38.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Ayodhya: अभेद्य हुई अयोध्या की सुरक्षा व्यवस्था, एटीएस, एसटीएफ और एंटी ड्रोन सिस्टम तैनात

22 जनवरी को श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पहले अयोध्या की सुरक्षा व्यवस्था को अभेद्य बना दिया गया है. एटीएस, एसटीएफ और पुलिस बल की भारी भरकम फोर्स तैनात की गई है. सीसीटीवी, एआई और एंटी ड्रोन से रामनगरी के चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही है.

लखनऊ: अयोध्या में श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से पहले सुरक्षा व्यवस्था को फुल प्रूफ बना दिया गया है. एटीएस, एसटीएफ, पीएसी, यूपीएसएसएफ सहित यूपी पुलिस तैनाती की गई है. एआई, एंटी ड्रोन, सीसीटीवी कैमरों से भी चप्पे-चप्पे पर नजर रखी जा रही है. सरयू नदी और घाटों पर एनडीआरएफ की टुकड़ी को तैनात किया गया है. अयोध्या में मेहमानों की सुरक्षा के लिए बार कोडिंग का इस्तेमाल भी किया जा रहा है.

अयोध्या आईजी प्रवीण कुमार ने बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के मद्देनजर अयोध्या में भारी पुलिस बल की तैनाती की गई है. अयोध्या को सुरक्षा की दृष्टि से रेड और यलो दो जोन में बांटा गया है. केंद्रीय एजेंसी में सीआरपीएफ, एनडीआरएफ भी तैनात की गई है. इंटेलिजेंस ब्यूरो और रॉ का भी सहयोग लिया जा रहा है. अयोध्या में प्रदेश के विभिन्न जिलों के 100 से अधिक डीएसपी, लगभग 325 इंस्पेक्टर व 800 उपनिरीक्षकों को तैनात किया गया है. मुख्य समारोह से पहले पुलिस और अर्धसैनिक बलों के 11 हजार जवान तैनात किए जाएंगे.

Also Read: UP Breaking News Live: सीएम योगी रविवार को अयोध्या में लता मंगेशकर चौक से करेंगे सफाई अभियान का शुभारंभ
वीआईपी सुरक्षा के लिए विशेष व्यवस्था

वीआईपी सुरक्षा के लिए तीन डीआईजी, 17 एसपी, 40 एएसपी, 82 डीएसपी, 90 इंस्पेक्टर के साथ एक हजार से ज्यादा कांस्टेबल और 4 कंपनी पीएसी को तैनात किया गया है. आईजी ने बताया कि कार्यक्रम को देखते हुए और फोर्स को बढ़ाया जा रहा है. किसी भी स्थिति में चूक की कोई गुंजाइश न रहे इसके लिए सुरक्षा कार्य में लगी सभी एजेंसियों के बीच बेहतर समन्वय पर भी फोकस किया जा रहा है.

चाक-चौबंद रेल सुरक्षा के लिए भी विशेष इंतजाम किए गए हैं. जीआरपी को पर्याप्त संख्या में अतिरिक्त सुरक्षाबल दिए गए हैं. राम नगरी में तैनात फोर्स को श्रद्धालुओं और मेहमानों के साथ व्यवहार को लेकर बिहेवियर ट्रेनिंग दी जा रही है. श्रद्धालुओं को दर्शनीय स्थलों की जानकारी देने के लिए 250 पुलिस गाइड की तैनाती की गई है. इसके अलावा 14 जनवरी को डिजिटल टूरिस्ट एप को लांच किया जाएगा.

Also Read: UP Weather Update: यूपी में ठंड से धूप ने दी राहत, कल छाया रहेगा घना कोहरा, जाने कैसा रहेगा मौसम
फेस रिकॉग्निशन सिस्टम भी लगा

अयोध्या की सुरक्षा को अभेद्य बनाने के लिए लेटेस्ट टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया जा रहा है. नगर निगम के आईटीएमएस, पुलिस के माध्यम से सीसीटीवी, कंट्रोल रूम एवं पब्लिक सीसीटीवी के माध्यम से पूरे शहर की निगरानी की जा रही है. इसके लिए पब्लिक सीसीटीवी के 1500 कैमरों को आईटीएमएस से इंटीग्रेट किया गया है. यलो जोन में 10,715 स्थानों पर फेस रिकॉग्निशन एआई आधारित बड़ी स्क्रीन आईटीएसमएस से इंटीग्रेट की गई हैं. ओएफसी लिंक कैमरों की व्यवस्था की गई है. पूरी सुरक्षा व्यवस्था में ‘एआई तकनीक का भरपूर इस्तेमाल किया जा रहा है.

12 एंटी ड्रोन सिस्टम लगे

एंटी ड्रोन सिस्टम पूरी तरह से सक्रिय मोड पर है. एंटी ड्रोन सिस्टम के माध्यम से अति संवेदनशील अयोध्या के रेड और यलो जोन को सुरक्षित किया गया है. इस सिस्टम के माध्यम से 5 किलोमीटर की परिधि में उड़ने वाले किसी भी ड्रोन को लोकेट किया जा सकेगा. यह एंटी ड्रोन सिस्टम इजराइल की कंपनी द्वारा निर्मित विश्व का आधुनिकतम तकनीक वाला है. इसके माध्यम से किसी भी ड्रोन को निष्क्रिय किया जा सकता है. पूरे धाम को 12 एंटी ड्रोन सिस्टम से लैस किया गया है. इसके माध्यम से जल, थल और नभ में चल रही सारी गतिविधियों को देखा जा सकता है. कार्यक्रम के दौरान वीआईपी की सुरक्षा और उन्हें कोई परेशानी न हो, इसके लिए बार कोड का इस्तेमाल किया जा रहा है.

Also Read: श्री राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा 10 दिन शेष: रामलला के साथ भरत, लक्ष्मण, शत्रुघ्न की भी होगी उपासना

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें