1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. asansol
  5. durga puja 2020 asansol prohibits entry into pandals without a mask organizing committees will get relief from single window online permission app smj

Durga Puja 2020 : आसनसोल में बिना मास्क के पंडालों में प्रवेश पर रोक, सिंगल विंडो ऑनलाइन परमिशन एप से आयोजन समितियों को मिलेगी राहत

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Bengal news : सिंगल विंडो ऑनलाइन परमिशन एप समेत दुर्गा पूजा को लेकर जारी गाइडलाइन के बारे में पत्रकारों से बात करते पुलिस आयुक्त सुकेश कुमार जैन.
Bengal news : सिंगल विंडो ऑनलाइन परमिशन एप समेत दुर्गा पूजा को लेकर जारी गाइडलाइन के बारे में पत्रकारों से बात करते पुलिस आयुक्त सुकेश कुमार जैन.
प्रभात खबर.

Durga Puja 2020, Asansol news : आसनसोल : दुर्गा पूजा को लेकर ममता सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन के बाद जिला प्रशासन हर स्तर पर इसे अमलीजामा पहनाने में जुटी है. इसी के तहत साेमवार को कमिश्नरेट में दुर्गापुर आयोजन की अनुमति के लिए पुलिस आयुक्त सुकेश कुमार जैन ने सिंगल विंडो ऑनलाइन परमिशन (Single window online permit) के लिए एप (App) और वेब पेज (Webpage) का उद्घाटन किया. इससे पूजा समितियों को एक साथ कई लाभ मिलेगी, वहीं पूजा के दौरान गाइडलाइन का हर हाल में पालन करने पर जोर दिया गया.

सिंगल विंडो ऑनलाइन परमिशन से पूजा आयोजन के लिए जहां-जहां से अनुमति लेनी होती है, सभी अनुमति अब एक क्लिक पर आयोजन समिति के समक्ष उपलब्ध होगी. पुलिस आयुक्त श्री जैन ने अपने कार्यालय के सम्मेलन कक्ष में आयोजित उद्घाटन समारोह में पत्रकारों को बताया कि आयोजन समिति को किसी प्रकार की अनुमति या अनुमति के लिए पैसे के भुगतान को लेकर अब कहीं भी जाने की जरूरत नहीं होगी. घर बैठे भी ऑनलाइन में सारा कुछ हो जायेगा.

कैसे करेगा सिंगल विंडो ऑनलाइन परमिशन एप काम

अनुमति देने का कार्य सोमवार से ही शुरू हो गया है. इसकी वेब पेज asanadpc.org पर जाकर अपने क्लब या संगठन का नाम, ईमेल आईडी, थाना का नाम, फोन नंबर और पासवर्ड देना होगा. जिसके बाद ओटीपी आयेगा. ओटीपी सबमिट करते ही क्लब या संगठन रजिस्टर हो जायेगा और लॉगइन आईडी मिल जायेगी. इसी आईडी और पासवर्ड के आधार पर सारा कार्य हो जायेगा. मौके पर पुलिस उपायुक्त (मुख्यालय) अंशुमान साहा, पुलिस उपायुक्त (ट्रैफिक) पुष्पा, पुलिस उपायुक्त (सेंट्रल) सायक दास, सहायक पुलिस आयुक्त सौमोजित भट्टाचार्या आदि उपस्थित थे.

गोल घेरे में आगे बढ़ते हुए करना होगा मां के दर्शन, मास्क होगा अनिवार्य

पुलिस आयुक्त श्री जैन ने कहा कि कोरोना के प्रसार को रोकने के लिए इस बार पूजा पंडालों में विशेष व्यवस्था होगी. हरेक पंडाल के समक्ष आयोजन समिति को शारीरिक दूरी को ध्यान में रखते हुए गोल घेरे बनाने होंगे. दर्शनार्थी इसी घेरे में रहकर आगे बढ़ते हुए मां का दर्शन कर निकल जायेंगे. प्रवेश और निकासी की भी सभी को अलग से व्यवस्था करनी होगी. पंडाल पूरी तरह हवादार होनी चाहिए. आयोजन समिति को सैनिटाइजर की व्यवस्था करनी होगी. दर्शनार्थियों के लिए मास्क अनिवार्य होगा. यदि कोई मास्क पहनकर नहीं आता है, तो पुलिस एवं आयोजन समिति उसे मास्क मुहैया करायेंगे. बिना मास्क के पंडाल में प्रवेश निषेध रहेगा. सांस्कृतिक कार्यक्रम में भारी भीड़ उमड़ने के कारण पुलिस आयुक्त ने इन कार्यक्रमों पर रोक लगाने की अपील की है.

तृतीया से खुल जायेंगे पंडालों के द्वार

पुलिस आयुक्त ने कहा कि कमिश्नरेट में तृतीया से पंडालों के द्वार खोलने की अनुमति दी गयी है. एकादशी तक सभी प्रतिमाओं के विसर्जन करने की अंतिम तिथि है. विसर्जन बिल्कुल साधारण तरीके से करना होगा. जिसमें कम से कम लोगों को शामिल करना होगा. जिन पंडालों में किसी विशेष दिन अधिक भीड़ जुटने की संभावना है, तो उसकी सूचना आयोजन समिति को पहले से पुलिस को देनी होगी.

पूजा के दौरान पुलिस के साथ एनसीसी के छात्र रहेंगे तैनात

श्री जैन ने पूजा के दौरान सभी की सुरक्षा को लेकर ट्रैफिक व्यवस्था के साथ सभी इलाकों में पुलिस के अतिरिक्त अधिकारी और कर्मी तैनात रहेंगे. सभी थाना क्षेत्र इलाकों में पांच से दस पुलिस सहायता केंद्र बनाया जाएगा. स्वयंसेवी के रूप में इसबार एनसीसी के छात्रों को टीम में शामिल किया गया है. ट्रैफिक से लेकर भीड़ नियंत्रण में एनसीसी के छात्र पुलिस का सहयोग करेंगे.

महिलाओं के लिए होगी दोहरी सुरक्षा व्यवस्था

श्री जैन ने कहा कि महिलाओं के लिए पूजा में दोहरी सुरक्षा व्यवस्था होगी. उनकी सुरक्षा के लिए हर क्षेत्र में महिला पुलिस की तैनाती रहेगी. इसके अलावा अभया एप भी महिलाओं की सुरक्षा में मददगार रहेगी. उन्होंने जिले की सभी युवतियों और महिलाओं से अपील किया किया कि अभया एप को अपने मोबाइल में लोड कर लें. कहीं भी मुसीबत में फंसने पर 3 बार एसओएस बटन दबाने से ही महिला की लोकेशन के साथ सूचना पुलिस को मिल जायेगी और पुलिस उनकी मदद को पहुंच जायेगी. जिनके पास साधारण मोबाइल फोन है वे हेल्पलाइन नंबर सेव करके रखें.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें