24.1 C
Ranchi
Saturday, March 2, 2024

BREAKING NEWS

Trending Tags:

अयोध्या राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा 22 जनवरी को, जानें मंदिर निर्माण से जुड़ी अहम बातें

अयोध्या राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होने वाली है. इस समारोह में कई दिग्गज पहुंचेंगे. कई राजनेता, अभिनेता, खिलाड़ी समेत अन्य क्षेत्रों के दिग्गज को न्योता भेजा गया है. साथ ही कई अन्य राज्यों में प्राण प्रतिष्ठा के मद्देनजर राज्यों में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है.

Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी को होने वाली है. इस समारोह में कई दिग्गज पहुंचेंगे. कई राजनेता, अभिनेता, खिलाड़ी समेत अन्य क्षेत्रों के दिग्गज को न्योता भेजा गया है. साथ ही कई अन्य राज्यों में प्राण प्रतिष्ठा के मद्देनजर राज्यों में कार्यक्रम का आयोजन किया गया है. कई लोग पैदल अयोध्या के लिए निकल पड़े है. राम मंदिर का इतिहास बहुत ही ज्यादा पुराना है. सैंकड़ों साल पुराने विवाद में कई लोगों की जान भी गई. भारतीय जनता पार्टी हमेशा से राम मंदिर के मुद्दे को लेकर आगे रही है. तो आइए, ऐसे ही कई सवालों में से कुछ अहम सवालों पर चर्चा करते है.

अयोध्या राम मंदिर का निर्माण कब शुरू हुआ?

साल 2019 में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण शुरू हुआ.

राम मंदिर का डिजाइन किसने किया?

राम मंदिर के शिल्पकार चंद्रकांत सोमपुरा को कहा जाता है. राम मंदिर के मूल डिजाइन की योजना साल 1988 में ही बन चुकी थी. खबरों की मानें तो 1988 में अहमदाबाद के सोमपुरा परिवार द्वारा यह डिजाइन बनाया गया था. वास्तु शास्त्र और शिल्पा शास्त्र के अनुसार 2020 में इसमें कुछ बदलाव भी किये गए है.

राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के में किन लोगों को आमंत्रण मिला?

राम मंदिर की प्राण प्रतिष्ठा के लिए कई लोगों को निमंत्रण मिला है. उसमें पीएम नरेंद्र मोदी, विपक्ष के कई बड़े नेता, कई अभिनेताओं और खिलाड़ियों को न्योता भेजा गया है.

अयोध्या राम मंदिर का वर्तमान स्थिति क्या है?

अयोध्या राम मंदिर लगभग बनकर तैयार हो चुका है और 22 जनवरी को इसकी प्राण प्रतिष्ठा होगी.

Also Read: गंगा जमुनी तहजीब की मिसाल- रामलला का दर्शन करने आगरा से पैदल चल पड़े दो दोस्त

राम मंदिर का हाइट कितना है?

राम जन्मभूमि ट्रस्ट की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार, राम मंदिर में तीन मंजिला का निर्माण हो रहा है जिसकी ऊंचाई 161 फीट है.

अयोध्यानगरी का निर्माण कब हुआ था?

अयोध्यानगरी बहुत ही पुरानी नगरी है जिसका जिक्र त्रेतायुग से है. धर्म-अध्यात्म में इस बात का जिक्र है कि भगवान राम की नगरी अयोध्या ही थी.

अयोध्या में राम मंदिर की मूर्ति कब रखी गई?

विवादों से घिरे माहौल में साल 1949 में राम मंदिर की मूर्ति विवादित जगह पर रखी गई थी.

क्या अयोध्या में राम मंदिर अधूरा है?

नहीं, अयोध्या राम मंदिर का निर्माण हो चुका है. भगवान का कक्ष भी बनकर पूरी तरह तैयार है. एक मंजिला पूरी तरह से तैयार है. बाकि, केवल ढांचा पूरा करना बाकि है.

आम लोगों के लिए राम मंदिर के दरवाजे कब खुलेंगे?

जानकारी हो कि अयोध्या राम मंदिर की प्राण-प्रतिष्ठा जब 22 जनवरी को हो जाएगी तो उसके बाद 23 जनवरी से आम लोग मंदिर में दर्शन के लिए जा सकेंगे.

अयोध्या राम मंदिर के लिए चंदा किसने दिया?

मंदिर निर्माण के लिए सबसे अधिक चंदा आम लोगों ने दिया है. इस सूची में कई क्रिकेटर, फिल्मी जगत के अभिनेता, राजनेता समेत दिग्गज शामिल है.

अयोध्या राम मंदिर के निर्माण में कितनी लागत है?

अयोध्या राम मंदिर के निर्माण में अनुमानित ₹1,800 करोड़ की लागत आई है.

अयोध्या राम मंदिर के लिए दान कैसे दें?

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट को राम मंदिर के लिए अगर कोई इच्छुक दान करना चाहता है तो ट्रस्ट की ओर से दिए गए आधिकारिक बैंक अकाउंट का इस्तेमाल करना होगा.

अयोध्या राम मंदिर के लिए कितना दान अभी तक मिल चुका है?

खबरों की मानें तो अयोध्या राम मंदिर के निर्माण के लिए अभी तक करीब 4 हजार करोड़ रुपए दान मिले है.

राम मंदिर कौन सा ट्रस्ट बना रहा है?

राम मंदिर के लिए निर्माण में जो ट्रस्ट लगा हुआ है उसका नाम है श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट.

You May Like

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

अन्य खबरें