विश्वभारती विवि कांड:पीड़िता ने एसडीओ से की लिखित शिकायत

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

पानागढ़:विश्व भारती विश्वविद्यालय (शांतिनिकेतन) के कला भवन में अध्ययनरत तथा तीन सहपाठियों द्वारा मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित सिक्किम निवासी छात्र ने बुधवार को बोलपुर महकमा शासक से उत्पीड़न की लिखित शिकायत की है. छात्र बुधवार को एसडीओ कार्यालय अभिभावकों के साथ पहुंची. इधर, घटना को लेकर छात्रों ने विश्वविद्यालय परिसर में सुरक्षा और न्याय की मांग को लेकर बुधवार को भी विरोध प्रदर्शन किया.

कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद अधीर रंजन चौधरी भी विश्वविद्यालय पहुंचे. कुलपति सुशांत दत्त गुप्त के साथ मामले को लेकर उन्होंने अहम बैठक की. इसके बाद वे छात्रों के विरोध प्रदर्शन में भी पहुंचे. पीड़ित छात्र से भेंट कर सारे तथ्यों की जा नकारी ली.

उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय की साख को इस घटना से काफी धक्का लगा है. मामले की जल्द जांच कर अभियुक्त छात्रों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी. उन्होंने कुलपति को मामले में पारदर्शिता बरतने का सुझाव दिया. कुलपति को उन्होंने परामर्श दिया कि वे प्रतिनिधिमंडल को लेकर सिक्किम जायें तथा वहां के छात्र-छात्रओं में विश्वविद्यालय के प्रति आस्था बढ़ायें. इस घटना ने विश्वविद्यालय को दागदार कर दिया है. पुलिस ने गिरफ्तार दो छात्रों को कोर्ट में पेश किया. कोर्ट ने दोनों को पुलिस रिमांड में भेज दिया.

गौरतलब है कि शांति निकेतन में कला भवन के प्रथम वर्ष तथा इसी विभाग के टेक्सटाइल संकाय की तृतीय वर्ष की छात्र से विश्वविद्यालय के छात्रों द्वारा यौन उत्पीड़न का मामला उजागर हुआ था. पीड़ित छात्र व उसके पिता बुधवार को बोलपुर पहुंचे. एसडीपीओ के साथ तीन घंटे बातचीत करने के बाद पीड़िता के पिता ने तीन छात्रों के विरुद्ध लिखित शिकायत बोलपुर थाने में दर्ज करायी. मालूम हो कि गुरुवार को बोलपुर की अदालत में पीड़िता सीआरपीसी के तहत अपना बयान दर्ज करायेगी.

आरोपी छात्रों को नहीं बख्शेंगे:पार्थ

कोलकाता:राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने यादवपुर यूनिवर्सिटी की घटना पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि राज्य सरकार इस घटना के आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी. विश्वविद्यालय में लड़कों के छात्रवास में एक लड़की से छेड़छाड़ की कोशिश करने के आरोपी विद्यार्थियों को छोड़ा नहीं जायेगा. श्री चटर्जी ने बुधवार को संवाददाताओं से कहा कि उन्होंने मंगलवार को ही विश्वविद्यालय के कुलपति से जरूरी कदम उठाने को कहा था और उन्होंने आवश्यक प्रक्रिया शुरू होने की जानकारी दी है. उन्होंने कहा कि पुलिस को कड़े कदम उठाने का निर्देश दिया गया है और इस घटना में शामिल किसी आरोपी को नहीं छोड़ा जायेगा. विश्वविद्यालय के रजिस्ट्रार डॉ प्रदीप कुमार घोष ने बताया कि विश्वविद्यालय की आंतरिक यौन उत्पीड़न जांच समिति शिकायत का अध्ययन कर रही है. स्नातक द्वितीय वर्ष की एक छात्र ने पुलिस में शिकायत दर्ज करायी थी कि उसके छह सहपाठियों ने 28 अगस्त को लड़कों के एक हॉस्टल के कमरे में उसके साथ छेड़छाड़ का प्रयास किया.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें