34.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

फर्जी क्राइम ब्रांच अधिकारी व धोखाधड़ी के मामले का आरोपी दुर्गापुर से गिरफ्तार

शुक्रवार को आरोपी को दुर्गापुर महकमा अदालत में पेश कर दो दिनों की ट्रांजिट रिमांड पर लेकर पुलिस लखीसराय रवाना हो गयी.

दुर्गापुर. कंप्यूटर सप्लाई के नाम पर वित्तीय धोखाधड़ी के बाद खुद को क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताने वाले आरोपी राकेश कुमार को बिहार के लखीसराय थाने की पुलिस ने दुर्गापुर से गिरफ्तार किया है. शुक्रवार को आरोपी को दुर्गापुर महकमा अदालत में पेश कर दो दिनों की ट्रांजिट रिमांड पर लेकर पुलिस लखीसराय रवाना हो गयी. राकेश कुमार की गिरफ्तारी दुर्गापुर थाने की पुलिस के सहयोग से हो सकी. सूत्रों के मुताबिक 2023 में लखीसराय में राजेश कुमार नामक कारोबारी की कंपनी में कंप्यूटर सप्लाई करने के नाम पर उसी इलाके के राकेश कुमार नामक युवक ने ऑनलाइन पांच लाख रुपये लिये थे. समय पर कंप्यूटर न मिलने पर राजेश कुमार को एहसास हुआ कि उनके साथ धोखा हुआ है. उन्होंने गत वर्ष नवंबर में लखीसराय थाने में धोखाधड़ी की शिकायत दर्ज करायी थी. शिकायत के आधार पर बिहार पुलिस ने जांच शुरू की. मोबाइल लोकेशन ट्रैक के जरिए जालसाज के दुर्गापुर में रहने का पता चला. लखीसराय पुलिस को जांच में पता चला कि राकेश कुमार दुर्गापुर थाने के बेनाचिटी के गोंसाईनगर में अपने ससुराल में छिपा है. लखीसराय पुलिस आरोपी की खोज में दुर्गापुर पहुंची. जहां दुर्गापुर थाने के सहयोग से गोंसाईनगर में अभियान चलाया. पुलिस जब वहां पहुंची तो वह दंग रह गयी. पुलिस को पता चला कि राकेश खुद को क्राइम ब्रांच का बड़ा अधिकारी बताकर दुर्गापुर की एक लड़की के साथ शादी कर उसके ही घर में रहता है. गुरुवार को लखीसराय थाने की पुलिस दुर्गापुर थाने की मदद से राकेश कुमार को पकड़ने गयी तब राकेश इलाके से भागने की कोशिश कर रहा था. पुलिस ने तत्परता दिखाते हुए उसे पकड़ने के लिए पूरे इलाके की घेरा बंदी कर दी. राकेश को इलाके से ही पकड़ लिया गया. शुक्रवार को आरोपी को दुर्गापुर सब-डिविजनल कोर्ट में पेश किया गया. जहां जज ने उसे दो दिनों की ट्रांजिट रिमांड पर ले जाने का आदेश दिया. लखीसराय थाने के इंस्पेक्टर सुनील कुमार ने कहा कि नवंबर 2023 में दर्ज धोखाधड़ी की शिकायत की जांच चल रही थी. उसी जांच के आधार पर आरोपी राकेश कुमार को दुर्गापुर से गिरफ्तार किया गया है. रिमांड के दौरान यह भी पता लगाने के कोशिश रहेगी कि इस गिरोह का नेटवर्क कहां कहां फैला है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें