1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. vinod kumar yadav of chandauli filed nomination in presidential election nrj

महादेव के 'आदेश' पर राष्‍ट्रपत‍ि चुनाव में चंदौली के विनोद यादव ने किया नामांकन, जीत के लिए बनाई रणनीत‍ि

चंदौली जिले के इलिया क्षेत्र के कलानी गांव निवासी विनोद कुमार यादव ने सोमवार को दिल्ली में राष्ट्रपति के चुनाव के लिए पर्चा दाखिल कर ही दिया. नामांकन करने के बाद उन्होंने फोन पर कहा कि सपने में नंदी पर सवार होकर आए महादेव ने आदेश दिया था कि राष्ट्रपति का चुनाव लड़ो. उनके आदेश को कैसे टाल सकता था.

By Prabhat Khabar Digital Desk, Varanasi
Updated Date
चंदौली के विनोद कुमार यादव (मध्‍य में) राष्‍ट्रपत‍ि चुनाव के लिए नामांकन करने कुछ यूं पहुंचे.
चंदौली के विनोद कुमार यादव (मध्‍य में) राष्‍ट्रपत‍ि चुनाव के लिए नामांकन करने कुछ यूं पहुंचे.
Prabhat Khabar

President Election: भारत के राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज हो गई हैं. ऐसे में पिछले दिनों चंदौली के विनोद कुमार यादव की ओर से राष्ट्रपति पद की उम्मीदवारी को लेकर चर्चा में आने के बाद से मामला और भी दिलचस्प हो गया है. आखिरकार, चंदौली जिले के इलिया क्षेत्र के कलानी गांव निवासी विनोद कुमार यादव ने सोमवार को दिल्ली में राष्ट्रपति के चुनाव के लिए पर्चा दाखिल कर ही दिया. नामांकन करने के बाद उन्होंने फोन पर कहा कि सपने में नंदी पर सवार होकर आए महादेव ने आदेश दिया था कि राष्ट्रपति का चुनाव लड़ो. उनके आदेश को भला कैसे टाल सकता था.

'अडिग' ने कभी न मानी हार

विनोद कुमार यादव के इस वाकये को देखकर नरेंद्र नाथ दुबे उर्फ 'अडिग' की याद आ जाती है. पेशे से वकील, हास्य कवि, जीवन को ठेठ बनारसी अंदाज में जीने वाले नरेंद्र नाथ दुबे 'अडिग' का निधन हो चुका है. मगर वे भी पिछले 38 बरसों से पार्षद से लेकर राष्ट्रपति चुनाव तक के लिए दांव लगाये थे. भले ही उन्हें एक भी चुनाव में सफलता न मिली हो. मगर उनके भी हौसले विनोद कुमार यादव की ही तरह कभी भी हार से डगमगाए नहीं थे. उन्होंने 2014 के लोकसभा चुनाव में एक लेटर बॉक्स के चुनाव चिन्ह पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ भी चुनाव लड़ा था. हालांकि, वह हर बार अपनी जमानत जब्त कराते हुए सभी चुनाव हार गए. विनोद भी अपनी अडिगता का परिचय नरेंद्र नाथ दुबे उर्फ 'अडिग की ही तरह दे रहे हैं.

दिल्‍ली से लौटकर बनाई रणनीत‍ि

10वीं तक की पढ़ाई करने वाले विनोद कुमार यादव ने 2005-06 से चुनाव लड़ना शुरू किया था. बीडीसी, ग्राम प्रधान, जिला पंचायत सदस्य, विधानसभा और लोकसभा सबका चुनाव लड़ा. हालांकि, उन्‍हें किसी भी चुनाव में जीत नहीं मिली. मगर इस बार उन्होंने कहा कि महादेव खुद सपने में आए और बोले कि राष्ट्रपति का भी चुनाव लड़ो तो उनकी आज्ञा का पालन करते हुए वह इस चुनाव में लड़ रहे हैं. विनोद का कहना है कि देश के केंद्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह के गांव के बगल में उनका गांव है. वह नामांकन कर चुके हैं. अब वापस गांव लौट रहे हैं. इसके बाद वह देशभर के सांसदों-विधायकों का समर्थन जुटा कर राष्ट्रपति का चुनाव जीतकर अपने चंदौली जिले का नाम रोशन करेंगे.

रिपोर्ट : विप‍िन स‍िंह

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

googleplayiosstore
Follow us on Social Media
  • Facebookicon
  • Twitter
  • Instgram
  • youtube

संबंधित खबरें

Share Via :
Published Date

अन्य खबरें