1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. shobha yatra not leave in sarhul due to corona infection tribal organizations decided in a meeting with ranchi dc smj

कोरोना संक्रमण के कारण सरहुल में नहीं निकलेगी शोभा यात्रा, रांची डीसी के साथ बैठक में प्रमुख आदिवासी संगठनों ने लिया फैसला

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
सरहुल में शोभा यात्रा को लेकर रांची डीसी से बात करते प्रमुख आदिवासी संगठनों के सदस्य.
सरहुल में शोभा यात्रा को लेकर रांची डीसी से बात करते प्रमुख आदिवासी संगठनों के सदस्य.
सोशल मीडिया.

Coronavirus Update News, Jharkhand News (रांची) : झारखंड समेत राजधानी रांची में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मद्देनजर प्रमुख आदिवासी संगठनों ने सरहुल में शोभा यात्रा नहीं निकालने का फैसला लिया है. यह फैसला रांची डीसी छवि रंजन की अध्यक्षता में प्रमुख आदिवासी संगठनों के साथ बैठक में लिया गया. वहीं, सरहुल पूजा को लेकर 10 अप्रैल, 2021 से सत्याग्रह कार्यक्रम को खत्म किया है. बता दें कि आगामी 15 अप्रैल, 2021 को सरहुल है.

राज्य में बढ़ते कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर गत दिनों हेमंत सरकार ने रैली, जुलूस, शोभा यात्रा समेत अन्य गतिविधियों पर रोक लगाने का आदेश जारी किया. पूरे राज्य में यह आदेश 8 अप्रैल से 30 अप्रैल, 2021 तक जारी रहेगा. इसी केे मद्देनजर गुरुवार को प्रमुख आदिवासी संगठन और रांची जिला प्रशासन की बैठक में सरहुल शोभा यात्रा नहीं निकालने का फैसला लिया गया.

रांची समाहरणालय में आयोजित रांची डीसी छवि रंजन की अध्यक्षता में हुई बैठक में प्रमुख आदिवासी संगठनों ने वैश्विक महामारी के दूसरे चरण के कहर को देखते हुए आगामी 15 अप्रैल, 2021 को सरहुल शोभा यात्रा नहीं निकालने पर सहमति जतायी. वहीं, केंद्रीय सरना समिति के केंद्रीय अध्यक्ष फूलचंद तिर्की एवं आदिवासी संयुक्त मोर्चा के संयोजक अंतु तिर्की ने बरियातू स्थित तेतर टोली सरना स्थल पर 10 अप्रैल को पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत सरहुल पूजा को लेकर सत्याग्रह कार्यक्रम को भी स्थगित किया.

इस संबंध में केंद्रीय सरना समिति के केंद्रीय अध्यक्ष फूलचंद तिर्की ने कहा कि वैश्विक महामारी कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए केंद्रीय सरना समिति, झारखंड आदिवासी संयुक्त मोर्चा, अखिल भारतीय आदिवासी विकास परिषद एवं अन्य 50 संगठनों द्वारा आगामी 15 अप्रैल को सरहुल शोभा यात्रा नहीं निकालने का निर्णय लिया है.

उन्होंने आदिवासी समुदाय के लोगों से अपील करते हुए कहा कि गांव- मौजा के लोग पहान पुजार की अगुवाई में अपने गांव-मौजा के सरना स्थल में सोशल डिस्टैंसिंग एवं सरकार के गाइडलाइन पालन करते हुए सरहुल पूजा मनायें. साथ ही सरना स्थल एवं अखाड़ों की साफ-सफाई करें. घर-घर सरना झंडा लगाएं. सरना स्थल में बाहरी व्यक्तियों पर रोक लगायें. सोशल डिस्टैंसिंग एवं मास्क जरूर लगायें. बैठक रांची सिटी एसपी, सदर एसडीओ, केंद्रीय सरना समिति के कृष्णकांत टोप्पो, निर्मल पहान, प्रेमशाही मुंडा, प्रशांत टोप्पो, सूरज तिग्गा, बबलू मुंडा, अभय भुटकुवर आदि शामिल थे.

Posted By : Samir Ranjan.

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें