31.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

अलीगढ़ में 32 साल से फरार हत्या का इनामी आरोपी गिरफ्तार, होली पर परिवार से मिलने आने पर पुलिस ने दबोचा

अलीगढ़ में 32 वर्षों से फरार इनामी हत्या की आरोपी की गिरफ्तारी कर अभूतपूर्व कार्रवाई की है. अभियुक्त ने 32 वर्ष पूर्व थाना गभाना क्षेत्र में दोहरे हत्याकाण्ड को अंजाम दिया था.

अलीगढ़. उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ में हत्या के मामले में 32 वर्षों से फरार 25 हजार रुपये का इनामी हत्या के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है. SSP अलीगढ़ कलानिधि नैथानी की टीम ने 19 वर्ष, 11 वर्ष, 10 वर्ष, 13 वर्ष, 30 वर्ष से फरार अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद अब 32 वर्षों से फरार इनामी हत्या की आरोपी की गिरफ्तारी कर अभूतपूर्व कार्रवाई की है. अभियुक्त ने 32 वर्ष पूर्व थाना गभाना क्षेत्र में दोहरे हत्याकाण्ड को अंजाम दिया था.

पुलिस ने की कार्रवाई

अभियुक्त रामेश्वर द्वारा वर्ष 1991 में थाना गभाना क्षेत्र के जंगल ग्राम रायपुर में हथियार से मारकर हत्या कर दी गई थी, जिसके सम्बन्ध में थाना गभाना पर मुकमदा अपराध संख्या 22/1991 धारा 302 भारतीय दंड विधान पंजीकृत होकर साक्ष्य के आधार पर अभियुक्त को जेल भेजा गया था . जमानत पर बाहर आने के बाद फरार हो गया था. इस प्रकरण में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी द्वारा टीमें गठित कर फरार अभियुक्तों की गिरफ्तारी के कड़े निर्देश जारी किये गये थे.

जांच में जुटी पुलिस

जिसके क्रम में पुलिस अधीक्षक नगर कुलदीप सिंह गुनावत के नेतृत्व व क्षेत्राधिकारी गभाना सुमन कनोजिया के पर्यवेक्षण में स्वाट टीम व गठित टीमों को नेतृत्व प्रदान करते हुए कड़ी सुरागरसी व कई दिनों की अथक मेहनत, इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस आदि के आधार पर 32 साल से फरार अभियुक्त को गिरफ्तार किया गया. अभियुक्त अपना घर छोड़कर पहचान छुपाकर दिल्ली में राजमिस्त्री का कार्य करता था. जो अपने परिवार वालों से कोई संपर्क नहीं रख रहा था. अब होली पर चोरी छिपे अपने परिवार वालों से मिलने आया था, जिसे मुखविर की सूचना पर खैर सोमना रोड से गिरफ्तार किया गया.

Also Read: बरेली में जंगली बैल पर धारदार हथियार से हमला, तड़प-तड़प कर तोड़ा दम, जानें फिर क्या हुआ…
नाम छुपाकर रहता था दिल्ली में

इस मामले में क्षेत्राधिकारी गभाना सुमन कनौजिया ने बताया कि 1 अप्रैल 1991 को रायपुर के जंगल में रामपाल और हरदयाल की हत्या कर दी गई थी. जिस संदर्भ में अमरपाल सिंह ने थाना गभाना में मुकदमा दर्ज कराया था. इसमें थाना गोंडा के रामेश्वर सहित तीन आरोपियों के नाम प्रकाश में आए थे. रामेश्वर को गिरफ्तार कर पुलिस ने जेल भेज दिया था. वहीं जमानत पर रिहा होने के बाद रामेश्वर फरार हो गया था. पुलिस की टीम लगातार रामेश्वर की तलाश में जुटी थी. वहीं होली के मौके पर मिलने आया रामेश्वर को मुखबिर की सूचना पर दबोच लिया. रामेश्वर ने स्वीकार किया कि वह अपनी पहचान छुपाकर लंबे समय से दिल्ली में रह रहा था. रामेश्वर को सोमना-खैर रोड से पुलिस टीम ने गिरफ्तार किया.

आलोक-अलीगढ़

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें