30.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

West Bengal : कांकसा में वर्ज्य प्रबंधन के लिए नवनिर्मित भवन बना नशाखोरी का अड्डा

भवन का बदमाश व नशेड़ी लोग दुरुपयोग कर रहे हैं. यही नहीं, देउल पार्क में पिकनिक मनाने के लिए आनेवाले घुमक्कड़ों में भी कई शराब पीने के लिए इस भवन में आ जाते हैं और देर रात तक यहां मयकशी का दौर चलता है.

पानागढ़, मुकेश तिवारी : पश्चिम बंगाल के पश्चिम बर्दवान के कांकसा ब्लॉक के बनकाठी ग्राम पंचायत के अधीन गौरांगपुर व खेरोबाड़ी के बीच देउल में अजय नदी के तट पर ठोस व तरल वर्ज्य प्रबंधन परियोजना के तहत नवनिर्मित अपशिष्ट संग्रहण केंद्र असामाजिक तत्वों की नशाखोरी का अड्डा बन गया है. बताया गया है कि उक्त परियोजना के तहत करीब एक लाख 57 हजार 835 रुपये खर्च कर यह भवन बनाया गया है. लेकिन इसके दरवाजे पर ताला नहीं होने से भवन का बदमाश व नशेड़ी लोग दुरुपयोग कर रहे हैं. यही नहीं, देउल पार्क में पिकनिक मनाने के लिए आनेवाले घुमक्कड़ों में भी कई शराब पीने के लिए इस भवन में आ जाते हैं और देर रात तक यहां मयकशी का दौर चलता है.

भवन के बाहर से लेकर अंदर तक शराब की बोतलें पड़ी देखी जा सकती हैं. पंचायत योजना के अधीन बना नया भवन बदमाशों की नशाखोरी का अड्डा बन गया है और प्रशासन इससे बेखबर है. इससे स्थानीय लोगों में आक्रोश है. उनकी शिकायत है कि अपशिष्ट संग्रहण केंद्र बनाया तो गया है, लेकिन इसका उपयोग नहीं किया जा रहा है. हालांकि स्थिति का पता चलने पर स्थानीय पंचायत ने मामले की जांच कर कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है.

Also Read: West Bengal :अधीर रंजन चौधरी ने कहा,भाजपा अभिषेक बनर्जी को बंगाल के अगले मुख्यमंत्री के तौर पर कर सकती है पेश

पश्चिम बर्दवान के लोकप्रिय पर्यटन केंद्रों में अजय नदी के किनारे बना देउल पार्क है. वित्त वर्ष 2023-24 में बनकाठी ग्राम पंचायत के अधीन देउल के पिकनिक स्पॉट को कूड़ा-कचरा से मुक्त करने के लिए वर्ज्य प्रबंधन योजना के तहत यह भवन बनाया गया है. लेकिन यह भवन खुला छोड़ दिया गया है, जिससे शाम ढलते ही बदमाश व असामाजिक तत्वों का यहां डेरा लग जाता है और जम कर नशाखोरी की जाती है. इस भवन का कोई रखरखाव भी नहीं किया जा रहा है.

Also Read: पश्चिम बंगाल :तृणमूल नेताओं में बुजुर्ग बनाम नई पीढ़ी पर छिड़ी तकरार,ममता बनर्जी से मिलने पहुंचे अभिषेक बनर्जी

नये वर्ष की शुरुआत से ही यहां दूर-दूर से पर्यटक व घुमक्कड़ आने लगे हैं. क्षेत्र से इकट्ठा किये गये कचरे और गिरी पत्तियों समेत ठोस व तरल अपशिष्ट निपटान संयंत्र में जैविक उर्वरक का उत्पादन करना था. लेकिन इस परियोजना पर काम अभी शुरू नहीं हुआ है. उक्त परियोजना के लिए बना भवन नशेड़ियों व बदमाशों के लिए नशा करने का ठिकाना बन गया है. स्थानीय लोगों की शिकायत है कि शाम ढलते ही भवन के पास से गुजरना मुहाल है. नशे में धुत बदमाश गाली-गलौज करते रहते हैं और किसी भी समय अप्रिय घटना हो सकती है. अलबत्ता, बनकाठी ग्राम पंचायत की प्रधान तबस्सुम खातून ने माना कि उन्हें भवन के दुरुपयोग की शिकायत मिली है. जल्द ही जांच के बाद कार्रवाई की जायेगी.

Also Read: West Bengal :बंगाल में सीटों के बंटवारे पर अधीर रंजन चौधरी का बड़ा बयान,’ममता बनर्जी से सीट की भीख नहीं मांगी’

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें