और काफी मात्रा में अर्ध निर्मित हथियार बरामद किया.

बीरभूम/ पानागढ़ : पश्चिम बंगाल के बीरभूम जिले के रामपुरहाट हिंसा मामले में नाराज मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की अल्टीमेटम के बाद पुलिस हरकत में आ गई है. बीरभूम पुलिस ने जिले में छापेमारी अभियान चलाकर करीब 200 से अधिक बमों को बरामद किया है. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने राज्य की पुलिस को 10 दिनों के अंदर पूरे राज्य से अपराधियों की धर-पकड़ कर हथियार बरामद करने का अल्टीमेटम दिया है. मुख्यमंत्री की झिड़की के बाद शुक्रवार सुबह बीरभूम जिला पुलिस ने 2 ड्रम से करीब 200 से अधिक बम बरामद किया है.

मिली जानकारी के अनुसार, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के अल्टीमेटम के बाद पुलिस ने गुरुवार को पश्चिम बर्दवान जिले के सालानपुर में भी एक हथियार बनाने वाले कारखाने का भंडाफोड़ किया और काफी मात्रा में अर्ध निर्मित हथियार बरामद किया. शुक्रवार को बीरभूम जिले में 2 ड्रम से बमों की बरामदगी के बाद जहां जिला पुलिस सकते में है, वहीं आम आदमी भी इन बमों के मिलने से दहशत में आ गए हैं.

पुलिस ने बताया कि जिले के माड़ग्राम थाना इलाके के छोटन डंगाल के पास झाड़ियों में छिपाकर रखे गए डिफ्यूज कर दिया है. घटना की जानकारी बम निरोधक दस्ते को दे दी गई है. हालांकि, इस घटना में किसी की गिरफ्तारी की सूचना नहीं है, लेकिन गांव के लोगों में इन बमों के मिलने से दहशत व्याप्त हो गया है.

गांव के लोगों का कहना है कि जिले में अभी भी भारी संख्या में बम और बंदूक छिपाकर रखे गए हैं और यह बम और बंदूक जिले में अभी और कितने होंगे इसका अंदाजा लगाना असंभव है. बताया जाता है कि कल बीरभूम दौरे के तहत मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बागतुई गांव के पीड़ित ग्रामीणों से जब बात की और उन्होंने जब ब्लॉक तृणमूल नेता अनारूल हुसैन का नाम लिया तो मुख्यमंत्री भी बिफर गई और उन्होंने मौके पर मौजूद डीजी समेत अन्य पुलिस के आला अधिकारियों की जमकर खिंचाई की और उन्हें सख्त निर्देश दिया.

निर्देश के साथ ही साथ तृणमूल के ब्लॉक नेता अनारूल हुसैन को एक घण्टे के दौरान ही तारापीठ से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया. इस मामले में सीएम रामपुरहाट के थाना प्रभारी, एसडीपीओ को तत्काल सस्पेंड कर दिया. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने राज्य पुलिस के डीजी को सख्त निर्देश दिया कि 10 दिन के भीतर राज्य भर से अवैध हथियार, अस्त्र-शस्त्र बरामद होने चाहिए.

बताया जाता है कि आज जिला पुलिस ने करीब 200 बम को बरामद किया है. हालांकि मुख्यमंत्री के इस 10 दिन के अल्टीमेटम को लेकर जिला भाजपा पार्टी अध्यक्ष ध्रुव साहा का कहना है कि मुख्यमंत्री यह सब दिखावा कर रही है. मुख्यमंत्री जिसे चाहे गिरफ्तार करवा दे जिसे चाहे छुड़वा दें, इस तरह कानून व्यवस्था नहीं चलता है. कानून कानूनी रूप से ही काम करता है.

जिले के बागतुई में जिस तरफ से नरसंहार शासक दल के लोगों ने किया है इसे जनता कभी माफ नहीं करेगी. मुख्यमंत्री चाहे जितना भी मुआवजा दे दे ,भविष्य उन्हें कभी माफ नहीं करेगा. श्री साहा ने कहा कि बीरभूम जिला पहले से ही बम और बारूद के ढेर पर बैठा हुआ है .यहां दो सौ बम बरामद होना कोई बड़ी बात नहीं है .यहां लाखों की तादात में बम और बारूद, अस्त्र शास्त्र शासक दल के लोग छुपा कर रखे हैं.

Also Read: आम आदमी की आमदनी बढ़ाने के लिए बाबा रामदेव ने खोला खजाना, रुचि सोया का एफपीओ लॉन्च

ग्रामीणों का कहना है कि मुख्यमंत्री के इस 10 दिन के अल्टीमेटम का कितना व्यापक असर राज्य भर में पड़ता है यह देखने की बात है ? वास्तविक रूप में अपराध और अपराधी राज्य से पलायन करते हैं कि नहीं यह भी एक बड़ा सवाल है ?

रिपोर्ट : मुकेश तिवारी

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें