25.3 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

हाथरस भगदड़ की सीबीआई से हो जांच, इलाहाबाद हाईकोर्ट में याचिका दाखिल

Hathras Stampede: उत्तर प्रदेश पुलिस ने हाथरस में सत्संग आयोजित करने वाले भोले बाबा की तलाश में जुट गई है. पुलिस ने मैनपुरी जिले के राम कुटीर चैरिटेबल ट्रस्ट में तलाशी अभियान चलाया, जहां भगदड़ में कई लोगों की जान चली गई थी.

Hathras Stampede: उत्तर प्रदेश के हाथरस में सत्संग के दौरान हुई भगदड़ का मामला अब इलाहाबाद हाईकोर्ट पहुंच गया है. हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर कर भगदड़ की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) से कराने की मांग की गई है. समाचार एजेंसी एएनआई की रिपोर्ट के अनुसार, हाथरस के भगदड़ में अब तक करीब 121 लोगों की जान जा चुकी है और करीब 28 से अधिक लोग घायल हैं. इस मामले की सीबीआई जांच को लेकर एडवोकेट गौरव द्विवेदी ने हाईकोर्ट में याचिका दाखिल की है. गौरव द्विवेदी खुद इलाहाबाद हाईकोर्ट के वकील हैं.

Hathras Stampede में 121 लोगों की चली गई जान, 28 घायल

समाचार एजेंसी एएनआई की ओर से राहत आयुक्त कार्यालय के बयान के आधार पर दी गई रिपोर्ट के अनुसार, हाथरस भगदड़ में करीब 121 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 28 घायल हैं. 28 घायलों में से छह लोगों का अलीगढ़ के जवाहरलाल नेहरू मेडिकल कॉलेज में इलाज चल रहा है. वहीं, छह लोग अलीगढ़ के दीन दयाल अस्पताल में भर्ती हैं और नौ लोगों का इलाज हाथरस के बागला अस्पताल में चल रहा है.

आयोजक को तलाश रही है यूपी पुलिस

इससे पहले बुधवार को उत्तर प्रदेश पुलिस ने हाथरस में सत्संग आयोजित करने वाले भोले बाबा की तलाश में जुट गई है. पुलिस ने मैनपुरी जिले के राम कुटीर चैरिटेबल ट्रस्ट में तलाशी अभियान चलाया, जहां भगदड़ में कई लोगों की जान चली गई थी. हालांकि, पुलिस ने बताया कि उनका पता नहीं चल पाया है. जिले के डिप्टी एसपी सुनील कुमार ने कहा कि हमें कैंपस के अंदर बाबा जी नहीं मिले. वे यहां नहीं हैं.

सीएम योगी ने Hathras Stampede की गहन जांच का दिया भरोसा

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को कहा कि इस घटना की गहन जांच की जाएगी, ताकि यह पता लगाया जा सके कि यह दुर्घटना या साजिश थी. सीएम योगी ने इस बात की पुष्टि की है कि राज्य सरकार हाथरस की घटना के पीछे की सच्चाई को उजागर करने के लिए प्रतिबद्ध है. उन्होंने कहा कि ऐसी घटना पर संवेदना व्यक्त करने के बजाय राजनीति करना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण और निंदनीय है. सरकार इस मामले में पहले से ही संवेदनशील है और सरकार इस मामले की तह तक जाएगी कि यह दुर्घटना है या साजिश, और इस घटना के लिए जिम्मेदार सभी लोगों को उचित सजा देगी.

और पढ़ें: Kamala Harris बन सकती हैं अमेरिका की राष्ट्रपति, जो बाइडेन डिमेंशिया के शिकार

आगरा के एडिशनल डीजी की अध्यक्षता में टीम गठित

मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि हाथरस भगदड़ की गहन जांच के लिए एडिशनल डीजी आगरा की अध्यक्षता में एक टीम बनाई गई है. इसे विस्तृत रिपोर्ट देने का काम सौंपा गया है. इससे पहले बुधवार को फोरेंसिक टीम डॉग स्क्वायड के साथ जांच के तहत साक्ष्य जुटाने के लिए हाथरस में घटनास्थल पर पहुंची.

और पढ़ें: Hathras Satsang: अजीज की डेड बॉडी का इंतजार कर रहे 116 परिवार, बर्फ की सिल्ली पर पड़े हैं लोग

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें