27.5 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

रामपुर: जौहर शोध संस्थान सील, आजम के ट्रस्ट को 100 रुपये सालाना पर मिली थी बिल्डिंग, जानें कार्रवाई की वजह…

रामपुर: जौहर प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान के भवन को सील कर दिया गया है. योगी सरकार में बीते दिनों हुई कैबिनेट की बैठक में शर्तों के उल्लंघन के आधार पर लीज निरस्त कर दी गई थी. इसके बाद अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ने जौहर प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान की जमीन और भवन पर सरकारी कब्जा लेने का आदेश किया था.

Lucknow: समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खान को एक और झटका लगा है. रामपुर जिला प्रशासन ने बड़ी कार्रवाई करते हुए जौहर प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान के भवन को सील कर दिया है. इसमें रामपुर पब्लिक स्कूल (आरपीएस) का संचालन किया जा रहा था. स्कूल की प्रधानाचार्य का आरोप है कि बच्चों की परीक्षा और नोटिस अवधि खत्म होने से पहले भवन को सील कर दिया गया है. वहीं भवन को अब जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी की सुपुर्दगी में दे दिया गया है.

33 साल के लिए लीज पर दी गई थी बिल्डिंग

इस प्रकरण के मुताबिक समाजवादी पार्टी की सरकार में जौहर संस्थान की बिल्डिंग मोहम्मद अली जौहर ट्रस्ट को 100 रुपये के वार्षिक शुल्क पर 33 साल के लिए लीज पर दी गई थी. तब तय हुआ था कि लीज की अवधि 33-33 साल के लिए दो बार बढ़ाई जा सकती है. सपा नेता आजम खान ट्रस्ट के आजीवन अध्यक्ष हैं.

लीज की शर्तों पर बाद में किया गया बदलाव

लीज के समय इस जमीन पर मौलाना मोहम्मद अली जौहर प्रशिक्षण व शोध संस्थान के संचालन की योजना बताई गई थी. कहा गया था कि संस्थान अरबी-फारसी की पढ़ाई के साथ शोध कार्य कराएगा. बाद में इस शर्त में बदलाव करते हुए उच्च शिक्षा के स्थान पर सभी विषयों में प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा शब्द जुड़वा दिया गया था. इसके बाद शोध संस्थान की बिल्डिंग में रामपुर पब्लिक स्कूल का संचालन किया जा रहा था.

Also Read: समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा-सरकार सभी धर्मों के त्योहार के लिये दे 10 करोड़ रुपये
योगी कैबिनेट ने लीज को किया निरस्त

योगी सरकार में बीते दिनों हुई कैबिनेट की बैठक में शर्तों के उल्लंघन के आधार पर लीज निरस्त कर दी गई. इसके बाद अल्पसंख्यक कल्याण विभाग ने जौहर प्रशिक्षण एवं शोध संस्थान की जमीन और भवन पर सरकारी कब्जा लेने का आदेश किया था. इसके बाद रामपुर के जिलाधिकारी रविंद्र कुमार मांदड़ ने एडीएम (प्रशासन) लालता प्रसाद शाक्य की अध्यक्षता चार सदस्यीय कमेटी का गठन किया. कमेटी में एसडीएम सदर, जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी और सीओ सिटी को शामिल किया गया.

इस मामले में जिला अल्पसंख्यक कल्याण अधिकारी की ओर से जौहर ट्रस्ट को नोटिस जारी कर 15 दिन के अंदर बिल्डिंग को खाली करने का निर्देश दिया गया था. वहीं अब एडीएम (प्रशासन) लालता प्रसाद शाक्य और एसडीएम सदर निरंकार सिंह के नेतृत्व में राजस्व विभाग की टीम ने बिल्डिंग को सील कर दिया.

प्रधानाचार्य ने लगाए आरोप

रामपुर पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्य हिना मुजद्दी का कहना है कि बच्चों की परीक्षा अभी समाप्त नहीं हुई है. जो नोटिस जारी किया गया था, उसमें 18 मार्च तक का समय दिया गया था. नोटिस की अवधि के पूरा हुए बिना ही बिल्डिंग को सील कर दिया गया. इससे 1600 बच्चों का भविष्य अधर में लटक गया है.

शासन के आदेश का हवाला देकर सील की गई बिल्डिंग

जिलाधिकारी के मुताबिक जौहर शोध संस्थान की बिल्डिंग को लेकर शासन स्तर से जो निर्देश प्राप्त हुए थे, उसके मुताबिक कार्रवाई की गई है. इसको लेकर पहले नोटिस भी जारी किया गया था. रामपुर पब्लिक स्कूल के बच्चों की परीक्षा समाप्त हो चुकी है. बच्चे दूसरे स्कूल में दाखिला ले सकते हैं.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें