26.1 C
Ranchi

BREAKING NEWS

Advertisement

चक्रधरपुर. शराब दुकान में नकली दारू बेचते दो सेल्समैन गिरफ्तार

चक्रधरपुर के पदमपुर में ब्रांडेड शराब की बोतलों में बेची जा रही थी नकली शराब

चक्रधरपुर. चक्रधरपुर में एक बार फिर दुकान में नकली शराब बेचने के मामला का पर्दाफाश हुआ है. शहर के पदमपुर में ब्रांडेड शराब की बोतलों में नकली शराब भरकर बेची जा रही थी. पुलिस ने नकली शराब बेचने के आरोप में दो सेल्समैन को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है. गिरफ्तार लोगों में बड़ी बाजार निवासी सुमन गुप्ता और पलामू के पांडुआ निवासी अनूप कुमार शामिल है. दोनों के पास से नकली शराब बनाने के सामान के साथ 25,400 रुपये नगद बरामद किये गये हैं.

जानकारी के अनुसार जिले के एसपी आशुतोष शेखर को सूचना मिली थी कि पदमपुर स्थित लाइसेंसी दुकान में नकली शराब बनाने का काम चल रहा था. सूचना पर चक्रधरपुर के थाना प्रभारी राजीव रंजन ने टीम बनाकर पदमपुर लाइसेंसी शराब दुकान में छापामारी की. छापेमारी में पुलिस ने खाली बोतलें, ढक्कन, क्यूआर कोड स्टीकर, मिनरल वाटर की बोतलें बरामद की गयी हैं. दुकान के सेल्समैन सुमन गुप्ता और अनूप कुमार को नकली शराब बनाने के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया है.

पदमपुर की शराब दुकान से बरामद सामान

पुलिस ने पदमपुर की लाइसेंसी शराब दुकान से 25,400 रुपये, मैकडॉनल्ड फुल की खाली बोतल, ब्लेंडर स्प्राइट 180 एमएल की खाली बोतल, स्टर्लिंग 180 एमएल की खाली बोतल, सिग्नेचर 750 एमएल की 10 खाली बोतल, रॉयल स्टैग के 78 पीस ढक्कन, मैकडॉनल्ड नंबर वन के 30 ढक्कन, आइकॉनिक के 15 ढक्कन और 19 बारकोड स्टीकर बरामद किये गये हैं. इसके अलावे मिनरल वाटर की बोतल में भरकर अलग से रखी गयी शराब भी बरामद की गयी है. बताया जाता है कि पानी मिलाकर शराब की बोतलों की संख्या बढ़ाने का काम होता है. एक बोतल से तीन शराब की बोतलें बनायी जाती है.

7 अप्रैल को पांच सेल्समैन की हुई थी गिरफ्तारी

चक्रधरपुर के नगर परिषद् कार्यालय के पीछे घर में नकली शराब बनाते हुए सात सेल्समैन को पकड़ा गया था. उस समय भी बड़े पैमाने में नकली शराब बनाने के सामान बरामद हुए थे. उस समय छापामारी के बाद शहर की सभी लाइसेंसी शराब दुकान के सेल्समैन को बदल दिया गया था. इसके बावजूद आये दिन चक्रधरपुर की लाइसेंसी शराब की दुकानों से नकली शराब बेचने की शिकायत मिल रही है. इतना ही नहीं शराब की कीमत भी 50 रुपये अधिक वसूलने की शिकायत मिल रही थी. इस पर रोक लगाने में आबकारी विभाग पूरी तरह नाकाम रहा है.

डिस्क्लेमर: यह प्रभात खबर समाचार पत्र की ऑटोमेटेड न्यूज फीड है. इसे प्रभात खबर डॉट कॉम की टीम ने संपादित नहीं किया है

Prabhat Khabar App :

देश, एजुकेशन, मनोरंजन, बिजनेस अपडेट, धर्म, क्रिकेट, राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Advertisement

अन्य खबरें

ऐप पर पढें