25.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

Ram Mandir: अयोध्या में प्राण प्रतिष्ठा के दिन होगा दीपोत्सव और आतिशबाजी, लखनऊ में पटाखों की लगेंगी दुकानें

राम मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा समारोह के दिन सरयू घाट पर दीपोत्सव व भव्य आतिशबाजी का आयोजन किया जाएगा. साथ ही शाम को यहां के हर घर, घाट व मंदिरों में दीपोत्सव जैसा कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. लखनऊ में पटाखों की दुकानों के लिए अनुमति मिल गई है.

अयोध्या में राम मंदिर का प्राण प्रतिष्ठा समारोह को अब ग्यारह दिन शेष रह गए हैं. इस समारोह को भव्य बनाने के लिए योगी सरकार जोर-शोर से लगी हुई है. इसी क्रम में प्राण प्रतिष्ठा के दिन सरयू घाट पर दीपोत्सव व भव्य आतिशबाजी का आयोजन किया जाएगा. साथ ही शाम को यहां के हर घर, घाट व मंदिरों में दीपोत्सव जैसा कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा. सूचना विभाग की तरफ से 50 अतिरिक्त स्क्रीन/डिजिटल बोर्ड की व्यवस्था किया जाएगा ताकि इसके माध्यम से प्राण प्रतिष्ठा समारोह का सजीव प्रसारण किया जा सकेगा. आयुक्त गौरव दयाल ने प्राण-प्रतिष्ठा से जुड़े आयोजन को लेकर शासन से मिले निर्देशों के बाद जानकारी दी. उन्होंने बताया कि कार्यालयों में 14 से 21 जनवरी के मध्य विशेष सफाई अभियान एवं प्लास्टिक व गंदगी की सफाई करके परिसर को स्वच्छ एवं सुंदर रखा जाएगा. सभी कार्यालयों में विशेष प्रकाश व्यवस्था रहेगी. 22 जनवरी के लिए लोगों को प्रेरित कर घर-घर एवं संस्थानों में ज्योति जलाई जाएगी. आयुक्त के मुताबिक कार्यक्रम के दिन अयोध्या में चिकित्सा व्यवस्था भी बेहतर रखी जाएगी. शहर के मुख्य मार्ग रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट से मंदिर मार्ग आदि को विशेष सफाई करते हुये धूल एवं गंदगी मुक्त रखने का निर्देश दिया गया है. सिंचाई विभाग द्वारा 1.37 किमी. तक नदी पर बैरियर बनाया जाय तथा राम की पैड़ी पर भी सफाई व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी.

Also Read: Ayodhya Ram Mandir: प्राण प्रतिष्ठा समारोह में शामिल होंगे इन पीठों के शंकराचार्य, जानें क्यों है हंगामा
श्रद्धालुओं के लिए यह होगी व्यवस्था

बता दें कि स्वच्छतम अयोध्या के लिए कुम्भ मेला की भांति स्थापित शौचालयों की नगर विकास सफाई व्यवस्था कराए जाएंगे. 50 मुख्य स्थानों पर पेयजल/वाटर कूलर की व्यवस्था रहेगी. साथ ही लोगों को रास्ते बताने के लिए 250 पुलिस गाइड को भी तैनात किया जाएगा. डिजिटल टूरिस्ट एप दिनांक 14 जनवरी 2024 को लांच करने की कार्यवाही पूरी हो जाएगी. बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट एवं पार्किंग स्थल तथा शहर के महत्वपूर्ण स्थलों पर हेल्प डेस्क और खोया पाया केन्द्र स्थापित किया जाएगा. यातायात व्यवस्था को सुगम बनाने हेतु व्यापक मोनिटरिंग की जा रही. प्रमुख मार्गों पर साइन बोर्ड लगाया जा रहा है, जिससे आम लोगों को निश्चित स्थान पर पहुंचने में कोई दिक्कत न हों.

मंदिरों में होगा देव कीर्तन का आयोजन

प्रदेश के सभी देव मंदिर में 14 से 22 जनवरी तक राम कीर्तन का आयोजन किया जाएगा. मण्डलायुक्त ने राजस्व, पुलिस, शिक्षा, परिवहन, पर्यटन, चिकित्सा, सूचना, संस्कृति आदि विभाग के स्थानीय अधिकारियों एवं मण्डलीय अधिकारियों से अपने अपने विभाग से सम्बंधित कार्यो को समय से पूरा करने हेतु शासनादेश के अनुसार कार्य करने तथा मण्डलायुक्त कार्यालय में रिपोर्ट देने को कहा है. वहीं सूचना विभाग द्वारा शहर एवं ग्रामीण क्षेत्रों में एलईडी वाहन जो चल रही है, इसके अलावा लगभग 50 स्थानों पर स्थापित करने की कार्ययोजना है, उसे भी जल्द से जल्द पूरा करने हेतु निर्देश दिया गया है.

Also Read: Ayodhya: राजा दशरथ की समाधि स्थल का कायाकल्प, शनि देव से जुड़ी है यहां की मान्यता
लखनऊ में बिकेंगे पटाखे

बता दें कि प्राण प्रतिष्ठा पर लखनऊ में दिवाली की तरह पटाखों की बिक्री की अनुमति मिल गई है. तय हुआ है कि पटाखा दुकानों की संख्या बेहद सीमित रहेंगी. अनुमानित संख्या 200 हो सकती है. पटाखा बिक्री करने के इच्छुक दुकानदार जेसीपी कानून-व्यवस्था के कार्यालय से 12 से 14 जनवरी तक आवेदन फार्म ले सकते हैं. इन आवेदन फार्म को जमा करने की तारीख 12 से 15 जनवरी रखी गई है. इसके बाद तय होगा कि कितनी और किन स्थानों पर पटाखा दुकानें लगायी जा सकेंगी. बता दें कि फायर वर्क्स डीलर्स वेलफेयर एसोसिएशन ने जेसीपी कानून-व्यवस्था उपेन्द्र कुमार अग्रवाल से मुलाकात कर पटाखा बिक्री के लिए लाइसेंस देने को कहा था. उनका कहना था कि इस दिन लोग आतिशबाजी करेंगे. इसके लिये पटाखा बेचने के लिए नियमानुसार अनुमति दी जाए. जेसीपी के मुताबिक एसोसिएशन के अनुरोध पर तय किया गया है कि उनके डालीगंज पुल (नक्षत्रशाला के पास) के निकट स्थित कार्यालय से तीन दिन तक आवेदन फार्म मिलेंगे और चार दिन तक इन्हें जमा किया जा सकेगा.

Also Read: जानिए सबसे पहले किसने बनवाया था राम मंदिर? इस राजा ने की थी अयोध्या की खोज
पटाखों की तीन दिन होगी बिक्री

जेसीपी ने बताया कि पटाखा कितने दिन बिक सकेंगे, इस पर अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है. एसोसिएशन ने 20 से 22 जनवरी यानी तीन दिन तक पटाखा बिक्री की अनुमति मांगी है. आवेदन की संख्या के आधार पर तय किया जाएगा कि कितने दिन पटाखा बेचने की अनुमति दी जाए. हालांकि कम से कम दो दिन बिक्री की अनुमति अवश्य रहेगी. इसे आवेदन की संख्या को देखकर एक दिन बढ़ाया जा सकता है. एसोसिएशन ने जेसीपी से कहा है कि 200 से ज्यादा लोग आवेदन नहीं करेंगे. यह संख्या इससे कम भी हो सकती है. अगर इतने ही आवेदन आते हैं तो लगभग इन सभी आवेदकों को पटाखा बिक्री का लाइसेंस दे दिया जाएगा. दिवाली पर पटाखा दुकानों को लगाने के जो मानक होते हैं, वहीं मानक इसमें भी लागू होंगे.

  • आवेदन फार्म मिलने की तिथि- 12 से 14 जनवरी

  • आवेदन फार्म जमा करने की तिथि- 12 से 15 जनवरी

  • फार्म मिलने का स्थान- जेसीपी कानून-व्यवस्था का डालीगंज स्थित कार्यालय

  • पटाखा दुकानें लगने की तिथि- 20-21 जनवरी, इसे 22 जनवरी तक भी बढ़ाया जा सकता है.

  • आवेदन कैसे करें- फार्म भरकर कार्यालय में जमा करें.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें