21.1 C
Ranchi
Thursday, February 29, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

अयोध्या राम मंदिर: एक सप्ताह में तैयार हो जाएंगी रामलला की तीनों मूर्तियां, ट्रस्ट एक पर लगाएगा अपनी मुहर

भगवान राम के पांच वर्षीय बाल रूप को दर्शाने वाली 4 फीट 3 इंच की मूर्ति का निर्माण अयोध्या में तीन स्थानों पर किया जा रहा है. तीन कारीगर इसका निर्माण कर रहे हैं. तीन अलग-अलग पत्थरों पर मूर्तियों में से एक का चयन किया जाएगा. ये मूर्तियां 90 प्रतिशत तैयार हैं, सिर्फ फिनिशिंग का काम बचा है.

Ayodhya News: रामनगरी अयोध्या में रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर तैयारियों को तेजी से अंतिम रूप दिया जा रहा है. प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम को लेकर मेहमानों को निमंत्रण कार्ड भेजे जा रहे हैं. इसके अलावा अन्य कार्यक्रमों को लेकर भी लोगों को जिम्मेदारी सौंप दी गई है. योगी सरकार ने भी रामलला के प्राण प्रतिष्ठा को भव्य मनाने की तैयारी की है. यूपी सरकार पर्यटन एवं संस्कृति विभाग सोशल मीडिया पर इसके प्रचार प्रसार के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का बढ़ावा देगा. इस बीच रामलला की प्रतिमा एक सप्ताह में पूरी तरह से तैयार हो जाएगी. इस प्रतिमा में रामलला बालस्वरूप में नजर आएंगे और उनका आभामंडल बेहद आकर्षित करने वाला होगा. अपने आराध्य की प्रतिमा के भाव देखकर लोगों को रामायणकाल में होने का एहसास होगा. देश के तीन चुनिंदा मूर्तिकार रामनगरी के ही रामसेवकपुरम में रामलला की तीन प्रतिमाएं तैयार कर रहे हैं, जो लगभग पूरी हो गई हैं, केवल फिनिशिंग का काम बचा है. इनमें से श्रेष्ठतम कृति को राम मंदिर में स्थापित करने के लिए चयनित किया जाएगा.

50 देशों के प्रतिनिधियों को बुलाने की तैयारी

श्री रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि राम जन्मभूमि मंदिर में भगवान राम के पांच वर्षीय बाल रूप को दर्शाने वाली 4 फीट 3 इंच की मूर्ति का निर्माण अयोध्या में तीन स्थानों पर किया जा रहा है. तीन कारीगर इसका निर्माण कर रहे हैं. तीन अलग-अलग पत्थरों पर मूर्तियों में से एक का चयन किया जाएगा. ये मूर्तियां 90 प्रतिशत तैयार हैं. सिर्फ फिनिशिंग का काम बचा है, लगभग एक सप्ताह में मूर्तियां पूरी तरह से तैयार हो जाएंगी. इसके बाद इनमें से सर्वश्रेष्ठ मूर्ति को गर्भगृह में स्थापित किया जाएगा. मंदिर का भूतल लगभग तैयार है. इसलिए प्राण प्रतिष्ठा में कोई समस्या नहीं होगी. प्राण प्रतिष्ठा समारोह में कम से कम 4000 साधु-संतों को आमंत्रित किया जा रहा है. इसकी सूची तैयार है. उन्होंने कहा कि यह भी सुनिश्चित किया जा रहा है कि 50 देशों से एक-एक प्रतिनिधि भी आएं.

Also Read: राम मंदिर के लोकार्पण से पहले अयोध्या एयरपोर्ट से उड़ानें होंगी शुरू, ज्योतिरादित्य सिंधिया ने बताई खासियत
तीनों मूर्तियों को खास तरह से किया गया तैयार

रामलला की स्थापना के लिए जो तीन मूर्तियां तैयार की गई हैं. उनमें से एक सफेद संगमरमर की है. रामसेवकपुरम में राजस्थान के मकराना संगमरमर से प्रख्यात मूर्तिकार सत्यनारायण पांडेय ने रामलला की मूर्ति बनाई है. इसके साथ ही रामलला की दो अन्य मूर्तियां भी निर्मित की गई हैं. यह दोनों मूर्तियां कर्नाटक की तुंगभद्रा नदी के किनारे की पहाड़ी से लाई गईं शिलाओं से निर्मित की गई हैं. यह शास्त्रों में वर्णित श्रीराम के श्याम अथवा कृष्ण वर्ण के अनुरूप हैं.

पांच वर्ष के बालक के रूप में नजर आएंगे रामलला

रामलला की मूर्ति पांच वर्षीय बालक की मुख-मुद्रा के अनुरूप आकार ले रही है. इसमें बाल सुलभ कोमलता संयोजित की जाएगी. निर्दोष अनासक्ति होगी, तो सत्य के सापेक्ष संकल्प की दृढ़ता का भी समायोजन होगा. मुख पर स्मित हास्य होगा, तो हाथ में धनुष भी होगा. खड़ी मुद्रा में निर्मित की जा रही मूर्ति चार फीट तीन इंच ऊंची है. वहीं पैडस्टल की ऊंचाई को मिला कर रामलला की ऊंचाई आठ फीट सात इंच की होगी.

बाबरी विध्वंस की बरसी पर अयोध्या में चाक चौबंद सुरक्षा इंतजाम

अयोध्या में खुफिया इनपुट के बाद बुधवार को पुलिस बेहद सतर्कता बरत रही है. 6 दिसंबर को विवादित ढांचा ध्वस्त किए जाने के मद्देनजर इस दिन को लेकर पुलिस बेहद अलर्ट रहती है. अगले वर्ष 22 जनवरी को रामला की प्राण प्रतिष्ठा समारोह को लेकर इस बार और ज्यादा सतर्कता बरती जा रही है. इसे लेकर अयोध्या में राम मंदिर के आसपास भारी फोर्स की तैनाती की गई है. वरिष्ठ अधिकारी लगातार निरीक्षण कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि खुफिया एजेंसियों को कुछ लोगों के माहौल बिगाड़ने की कोशिश करने का इनपुट मिला है. इसलिए बेहद सतर्कता बरती जा रही है.

रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित कई वीवीआईपी शामिल होंगे. कई देशों के प्रतिनिधि भी आयोजन के लिए आमंत्रित किए गए हैं. चार संतों को निमंत्रण पत्र भेजा जा रहा है. ऐसे में पुलिस अयोध्या में सुरक्षा को लेकर अभी से बेहद सतर्कता बरत रही है. पिछले दिनों दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने आईएसआई के ‘आईएसआईएस’ स्लीपर सेल मॉड्यूल का खुलासा करते हुए यूपी और दिल्ली से आतंकियों को को गिरफ्तार किया था, उनसे पूछताछ में इस बात का खुलासा हुआ था कि उन्हें अक्षरधाम मंदिर और राम मंदिर पर हमले का टास्क दिया गया था. ये इनपुट यूपी पुलिस से भी शेयर किया गए थे. इसके मद्देनजर यूपी पुलिस बेहद अलर्ट है.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें