1. home Hindi News
  2. state
  3. west bengal
  4. asansol
  5. asansol suspended rpf constable chittaranjan rail engine factory remand court police station police remand west bengal

West Bengal : चित्तरंजन रेल इंजन कारखाना का निलंबित आरपीएफ कांस्टेबल पांच दिनों की रिमांड पर

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
चित्तरंजन थाना को निलंबित आरपीएफ मामले में पांच दिनों की रिमांड मिली.
चित्तरंजन थाना को निलंबित आरपीएफ मामले में पांच दिनों की रिमांड मिली.
प्रभात खबर

West Bengal : आसनसोल/रूपनारायणपुर (शिवशंकर ठाकुर) : चित्तरंजन रेल इंजन कारखाना (चिरेका) के निलंबित रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के कांस्टेबल पंकज कुमार को अदालत ने पांच दिनों की पुलिस रिमांड पर चित्तरंजन थाना पुलिस को सौंप दिया. चित्तरंजन इलाके के निवासी कुणाल सिंह की शिकायत पर चित्तरंजन थाना में कांड संख्या 28/2020 में आईपीसी की धारा 341/323/379/307/506 और 25/27 आर्म्स एक्ट के तहत तपन कुमार के साथ राहुल सिंह, सानू यादव, दाम यादव को नामजद आरोपी बनाकर मामला दर्ज किया गया था.

इस मामले में आरोपी तपन कुमार को शनिवार को अदालत में पेश कर जांच अधिकारी ने अन्य अरोपियों की गिरफ्तारी और लूटी गयी सोना की चेन की बरामदगी का हवाला देकर 10 दिनों की पुलिस रिमांड के लिए आवेदन किया. अदालत ने दोनों पक्षों की दलीलें सुनने के बाद आरोपी को पांच दिनों की रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया.

आपको बता दें कि शुक्रवार रात ग्यारह बजे से लेकर भोर तीन बजे तक स्थानीय लोगों ने निलंबित आरपीएफ कर्मी के सहयोगियों की गिरफ्तारी की मांग लेकर चित्तरंजन थाना के समक्ष जमकर हंगामा किया था. चित्तरंजन पुलिस के खिलाफ इलाके में गिरती कानून व्यवस्था को लेकर लगातार नारेबाजी होती रही.

स्ट्रीट नम्बर 31, क्वार्टर नम्बर 20 डी, चित्तरंजन के निवासी राहुल सिंह ने अपनी शिकायत में कहा था कि शुक्रवार रात को उक्त चार आरोपी एक स्कॉर्पियो गाड़ी में सवार थे. 15 नम्बर क्रास रोड के पास इनकी गाड़ी एक गड्ढे में फंस गई. मुसीबत में देखकर मदद के लिए जाने पर पंकज कुमार गाली-गलौज करते हुए अपनी राइफल निकाल ली और कान के पास सटा दिया. गले से तीन भरी की सोने की चेन छीन लिया. इसी बीच राहुल ने पंकज के हाथ से राइफल छीन ली और भाग निकला. इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस ने पंकज को गिरफ्तार किया. पुलिस ने राइफल जब्त कर लिया. रात ग्यारह बजे थाना के समक्ष बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ जुट गई. पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की गयी.

राहुल ने बताया कि पंकज अपने लाइसेंसी गन लेकर इलाके में लोगों पर रौब दिखाता है. चिरेका के एक ठेकेदार के मुंशी को पीटने के बाद वह गिरफ्तार हुआ था. उस दौरान उसकी नौकरी जाने से बची. फिर उसने आरपीएफ के एक अवर निरीक्षक के साथ टाउनपोस्ट कार्यालय में मारपीट की. जिसके बाद वह निलंबित है.

Posted By : Guru Swarup Mishra

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें