33.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Trending Tags:

मंडलायुक्त – डीएम पहुंचे औद्योगिक क्षेत्र, सड़क से लेकर अतिक्रमण तक की समस्या सामने मिली, शिकायतें मिलीं

आगरा. आगरा में मंडलायुक्त रितु माहेश्वरी और जिलाधिकारी भानु चंद गोस्वामी द्वारा शुक्रवार को औद्योगिक क्षेत्र सिकंदरा और केंद्रीय पादुका प्रशिक्षण संस्थान का निरीक्षण किया गया. इस दौरान मंडल आयुक्त को गंदगी और टूटी हुई सड़क दिखाई दी. जिसको लेकर उन्होंने अधिकारियों को इन्हें सही करने के निर्देश दिए.

आगरा : मंडलायुक्त रितु माहेश्वरी और जिलाधिकारी भानु चंद गोस्वामी द्वारा शुक्रवार को औद्योगिक क्षेत्र सिकंदरा और केंद्रीय पादुका प्रशिक्षण संस्थान का निरीक्षण किया गया. इस दौरान मंडल आयुक्त को गंदगी और टूटी हुई सड़क दिखाई दी. जिसको लेकर उन्होंने अधिकारियों को इन्हें सही करने के निर्देश दिए. जब मंडलायुक्त सिकंदरा स्थित यूपीएसआईडीसी साइट सी में पहुंची, तो निरीक्षण के दौरान उद्यमियों ने उन्हें बताया कि यहां पर टुकड़ों में सड़क बनाई गई है. मंडल आयुक्त ने जल निगम के अभियंता से जब इस बारे में जानकारी ली तो उनका कहना था कि सड़क बनाने के बाद सीवर लाइन के लिए सड़कों को खोदा गया. उसके बाद फिर से सड़क बनाई गई. मंडल आयुक्त ने सड़क की गुणवत्ता की जांच को लेकर नगर आयुक्त को निर्देश दिए हैं. सिकंदरा औद्योगिक क्षेत्र साइट ए में राष्ट्रीय राजमार्ग के सर्विस रोड से जुड़ने वाली (बीच वाली रोड) रोड़ किनारे नाला गंदगी और कूड़ा कचरे से भरा हुआ था, आगे निकासी की कोई व्यवस्था न होने के कारण पूरा नाल चौक था. व्यापारियों ने बताया कि नाला चौक होने के कारण अक्सर यहां पर जल भराव की समस्या हो जाती है. साइट ए क्षेत्र में ही कई जगह कच्ची रोड थी, तो अप्रोच रोड़ पर सीमेंट-बालू विक्रेताओं ने खुली सड़क पर ही माल डालकर कब्जा कर रखा था. मंडलायुक्त ने अवैध कब्जे को रोकने के लिए पार्क के चारों ओर फेंसिंग लगाने एवं सुदृढ़ीकरण करने के निर्देश दिए.

Also Read: UP Board Date Sheet 2024 : यूपी बोर्ड जल्द जारी करेगा हाईस्कूल – इंटर की समय सारिणी, ऐसे डाउनलोड करें टाइमटेबल
अतिक्रमण, स्ट्रीट लाइट की समस्या मंडलायुक्त के सामने रखी

सीएफटीआई में मंडलायुक्त ने वहां कुल प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे बच्चों के बारे में, उनकी प्लेसमेंट प्रोसेस, संस्थान में चलने वाले विभिन्न आउटरीच प्रोग्राम के बारे में जानकारी प्राप्त की. प्रशिक्षार्थी के सापेक्ष प्लेसमेंट की स्थिति में सुधार के निर्देश दिए. सीएफटीआइ के द्वारा अभिनव प्रयोग कर बनाए गए पादुका दस्तकार हेतु 1 लाख 35 हजार की लागत से बने ई- रिक्शा के प्रेजेंटेशन को देखा. सभागार में उद्यमियों के साथ बैठक की, बैठक में उद्यमियों ने सड़क मरम्मत, पाथ वे की समस्या को रखा, तथा औद्योगिक क्षेत्र में ड्रेनेज सिस्टम, जल भराव, नालों की सफाई, पार्कों के सौंदर्यीकरण, कूड़े हेतु डलावघर, तथा साइट ए तथा बी में विद्युत की सुचारू आपूर्ति हेतु सब स्टेशन की स्थापना, अतिक्रमण, स्ट्रीट लाइट आदि की समस्या को मंडलायुक्त तथा जिलाधिकारी के समक्ष रखा गया.

मंडलायुक्त ने यूपीसीडा के अधिकारियों को तलब किया

मंडलायुक्त ने यूपीसीडा के अधिकारियों को तलब किया, उनके द्वारा बताया गया कि यूपीसीडा द्वारा प्रकाश व्यवस्था हेतु स्ट्रीट लाइट का कार्य साइट सी में पूर्ण तथा साइट ए. व बी. में कार्य प्रगति पर है. 15 दिसंबर तक कार्य पूर्ण करने तथा झुके व टूटे खंभों को भी बदलने के निर्देश दिए. उद्यमियों ने स्ट्रीट लाइट को संतुष्टिजनक बताया लेकिन पेड़ों की वजह से पर्याप्त प्रकाश न होने की शिकायत पर नगर निगम को पेड़ों की प्रूनिंग करने के निर्देश दिए, उद्यमियों ने बताया कि साइट ए व बी में विद्युत आपूर्ति की प्रमुख समस्या है एक विद्युत सब स्टेशन की स्थापना ही समस्या का हल है.

मंडलायुक्त ने यूपीसीडा से सब स्टेशन हेतु भूमि चिह्नित करने को निर्देशित किया तथा डीवीवीएनएल को स्टेशन स्थापना के निर्देश दिए. बैठक में उद्यमियों द्वारा ड्रेनेज सिस्टम, नालों का ओवरफ्लो,जलभराव की • प्रमुख समस्या को समस्या रखा, मंडलायुक्त महोदया द्वारा नगर निगम को ड्रेनेज हेतु अध्ययन कर प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए, बैठक में जल निगम द्वारा सीवर लाइन का कार्य पूर्ण करने, जहां खुदाई की है उसे रीस्टोर करने तथा आगे के कार्य हेतु नगरनिगम के समन्वय से कार्य के कड़े निर्देश दिए, मंडलायुक्त ने कड़ी चेतावनी दी कि कहीं भी सड़क खुदाई कर छोड़ देने की शिकायत पर कठोर कार्यवाही की जाएगी.

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें