21.1 C
Ranchi
Sunday, March 3, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

कन्नौज में पुलिस टीम पर हमले में घायल सिपाही की मौत, बदमाश और उसका बेटा एनकाउंटर में घायल, जानें पूरा मामला

छिबरामऊ कोतवाल जितेंद्र सिंह और विशुनगढ़ थानाध्यक्ष पारुल चौधरी पुलिस टीम के साथ सोमवार की शाम आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उसके गांव पहुंचे. वहां आरोपी ने पुलिस टीम को घर के पास देखते ही फायरिंग शुरू कर दी. आरोपी की ओर से कई राउंड फायरिंग की. इस फायरिंग में सिपाही की जांघ में गोली लगी.

Kannauj News: उत्तर प्रदेश के कन्नौज जनपद में बदमाश को गिरफ्तार करने गई पुलिस टीम पर हमले में घायल सिपाही की मौत हो गई है. कानपुर में इलाज कर रहे सिपाही सचिन राठी की इलाज के दौरान मौत हो गई. कन्नौज पुलिस की टीम विशुनगढ़ थाना क्षेत्र के धरनीधीरपुर नगरिया गांव में एक हिस्ट्रीशीटर की गिरफ्तारी के लिए पहुंची थी. इसी दौरान उसने पुलिस टीम पर हमला कर दिया, जिससे विशुनगढ़ थाने का सिपाही सचिन राठी गोली लगने से गंभीर रूप से घायल हो गया. पुलिस टीम ने उसे इलाज के लिए कानपुर भर्ती कराया, जहां इलाज के दौरान सचिन की मौत हो गई. इस घटना से परिजन बेहद गमगीन हैं. उनके आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. उधर इस घटना के बाद पुलिस से मुठभेड़ में हिस्ट्रीशीटर और उसका बेटा भी जख्मी हो गया. वहीं पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर की पूर्व प्रधान पत्नी को गिरफ्तार किया है. कानून व्यवस्था के मद्देनजर मौके पर पुलिस की टीम को तैनात किया गया है.

जमानत के बाद से फरार चल रहा था हिस्ट्रीशीटर

उत्तर प्रदेश में कन्नौज की इस घटना को लेकर पुलिस अधीक्षक अमित कुमार आनंद ने घटना को लेकर बताया कि विशुनगढ़ थाना क्षेत्र के गांव धरनीधीरपुर नगरिया निवासी अशोक उर्फ मुनुआ उर्फ मुन्ना पुत्र रामनरेश यादव के खिलाफ वर्ष 2009 में छिबरामऊ कोतवाली में एनडीपीएस एक्ट के तहत एफआईआर दर्ज कराई गई थी. इस प्रकरण में आरोपी की जमानत हो गई थी. इसके बाद से वह फरार चल रहा था. इस पर कोर्ट की ओर से उसके खिलाफ वारंट जारी किया गया. इसी के मद्देनजर छिबरामऊ कोतवाल जितेंद्र सिंह और विशुनगढ़ थानाध्यक्ष पारुल चौधरी पुलिस टीम के साथ सोमवार की शाम करीब पांच बजे आरोपी की गिरफ्तारी के लिए उसके गांव पहुंचे. वहां आरोपी ने पुलिस टीम को घर के पास देखते ही फायरिंग शुरू कर दी.

Also Read: लखनऊ में केशव नगर के पास कबाड़ मंडी में भीषण आग से लाखों का सामान जलकर खाक, दमकल की टीम ने पाया काबू
अचानक हुई फायरिंग के बाद कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंंची

अचानक हुए इस हमले के बाद पुलिस टीम ने मोर्चा संभाला. वहीं गुरसहायगंज, सौरिख, तालग्राम, सकरावा थानों की पुलिस और दो पलाटून पीएसी को मौके पर बुलाया गया. इस बीच आरोपी की ओर से कई राउंड फायरिंग की. इस फायरिंग में विशुनगढ़ थाने में तैनात सिपाही सचिन राठी की जांघ में गोली लगी. गोली लगने से सचिन राठी गंभीर रूप से जख्मी हो गया. आनन फानन में पुलिस टीम उसे उन्नाव के छिबरामऊ अस्पताल लेकर पहुंची, जहां हालात नाजुक देखते हुए उसे कानपुर रेफर कर दिया गया. कानपुर में इलाज के दौरान मंगलवार सुबह सिपाही की मौत हो गई.

अंधेरा होने पर भागने की कोशिश

वहीं अंधेरा होने पर आरोपी अशोक ने पुलिस को भटकाने का प्रयास किया. वह अपनी पत्नी श्यामा देवी और बेटे अभय यादव उर्फ टिंकू के साथ फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश करने लगा. इस पर पुलिस टीम ने घेराबंदी करते हुए घर से करीब 20 मीटर दूरी पर मुठभेड़ के बाद तीनों को गिरफ्तार कर लिया. बदमाश की फायरिंग के जवाब में पुलिस की फायरिंग में हिस्ट्रीशीटर अशोक उर्फ मुनुआ और उसके बेटे टिंकू के पैर में गोली लगी है. घायल हालत में दोनों को छिबरामऊ अस्पताल में भर्ती कराया गया. दोनों को प्राथमिक इलाज के बाद गंभीर स्थिति में राजकीय मेडिकल कॉलेज तिर्वा रेफर कर किया गया. इस घटना को लेकर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. उधर घायल सिपाही की मौत के बाद पुलिस महकमे में भी शोक की लहर है. पुलिस अधिकारियों ने घायल सिपाही के परिजनों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें