1. home Hindi News
  2. state
  3. maharashtra
  4. coronavirus pandemic rs500 to 1000 fine for not wearing mask now strict rules in this city prakash javadekar aml

मास्क नहीं लगाने पर 500-1000 रुपये का जुर्माना, अब इस शहर में नियम हुए सख्त

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
बिना मास्क पकड़े जाने पर लगेगा 500-1000 जुर्माना, चलेगा अभियान
बिना मास्क पकड़े जाने पर लगेगा 500-1000 जुर्माना, चलेगा अभियान
Twitter संकेतिक तस्वीर

पुणे : महाराष्ट्र के पुणे में कोरोनावायरस (Coronavirus Epidemic) के बढ़ते मामलों को लेकर केंद्र सरकार गंभीर है. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर ने पुणे में कहा कि जो लोग मास्क (Mask) नहीं लगा रहे हैं या फिर सार्वजनिक जगहों पर थूक रहे हैं, उनसे सख्ती से जुर्माना वसूला जायेगा. जुर्माने के राशि 500 से 1000 रुपये (Fine) है. दिल्ली में पहले से ही मास्क नहीं पहनने वालों के खिलाफ सख्ती बरती जा रही है. वहां पुलिस प्रशासन सीसीटीवी से लोगों पर नजर रख रही है.

जावडेकर ने कहा कि हमने पुणे में कोविड-19 के प्रसार से मुकाबले के लिए बनायी गयी रणनीति की समीक्षा की. यहां रैपिड एंटिजन टेस्ट में तेजी लाया जायेगा और सीरो सर्वे की मदद से कोरोना से लड़ने वाले एंटीबॉडी वाले लोगों की पहचान तेजी से की जायेगी. उन्होंने कहा कि सबसे ज्यादा जरूरी है नियमों को तोड़ने वालों के खिलाफ कार्रवाई करना.

उन्होंने कहा कि मास्क नहीं लगाने वालों और सार्वजनिक जगहों पर थूकने वालों से सख्ती के साथ जुर्माना वसूला जाना चाहिए. बता दें कि पुणे में कोरोनावायरस से मरने वालों की संख्या 2700 के आसपास चली गयी है. जबकि इस शहर में एक लाख से ज्यादा लोग कोविड-19 से संक्रमित हो चुके हैं. विशेषज्ञों ने भी कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी के लिए लोगों की लापरवाही को जिम्मेदार ठहराया है.

मास्क नहीं लगाने से बढ़ने लगे हैं कोविड-19 के मामले

विशेषज्ञों का मानना है कि आर्थिक गतिविधियों के खुलने, जांच बढ़ने और लोगों द्वारा सार्वजनिक स्थानों पर सुरक्षा नियमों का उल्लंघन करने से कोरोना के मामलों में बेतहासा बढ़ोतरी हो रही है. अकेले राष्ट्रीय राजधानी में पिछले चार दिन से लगातार कोविड-19 के 2,000 से ज्यादा नये मामले सामने आ रहे हैं. शुक्रवार को 2,914 मामले आये थे.

मेडिकल विशेषज्ञों ने पहले भी मामलों के बढ़ने की आशंका जताते हुए सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं पहनने और दो गज की दूरी के नियम का उल्लंघन करने के परिणाम को लेकर आगाह किया था, साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि अर्थव्यवस्था को हमेशा के लिए बंद नहीं रखा जा सकता है.

जीटीबी अस्पताल के मेडिकल अधीक्षक राजेश रौतेला का कहना है, ‘यह सोचना कि सबकुछ सामान्य है और लोगों का यूं बाहर घूमना-फिरना बहुत गैरजिम्मेदारी वाली बात है. वो या तो मास्क नहीं पहन रहे हैं या फिर उसे नीचे अपनी ठुड्डी पर कर लेते हैं, जैसे ही यह कोई मजाक की बात हो. वे खुद को, अपने परिवार को और बाकी लोगों को खतरे में डाल रहे हैं.'

Posted By: Amlesh Nandan.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें