सीइओ हत्याकांड: उद्योग जगत को मुख्यमंत्री ने कड़ी कार्रवाई का दिया भरोसा अब तक छह गिरफ्तार

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

हुगली: हुगली जिले के भद्रेश्वर स्थित नॉर्थ ब्रूक जूट मिल के सीइओ एचके महेश्वरी की हत्या के सिलसिले में मिल के छह कर्मचारियों को गिरफ्तार किया गया है. सोमवार को सभी आरोपियों को चंदननगर अदालत में पेश किया गया. अदालत ने पांच आरोपियों को पांच दिनों के लिए पुलिस हिरासत में जबकि एक को न्यायिक हिरासत में भेजा दिया.

वारदात के सिलसिले में अब तक मोहम्मद असलम, मुकुंद गुप्ता, रवींद्र चौबे, स्वपन सिंह, मोहम्मद अजहरूद्दीन व विकास तांती को गिरफ्तार किया गया है. आइपीसी की धारा 302, 120बी, 307, 326,147 के तहत मामले दर्ज किये गये हैं. मिल प्रबंधन ने कुल 12 लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी है. पुलिस अधीक्षक सुनील कुमार चौधरी ने बताया कि छह आरोपी गिरफ्तार किये जा चुके हैं. बाकी आरोपी भी जल्द पुलिस की गिरफ्त में होंगे. उन्होंने बताया कि कुछ और लोगों को भी गिरफ्तार किया जायेगा क्योंकि प्राथमिकी में 200 अज्ञात लोगों का भी उल्लेख है, जो इस हत्या के लिए जिम्मेदार हैं.

गौरतलब है कि रविवार सुबह भद्रेश्वर स्थित नॉर्थ ब्रूक जूट मिल के सीइओ एचके महेश्वरी(60) की मिल के आक्रोशित श्रमिकों ने पीट पीट कर हत्या कर दी थी. बताया जा रहा है कि सीइओ ने साप्ताहिक कार्य के घंटों में विस्तार की श्रमिकों की मांग ठुकरा दी थी. श्रमिकों ने अधिक मेहनताना पाने के लिए कार्य के घंटे बढ़ाने की मांग की थी.

परिजनों से की मुलाकात
सोमवार शाम तृणमूल कांग्रेस के जिलाध्यक्ष तपन दास गुप्ता, विधायक मुज्जफ्फर खान, चांपदानी नगरपालिका के चेयरमैन सुरेश मिश्र, स्थानीय तृणमूल नेता कमला कांत, तारक सिंह, अनिल मिश्र सहित कई लोगों ने माहेश्वरी के परिजनों से मुलाकात कर उन्हें ढांढस बंधाया. विधायक मुज्जफ्फर खान ने बताया कि सोमवार को यह मामला विधानसभा में भी उठाया गया है. खुद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस घटना को अपने संज्ञान में लिया है. पूरी घटना एक साजिश के तहत रची गयी है. भारतीय मजदूर संघ व सीटू ने इस घटना को अंजाम दिया है. विधायक ने आरोप लगाया कि राज्य सरकार को बदनाम करने की यह कोशिश है.

वहीं तपन दास गुप्ता ने घटना पर दुख जताते हुए कहा कि इस दुख की घड़ी में हम सभी मृतक के परिवार के साथ हैं. उनकी दोनों बेटियां पायल और अंजलि के अलावा दोनों दामाद व छोटा भाई डॉ पीके माहेश्वरी यहां पहुंच चुके हैं. बेटा मयंक माहेश्वरी सोमवार रात तक शिकागो से यहां पहुंचेंगे. उन्होंने इस घटना के पीछे सीटू व बीएमएस का हाथ बताया है. उन्होंने कहा कि जांच में सभी बातों का खुलासा हो जायेगा कि आखिर इस हत्या के पीछे किसकी साजिश है. उन्होंने कहा कि भाजपा यहां अपना प्रतिनिधि दल भेजना चाहती है. यह महज एक नाटक है. मिल की बदहाली के लिए वर्तमान व पूर्व केंद्र सरकार जिम्मेवार है.

आज होगा अंतिम संस्कार
सीइओ एचके माहेश्वरी का अंतिम संस्कार मंगलवार सुबह आठ बजे भद्रेश्वर के बाबू घाट में किया जायेगा. इसके पूर्व सुबह 7.30 बजे उनके पार्थिव शरीर को मिल परिसर में अंतिम दर्शन के लिए रखा जायेगा.

ट्रेड यूनियन के नाम पर हिंसा बरदाश्त नहीं : ममता
मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को नॉर्थ ब्रूक जूट मिल के सीइओ एचके माहेश्वरी की हत्या की जांच सीबीआइ से कराने की मांग खारिज करते हुए कहा कि राज्य सरकार ट्रेड यूनियन के नाम पर हिंसा बरदाश्त नहीं करेगी. ममता ने कहा कि वह उद्योगपतियों को आश्वस्त करना चाहती हैं कि दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जायेगी. दोषियों को सख्त सजा मिलेगी. ममता सोमवार को विधानसभा में अपना बयान रख रही थीं. मुख्यमंत्री ने रायदीघी में चार तृणमूल समर्थकों की हत्या व नॉर्थ ब्रूक जूट मिल के श्रमिकों की पिटाई से सीइओ एचके माहेश्वरी की मौत की घटना को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताया.

उन्होंने कहा कि वित्त मंत्री अमित मित्र ने जूट मिल के मालिक से बातचीत की है. उन्होंने माहेश्वरी के परिवार के साथ भी बातचीत की है. उन्होंने कहा कि वाम मोरचा के शासनकाल से हिंसात्मक घटनाएं चल रही हैं, लेकिन उनकी सरकार इसे बरदाश्त नहीं करेगी. उन्होंने मीडिया पर निशाना साधते हुए कहा कि गलत सूचनाएं फैलायी जा रही हैं. उन्होंने इस संबंध में पुलिस महानिदेशक और गृह सचिव से बातचीत की है. उनकी सरकार श्रमिकों के हितों के पक्ष में हैं तथा किसी भी समस्या का समाधान शांतिपूर्ण ढंग से करने की पक्षधर है. मुख्यमंत्री ने कहा कि माकपा से संबद्ध ट्रेड यूनियन सीटू व भाजपा की ट्रेड यूनियन बीएमएस के सदस्य बातचीत करने गये थे. वहीं, ईंट से हमला कर माहेश्वरी को मार दिया गया. उन्होंने साफ कहा कि इस घटना के पीछे माकपा व भाजपा की साजिश है. सांप्रदायिक ताकतें राज्य में अशांति पैदा करने की कोशिश कर रही हैं. इसे सफल होने नहीं दिया जायेगा.

    Share Via :
    Published Date
    Comments (0)
    metype

    संबंधित खबरें

    अन्य खबरें