1. home Hindi News
  2. state
  3. maharashtra
  4. maharashtra education minister varsha gaikwad sent a proposal to the government said 10th and 12th examinations should be conducted in may ksl

महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड ने सरकार को भेजा प्रस्ताव, कहा- मई माह में कराई जाएं 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
वर्षा गायकवाड, स्कूल शिक्षा मंत्री, महाराष्ट्र
वर्षा गायकवाड, स्कूल शिक्षा मंत्री, महाराष्ट्र
ANI

मुंबई : महाराष्ट्र की स्कूल शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने शुक्रवार को कहा है कि हमने सरकार के समक्ष प्रस्ताव रखा है कि 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं फरवरी या मार्च के बजाय मई में आयोजित की जानी चाहिए. साथ ही नौवीं, दसवीं, 11वीं और 12वीं की पढ़ाई के लिए स्कूलों में कक्षाएं 23 नवंबर से शुरू करने का प्रस्ताव राज्य सरकार को दिया है.

मालूम हो कि इससे पहले महाराष्ट्र शैक्षिक अनुसंधान और प्रशिक्षण परिषद ने कोरोना संक्रमण को लेकर लगाये गये लॉकडाउन के मद्देनजर पाठ्यक्रम में संशोधन किया है. सत्र 2020-2021 के लिए पाठ्यक्रम में 25 फीसदी की कटौती की गयी है. इसके अलावा जर्मन भाषा के पाठ्यक्रम में भी 25 फीसदी की कटौती की गयी है.

पाठ्यक्रम में कटौती की सूचना को विभागीय वेबसाइट पर भी दिया गया है. साथ ही कहा गया है कि पाठ्यक्रम की संशोधित सूची सभी उच्च विद्यालय के प्रधानाचार्य, शिक्षक और छात्रों के लिए है. साथ ही अभिभावकों और माता-पिता को भी सूचित करने की बात कही गयी है.

महाराष्ट्र की शिक्षा मंत्री वर्षा गायकवाड़ ने कहा है कि सूबे में आम तौर पर 15 जून के बाद से ही स्कूल शुरू हो जाते हैं. पहले 12वीं की परीक्षाएं फरवरी और 10वीं की परीक्षाएं मार्च के पहले सप्ताह में होती थी, लेकिन साल 2020 में कोरोना महामारी के कारण स्कूली पढ़ाई अब तक शुरू नहीं हो पायी हैं.

उन्होने कहा कि हालांकि, हम लोगों ने ऑनलाइन, टेलीविजन और अन्य तरीकों से बच्चों की पढ़ाई की कोशिश की है. महाराष्ट्र बोर्ड की परीक्षाओं की तैयारियों में भी करीब दो माह का वक्त लग जाता है. इसलिए परीक्षाएं मई माह में करायी जाएं. मई में परीक्षाएं कराना इसलिए भी जरूरी है कि इसके बाद बारिश शुरू हो जाती है. इससे नये सत्र में स्कूल खुलने में भी देरी होगी.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें