1. home Hindi News
  2. state
  3. up
  4. coronavirus in up corona daughter pleads from california save my moter pita toh nhi rahe maa ko bacha lo amh

Coronavirus In UP : कैलिफोर्निया से बेटी ने लगाई गुहार, पिता नहीं रहे, मां की जान बचा लो प्लीज…

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
Coronavirus In UP
Coronavirus In UP
pti
  • कानपुर में रह रही मां की जान बचा लेने की गुहार

  • पिता स्वास्थ्य विभाग की कुव्यवस्था के कारण अपनी जान गंवा बैठे

  • कैलिफोर्निया से बेटी ने लगाई गुहार

Coronavirus In UP : कोरोना का तांडव देश में जारी है. जो लोग देश से दूर है वे अपनों के लिए परेशान हैं. उन्हें यह चिंता सता रही है कि कहीं कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में उनके अपनों को कुछ हो ना जाए. ऐसी ही एक खबर कैलिफोर्निया से आ रही है जहां एक बेटी ने अपनी यूपी के कानपुर में रह रही मां की जान बचा लेने की गुहार लगाने का काम किया है.

दुर्भाग्य से उनके कोरोना संक्रमित पिता स्वास्थ्य विभाग की कुव्यवस्था के कारण अपनी जान गंवा बैठे हैं. इस घटना से व्यथित बेटी अब अपनी मां को लेकर परेशान है. बताया जा रहा है कि मूलरूप से हिमाचल प्रदेश की रहने वाले दंपति पिछले कुछ समय से कानपुर के नौबस्ता इलाके में ठहरे हुए थे.

दंपति की बेटी मंजू कैलीफोर्निया में रहती हैं जो साफ्टवेयर इंजीनियर हैं. बेटी की शादी हो चुकी है और पति भी साथ ही कैलिफोर्निया में रहते हैं. शादी के बाद इनकी मां और पिता भारत में अकेले पड़ गए थे. मां और पिता दोनों को कोरोना संक्रमण के लक्षण नजर आने के बाद 9 अप्रैल को जब जांच हुई तो दोनों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई.

दो दिन में ही माता-पिता की हालत बिगड़ने लगी तो कैलिफोर्निया में बेटी मंजू परेशान हो उठी. उन्होंने सोशल साइट के माध्यम से कई ग्रुपों से संपर्क साधा. खबरों की मानें तो वह खुद यहां नहीं आ सकती थीं क्योंकि उनके छोटे बेटे की भी वहां तबीयत ठीक नहीं थी. वह सांस की समस्या को लेकर बेटे का इलाज कराने में लगी हुई है.

इस बीच उनका कानपुर के एक ब्लड डोनर ग्रुप पीजीएसएस से उनकी बातचीत शुरू हुई. व्हाट्सएप के जरिए बेटी ने मदद की गुहार लगाई. युवाओं का कुछ ग्रुप आगे आया जिसने उनके पिता को किसी तरह हैलट अस्पताल में भर्ती कराने का काम किया.

बताया जा रहा है कि मंजू ने व्हाट्सएप के जरिए बताया कि 14 को पिता भर्ती हुए तो रेमडेसिविर की जरूरत थी. हैलट में इसकी व्यवस्था नहीं हो पाई और 15 अप्रैल को पिता ने दम तोड दिया. इसी बीच मां की तबीयत बिगड़ी तो मंजू ने गुहार लगाई कि किसी तरह मां की जान बचाई जा सके तो बचा लो…युवाओं के इसी ग्रुप ने महापौर और उनके बेटे अमित की मदद से रामा मेडिकल कॉलेज के लिए सीएमओ का रेफरल लेटर बनवाया और वहां भर्ती कराने का काम किया.

यह बात सुनकर शायद आपकी आंखों में आंसू आ जाए कि जीवन और मौत से संघर्ष कर रहीं मंजू की मां को यह तक पता नहीं है कि उनके पति उसे छोडकर इस दुनिया से चले गये हैं. मंजू चाहती हैं कि किसी तरह मां की जान बच जाए.

Posted By : Amitabh Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें