1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. ranchi six people of the family dead in ganga river due to boat drowned in vindhyachal mirzapur srn

रांची से विंध्याचल गये परिवार के छह लोग नदी में डूबे, गंगा स्नान कर नाव पलट जाने के कारण घटी घटना, तलाश जारी

यूपी के मिर्जापुर जिले के विंध्याचल क्षेत्र में नाव के पलट जानें से रांची के एक ही परिवार के 6 लोगों डूब गये हैं. जिसकी तलाश जारी है. ये परिवार विंध्याचल (Vindhyachal) मंदिर के दर्शन करने के लिए गया था

By Sameer Oraon
Updated Date
सुल्तानगंज गंगा घाट पर स्नान करने के दौरान तीन युवक डूबे
सुल्तानगंज गंगा घाट पर स्नान करने के दौरान तीन युवक डूबे
सांकेतिक फोटो (social media)

Vindhyachal Mirzapur News, Ranchi News रांची : यूपी के मिर्जापुर जिले के विंध्याचल क्षेत्र के अखाड़ा घाट पर बुधवार की दोपहर गंगा पार से स्नान करने के बाद दर्शनार्थियों को लेकर आ रही नाव गंगा में पलट गयी. नाविक समेत 12 लोग गंगा नदी में डूबने लगे. इसमें धुर्वा, जमशेदपुर के आदित्यपुर और डुमरांव के रहनेवाले शामिल थे. इस पर गंगा किनारे मौजूद लोगों ने पुलिस को सूचना दी. गोताखोरों की मदद से नाविक और पांच दर्शनार्थियों को बाहर निकाला. वहीं, छह लोग लापता हो गए हैं.

मौके पर पहुंची पुलिस जाल डलवा कर गोताखोरों की मदद से लापता लोगों की तलाश में जुटी है. लापता लोगों में दीपक मिश्रा की पत्नी अनीशा, पुत्र सत्यम व शौर्य सहित एक ढाई माह का बच्चा, गुड़िया और खुशबू शामिल हैं. वहीं राजेश तिवारी, विकास ओझा, दीपक मिश्रा के अलावा बच्चों में अलका और रीतिका के साथ वाहन का चालक बच गया.

रांची से विंध्याचल गया था पूरा परिवार :

धुर्वा गायत्री मंदिर रोड डीटी 1579 निवासी भुवनेश्वर तिवारी के पुत्र राजेश तिवारी अपनी पत्नी खुशबू, बेटी अलका राज व रीतिका राज के साथ कार से विंध्याचल के लिए सोमवार की रात 12.30 बजे निकले थे. उनके साथ उनका साला जमशेदपुर के आदित्यपुर बाबा आश्रम कॉलोनी निवासी दीपक, उनकी पत्नी अनीशा के अलावा छह वर्षीय पुत्र सत्यम और ढाई साल का पुत्र शौर्य भी था.

जाने के दौरान जब सभी बक्सर में रुके, तो वहां से एक दूसरी गाड़ी से राजेश के जीजा विकास ओझा और उसकी बहन गुड़िया के अलावा उनके बच्चे भी विंध्याचल दर्शन के लिए साथ चले गये. दर्शन से पहले सभी गंगा स्नान करने अखाड़ा घाट पहुंचे. लेकिन वहां कीचड़ होने से सभी नाव से गंगा के पार चले गये. वहां से स्नान कर वापस लौटने के दौरान तेज बारिश के साथ तेज हवा चलने लगी. जिस कारण नदी के बीच में उनकी नाव पलट गयी. इसके बाद नाविक सहित उसमें सवार सभी 14 लोग तेजधार में बहने लगे. इस दौरान अलका जिस बैग को हाथ से पकड़ी थी, वह नाव में ही फंस गयी, जिससे वह बच गयी. अन्य लोगों को स्थानीय गोताखोर ने बचाया.

नाव में सवार परिवार के 11 लोगों में से पांच को बचा लिया गया

धुर्वा निवासी राजेश के साथ जमशेदपुर में रहनेवाले उसका साला दीपक और बक्सर में रहनेवाले उसके जीजा विकास ओझा सपरिवार गये थे विंध्याचल

शाम 4.30 बजे मिली घटना की जानकारी

विंध्याचल जाने के दौरान दीपक अपनी बहन के लिए तीज का सामान लेकर धुर्वा आया था. राजेश ग्लोबल फाइनेंस कंपनी में काम करते हैं. स्थानीय लोगों के अनुसार घटना की जानकारी राजेश के पिता भुवनेश्वर तिवारी को शाम 4.30 बजे मिली थी. इसके बाद राजेश के मामा सूरज प्रकाश तिवारी भी रांची से एक व्यक्ति के साथ बुलेट से विंध्याचल के लिए रवाना हो गये हैं. राजेश के ससुर भी धुर्वा पहुंच गये हैं.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें