1. home Home
  2. state
  3. up
  4. manish gupta murder case sit reached gorakhpur invesigation up police news avh

Manish Murder Case: जांच के सिलसिले में गोरखपुर पहुंची SIT, 6 घंटे तक होटल जांच के बाद कही ये बात

कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने बताया कि मनीष हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी टीम का गठन किया गया है. टीम गोरखपुर पहुंच चुकी है. एसआईटी के प्रमुख एडिशनल पुलिस कमिश्नर आनंद कुमार तिवारी हैं

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Manish Murder Case
Manish Murder Case
Prabhat Khabar

गोरखपुर हत्याकांड मामले में एसआईटी की टीम रामगढ़ताल थाने के समीप स्थित होटल कृष्णा पैलेस पहुंची. कानपुर के प्रॉपर्टी डीलर मनीष गुप्ता मौत कांड में गोरखपुर से कानपुर केस ट्रांसफर होने के 24 घंटे के भीतर ही एसआईटी टीम पहुंची. यह टीम शाम 4 बजे गोरखपुर में रामगढ़ताल थाने के समीप स्थित होटल कृष्णा पैलेस पहुंची, जहां मनीष गुप्ता की मौत हुई थी. भारी पुलिस फोर्स के साथ पहुंची एसआईटी टीम ने सबसे पहले होटल से ही घटना से संबंधित साक्ष्य जुटाने में लगी है.

कानपुर के पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने बताया कि मनीष हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी टीम का गठन किया गया है. टीम गोरखपुर पहुंच चुकी है. एसआईटी के प्रमुख एडिशनल पुलिस कमिश्नर आनंद कुमार तिवारी हैं, जबकि डीसीपी साउथ रवीना त्यागी भी टीम की सदस्यों में शामिल हैं. इसके अलावा गोरखपुर पहुंचने वाली टीम में कानपुर एडिशनल डीसीपी साउथ रवीना त्यागी को भी सदस्य चुना गया है. एडिशनल डीसीपी वेस्ट बृजेश कुमार श्रीवास्तव इस हत्याकांड के मुख्य विवेचना अधिकारी हैं. इसके अलावा इंस्पेक्टर रैंक के दो पुलिस अधिकारी भी इस मामले के सह विवेचक हैं.

एसआईटी टीम प्रभारी आनंद प्रकाश त्रिपाठी ने प्रभात खबर को बताया कि पुलिस मुख्यालय के आदेश के बाद एसआईटी की टीम कानपुर से गोरखपुर पहुंची. उन्होंने बताया कि पुलिस मुख्यालय के आदेश अनुसार हम आज गोरखपुर पहुंचे हैं और हमें उस जगह पर निरीक्षण करना है जहां पर यह घटना हुई थी. हमारी टीम के लोगों ने लगभग 5 से 6 घंटे तक वैज्ञानिक ढंग से निरीक्षण किया है. साथ ही कमरे के भीतर और बाहर, लिफ्ट में और सीढ़ियों पर हमने निरीक्षण किया है.़

त्रिपाठी ने बताया कि अगले कुछ दिनों तक हम अपनी जांच करते रहेंगे. हमारी कोशिश एक स्वच्छ निष्पक्ष और पारदर्शी और एक बेहतर जांच करके जो कुछ भी न्याय संगत है. वह शासन के मनसा के अनुसार न्याय संगत किया जाएगा. हम सभी बिंदुओं को समाहित करेंगे जो भी वैज्ञानिक पद्धति से जांच करनी थी हमने वह जांच की है.

बताते चलें कि प्रॉपटी डीलर मनीष गुप्ता मर्डर केस की जांच के लिए सरकार ने सीबीआई को संस्तुति की है. वहीं जब तक सीबीआई की टीम इसे हैंडल नहीं करती है, तब तक मामले की जांच एसआईटी की ओर से की जाएगी.cnb

इनपुट : अभिषेक पांडेय

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें