1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. two coronavirus positive patient from hindpiri and giridih total 162 people infected in jharkhand

हिंदपीढ़ी और गिरिडीह से मिले एक-एक कोरोना पॉजिटिव मरीज, झारखंड में संक्रमितों की संख्या 162 हुई

By Prabhat Khabar Digital Desk
Updated Date
Symbolic Image
Symbolic Image

रांची : झारखंड (Jharkhand) में सोमवार 11 मई को कोरोनावायरस (Coronavirus) के दो नये पॉजिटिव मामले सामने आये हैं. इसके साथ ही राज्य में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर 162 हो गयी है. आज जो दो मामले सामने आये हैं, उसमें हिंदपीढ़ी की एक 25 साल की लड़की है. जबिक दूसरा पॉजिटिव मामला गिरिडीह से आया है. रविवार को झारखंड में कोरोना के चार केस सामने आये थे. हजारीबाग जिले से एक और गिरिडीह जिले से तीन नये केस आये हैं. राज्य के कुल 13 जिले अब तक कोरोना की चपेट में आ चुके हैं.

सोमवार को सरकारी लैबों में कुल 1022 सैंपलों की जांच की गयी, जिनमें दो पॉजिटिव मरीज मिले हैं. वहीं, प्राइवेट लैबों में 39 सैंपलों की जांच की गयी, जिनमें एक भी पौजिटिव केस नहीं मिला. राज्य में अबतक कोरोना संक्रमण से ठीक हुए 78 लोगों को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया है. झारखंड में एक्टिव मामलों की संख्या 81 है. सबसे ज्यादा मामले राजधानी रांची से हैं. रांची से कुल 94 कोरोना पॉजिटिव मामले मिले हैं, जिनमें 39 एक्टिव मामले हैं. राज्य में अबतक तीन लोगों की मौत हो चुकी है.

क्वारेंटाइन किये गये ढुलू महतो, लिया गया स्वाब का नमूना

विधायक ढुलू महतो को जेल के अंदर ही क्वारेंटाइन कर दिया गया है. जेल प्रशासन ने उनका स्वाब लेकर जांच के लिए भिजवा दिया है. उनके साथ सरेंडर करनेवाले कपिल राणा को अलग क्वारेंटाइन किया गया है. उनका भी स्वाब लिया गया है. जेलर अनिमेष चौधरी ने बताया कि जेल में आनेवाले हर नये बंदी को क्वारेंटाइन किया जा रहा है. विधायक अभी 14 दिनों तक क्वारेंटाइन में रहेंगे. अभी जेल में 30 बंदी एक साथ क्वारंटाइन हो रहे हैं, लेकिन विधायक को अलग कमरे में रखा गया है. पुलिस विधायक ढुलू महतो को रिमांड पर लेने की तैयारी कर रही है. विधायक ने आज की कोर्ट में सरेंडर किया है.

कोरोना पॉजिटिव वृद्ध कर रहा है परेशान, रिनपास भेजने की तैयारी

स्टेशन रोड निवासी वृद्ध रिम्स स्थित कोरोना पॉजिटिव कोविड-19 अस्पताल में डॉक्टर व कर्मचारियों को परेशान कर रहा है. वृद्ध संक्रमित कभी अंदर से कमरा बंद कर लेता है, तो कभी खाना नहीं खाता है. उसकी रोज-रोज की हरकतों से डॉक्टर का सब्र का बांध टूट गया है. सोमवार को दोबारा वृद्ध ने अंदर से कमरा बंद कर लिया. सुरक्षाकर्मी व नर्स उसे खाना देने के लिए घंटों दरवाजा पीटते रहे, लेकिन उसने दरवाजा नहीं खोला.

डॉक्टर्स और नर्स को अनहोनी की आशंका होने लगी. तुरंत ही इसकी जानकारी पुलिस को दी गयी. अब वृद्ध को रिनपास भेजने की तैयारी की जा रही है. गौरतलब है कि रिम्स के मेडिसिन विभाग में इलाज के दौरान कोरोना जांच कराने पर वृद्ध को पॉजिटिव पाया गया था. इससे पूर्व रिनपास ने भी कोरोना पॉजिटिव पाये जाने पर वृद्ध को भर्ती करने से इनकार कर दिया था.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें