1. home Hindi News
  2. state
  3. maharashtra
  4. people will be able to get information about icu beds and ventilators through the app in mumbai

मुंबई में एप के जरिये लोग हासिल कर सकेंगे आईसीयू बिस्तरों और वेंटिलेटर की जानकारी

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
कोरोना वायरस महामारी के बीच मुंबई के लोग अब अस्पतालों में आईसीयू बिस्तरों और वेंटिलेटर की उपलब्धता के बारे में जानकारी एक नए मोबाइल ऐप के जरिए हासिल कर सकेंगे.
कोरोना वायरस महामारी के बीच मुंबई के लोग अब अस्पतालों में आईसीयू बिस्तरों और वेंटिलेटर की उपलब्धता के बारे में जानकारी एक नए मोबाइल ऐप के जरिए हासिल कर सकेंगे.
Twitter

कोरोना वायरस महामारी के बीच मुंबई के लोग अब अस्पतालों में आईसीयू बिस्तरों और वेंटिलेटर की उपलब्धता के बारे में जानकारी एक नए मोबाइल ऐप के जरिए हासिल कर सकेंगे. महापौर किशोरी पेडनेकर ने बुधवार को 'एयर-वेंटी' नाम के ऐप को लॉन्च करते हुए कहा कि इससे लोगों को आपात स्थिति में मदद मिलेगी.

पेडनेकर ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘ इस ऐप से लोग मुंबई के अस्पतालों में आईसीयू बिस्तरों और वेंटिलेटरों की उपलब्धता की जानकारी हासिल कर सकेंगे. '' उन्होंने बताया कि ऐप को शहर के आपदा नियंत्रण कक्ष के डैशबोर्ड से जोड़ा गया है और इसका लिंक मुंबई महानगरपालिका के ऐप के जरिये भी हासिल किया जा सकता है.

उन्होंने बताया कि ऐप को गूगल प्ले स्टोर में जाकर डाउनलोड किया जा सकेगा. बुधवार तक मुंबई में कोरोना वायरस संक्रमण के 61,501 मामले और मृतक संख्या 3,242 थी. बता दें कि मुंबई में कोरोना के संक्रमण लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं. इस वजह से आईसीयू बिस्तरों की बारी कमी हो गई है. कई डॉक्टर और नर्स भी इस संक्रमण का शिकार हो गई है.

कुछ महीने पहले की ही रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ था कि मुंबई में कई अस्पतालों को सील कर दिया गया था. कारण यह था कि कई नर्स डॉक्टर इसका शिकार हो गए थे. बढ़ते मरीजों की वजह से ही मुंबई के वानकाड़े स्टेडियम को कोविड19 के मरीजों को रखने के लिए आईसोलेशन वार्ड बनाने का प्रस्ताव पेश किया गया था. NDTV के खबर के अनुसार मुंबई में 99% ICU बेड और 94% वेंटिलेटर नहीं खाली हैं, वहीं कोविड हेल्थ सेंटर्स की बात करें तो यहां भी 87 प्रतिशत बेड भरे हुए हैं.

11 जून तक मुंबई शहर में 1181 आईसीयू बेड मौजूद थे, जिनमें से 1667 बेड मरीजों से भर चुके हैं. नए मरीजों के लिए केवल 14 बेड शेष बचे हैं. वहीं वेंटिलेटर मशीनों की बात करें तो 530 मशीनों में से 497 वेंटिलेटर अभी उपयोग में है.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें