यूपी की छात्राएं मार्शल आर्ट सीख कर बचायेंगी अपनी इज्जत

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date

लखनऊ : उत्तर प्रदेश सरकार ने महिलाओं और लडकियों के प्रति अपराधों में हो रही वृद्धि के मद्देनजर इसके बचाव के लिए एक नया तरीका सोचा है. सरकार ने राज्य के सभी विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में छात्राओं को मार्शल आर्ट का प्रशिक्षण दिलाने की व्यवस्था के निर्देश दिया है.

अखिलेश सरकार का यह उपाय कितना कारगर सिद्ध होगा यह आने वाला समय ही बतायेगा लेकिन राज्य में लगातार बढ रही महिला विरोधी गतिविधि ने अखिलेश सरकार के माथे पर सिकन पैदा कर दी है. विपक्ष इसको लेकर सरकार पर कोई वार करने से नहीं चूक रही है. अब ऐसे मेंअखिलेशका लडकियों को आत्मरक्षा के गुर सिखाने का फैसला कितना कारगर साबित होगा यह देखने वाली बात है.

एक शासकीय प्रवक्ता ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री ने यहां ‘वूमन पावर लाइन 1090’ की गहन समीक्षा करते हुए कहा कि राज्य के सभी विद्यालयों एवं महाविद्यालयों में छात्राओं को मार्शल आर्ट का प्रशिक्षण दिलाने की व्यवस्था की जाए ताकि लडकियां विषम परिस्थितियों में आत्मरक्षा करने में सक्षम हो. अखिलेश ने महिलाओं के उत्पीडन संबंधी अपराधों पर की जा रही कार्यवाही के प्रभावी एवं नियमित कार्यान्वयन के निर्देश दिये और कहा कि ऐसे प्रकरणों पर पूरी संवेदनशीलता एवं तत्परता से निर्णय किया जाए.

मुख्यमंत्री ने इस मौके पर पुलिस महानिदेशक ए एल बनर्जी एवं अपर पुलिस महानिदेशक तथा महिला प्रकोष्ठ की प्रभारी सुतापा सान्याल को समय समय पर महिला हेल्पलाइन 1090 दफ्तर का आकस्मिक निरीक्षण करने के निर्देश देते हुए कहा कि इससे ‘वूमेन पावर लाइन’ द्वारा सम्पादित किए जा रहे कार्यो की गुणवत्ता भी परखी जा सकेगी. उन्होंने हेल्पलाइन के सुचारु संचालन में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्यवाही के निर्देश भी दिये. गौरतलब है कि मुख्यमंत्री ने महिलाओं के खिलाफ उत्पीडन की घटनाओं को अंजाम देने वालों के विरुद्व कठोरता से कार्यवाही करने के लिए 18 नवंबर 2012 को प्रदेश में महिला हेल्पलाइन 1090 शुरु की थी. इस हेल्पलाइन पर महिलाएं अपनी शिकायतें दर्ज करा सकती हैं.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें