1. home Home
  2. state
  3. up
  4. cm yogi adityanath visited autonomous state medical college in firozabad met children who admitted due to viral fever and dengue up news acy

सीएम योगी पहुंचे फिरोजाबाद, डेंगू और वायरल फीवर से पीड़ित बच्चों से की मुलाकात, अधिकारियों को दिए सख्त निर्देश

सीएम योगी ने फिरोजाबाद पहुंचकर मेडिकल कॉलेज का दौरा किया. इस दौरान उन्होंने वायरल फीवर और डेंगू के कारण भर्ती बच्चों से मुलाकात की और उनका हालचाल जाना.

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
cm yogi reached firozabad
cm yogi reached firozabad
twitter

CM Yogi in Firozabad: उत्तर प्रदेश के फिरोजाबाद जिले में वायरल फीवर और डेंगू (Viral Fever and Dengue in Firozabad) का कहर बढ़ता जा रहा है. इससे अब तक 46 बच्चों की मौत हो चुकी है. मुख्ममंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) इसे लेकर बेहद गंभीर हैं. इसी सिलसिले में वे सोमवार को खुद फिरोजाबाद पहुंचे और राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय (Autonomous State Medical College) का निरीक्षण किया. इस दौरान मुख्यमंत्री मरीजों से मिलकर उनका हाल-चाल जाना और अधिकारियों को बेहतर चिकित्सकीय सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए निर्देशित किया.

तय की जाएगी जवाबदेही

सीएम योगी ने कहा, यहां पर डेंगू के संदिग्ध मामले पाए गए हैं. तेजी के साथ यहां के 8-9 मोहल्लों में संदिग्ध डेंगू के मामले देखने को मिले. अब तक लभगभ 32 बच्चों और 7 व्यस्कों की मृत्यु हुई है. उन्होंने कहा, हम जानना चाहते हैं कि क्या ये सब मामले डेंगू के हैं या फिर कोई और मामले हैं, इसके लिए हम जांच करा रहे हैं. शासन स्तर पर अगर किसी से कोई लापरवाही हुई है तो उसकी जवाबदेही भी तय की जाएगी.

सात दिन में 50 बच्चों की मौत

सीएम योगी ने वायरल बुखार और डेंगू से हुई बच्चों की मौत की जानकारी होने के बाद दुख जाहिर किया. उन्होंने जिलाधिकारी को बीमार बच्चों के बेहतर उपचार कराने के निर्देश दिए. स्वास्थ्य विभाग की रिपोर्ट के अनुसार, पिछले सात दिनों में आगरा, फिरोजाबाद, मथुरा, मैनपुरी, एटा और कासगंज जिलों में लगभग 50 मौतें हुई हैं, जिसकी वजह तेज बुखार, डिहाइड्रेशन और प्लेटलेट काउंट में अचानक आई गिरावट है. इसमें चौंकाने वाले आंकड़े ये भी हैं कि मरने वाले 50 लोगों में से 26 बच्चे थे.

जानलेवा हो रहा वायरल फीवर

वायरल फीवर के अचानक बढ़ने से यह जानलेवा हो रहा है. इस बीमारी से उबरने में लोगों को 12 दिन से ज्यादा का समय लग रहा है. बीमारी के बढ़ने से अस्पतालों में बेडों की संख्या में कमी हो गई है. हाल की रिपोर्टों के मुताबिक, पूर्वी यूपी में गोंडा, बस्ती, देवरिया, बलिया, आजमगढ़, सुल्तानपुर, जौनपुर और गाजीपुर में मामले सामने आए हैं, लेकिन इससे सबसे अधिक प्रभावित हिस्सा पश्चिमी यूपी है.

Posted by: Achyut Kumar

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें