1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. potato becomes expensive due to less inward production along with productionprt

उत्पादन के साथ-साथ आवक कम होने से आलू हुआ महंगा

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
उत्पादन के साथ-साथ आवक कम होने से आलू हुआ महंगा
उत्पादन के साथ-साथ आवक कम होने से आलू हुआ महंगा
फाइल फोटो

रांची : राजधानी के बाजार में आलू महंगा हो गया है. इसकी वजह से खपत कम हो गयी है. थोक कारोबारियों का कहना है कि इस साल बंगाल और यूपी दोनों जगहों पर जहां से झारखंड में आलू आता है, उत्पादन में गिरावट आयी है. दूसरी ओर लगभग सभी घरों में आलू की मांग रहती है, इसका फायदा उठाते हुए शहर में महंगे दाम पर बेचा जा रहा है. थोक में आलू प्रति किलो 25 से 32 रुपये मिल रहा है, जिसे खुदरा में छह रुपये बढ़ाकर 30 से 38 रुपये प्रति किलो बेचा जा रहा है. हालांकि पंडरा, डेली मार्केट के थोक कारोबारियों का कहना है कि वे ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए अधिक कीमत पर आलू नहीं बेच रहे हैं. बाहर से ही महंगा आ रहा है.

कीमत बढ़ने से मंडियों में आवक घटी: कुछ समय पहले जब कीमत कम थी तब रोजाना 30 गाड़ी (एक गाड़ी पर 25 टन) आलू की आवक पंडरा थोक मंडी में होती थी. अब जबकि खुदरा मंडियों में इसकी कीमत 40 रुपये प्रति किलो पहुंच गयी है तो झारखंड में इसकी आवक काफी घट गयी है. सोमवार को 22 ट्रक आलू पंडरा बाजार जबकि 15 ऑटो (एक ऑटो में 10 क्विंटल) आलू डेली मार्केट में बिक्री के लिए लाया गया. आनेवाले दिनों में कीमत में और तेजी के आसार हैं. थोक व्यापारियों के मुताबिक दो साल से भाव सस्ता रहने से किसानों ने खेती कम की, जिससे उत्पादन में 10-20 फीसदी की गिरावट आयी है.

बाजार में तीन से चार तरह के आलू : विभिन्न प्रजातियों के आलू की कीमत मंडी में अलग-अलग है. डोरंडा, डेली मार्केट, अपर बाजार और पंडरा के मंडियों में अच्छी क्वालिटी के आलू तीन से चार वेरायटी में बिक रहे हैं. बंगाल का सफेद आलू 24 से 25 रुपये, यूपी का 26 रुपये, गोल लाल आलू 30 से 32 जबकि शुगर फ्री अल्टीमेटम लंबा आलू थोक में 32 रुपए प्रति किलो बिक रहा है.

पंडरा बाजार : पंडरा थोक मंडी में सादा आलू 2500 से 2600, गोल लाल पहाड़ी आलू 2800 रुपये तो लंबा लाल आलू 3000 से 3100 रुपये प्रति क्विंटल में मिल रहा है.

अपर बाजार: अपर बाजार में थोक में कीमत सफेद आलू 1320 रुपये प्रति बैग (50 किलो), लाल पहाड़ी 1450 रुपये व लंबा लाल आलू 1600 सौ रुपये प्रति बोरी मिल रहा है.

डेली मार्केट : डेली मार्केट मंडी में बंगाल आलू 2400 से 2500 प्रति क्विंटल, यूपी सादा आलू 2500, लाल आलू 2600 प्रति क्विंटल, लाल लंबा अल्टीमेटम 3200 रुपये प्रति क्विंटल है.

बंगाल व यूपी से हर दिन 15 से 20 ट्रक आ रहा आलू

पंडरा स्थित थोक मंडी में हर दिन 15 से 20 ट्रक आलू बंगाल और उत्तर प्रदेश से आ रहा है. इसके अलावा थोड़ा बहुत आलू कोल्ड स्टोरेज का भी यहां बिक रहा है. वहीं महाराष्ट्र और मध्य प्रदेश से हर दिन 15 से 20 ट्रक प्याज आ रहा है.

थोक मंडी की कीमत

सादा आलू 25 से 26 रुपये प्रति किलो

लाल आलू 27 से 28 रुपये प्रति किलो

अल्टीमेटम आलू 30 से 31 रुपये प्रति किलो

प्याज 15 से 18 रुपये प्रति किलो

किसानों से बातचीत

जनवरी-फरवरी में ही झुलसा रोग होने के कारण आलू का पत्ता झुलस गया. उसी तरह प्याज में भी रोग लग जाने से उपज कम रही. आलू-प्याज की पैदावार स्थानीय स्तर पर कम रही है.

राजेश्वर महतो, किसान, ओरमांझी

मार्च के बाद से ही आलू-प्याज की कीमत बढ़ी हुयी है. झारखंड में खपत का मात्र 25 प्रतिशत ही उपज होती है. जिस समय आलू निकल रहा था उस समय भी इसकी कीमत दोगुनी थी.

शिव नारायण साहू, किसान, ओरमांझी

लगातार बारिश के कारण स्थानीय स्तर पर पैदावार नहीं होने के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में आलू का अकाल सा है. आलू उत्पादन में अग्रणी प्रखंड के किसान 40 रुपये किलो आलू खरीद कर खाने को मजबूर हैं.

देवेंद्र महतो, नंदलाल महतो व राजेश्वर महतो, किसान, इटकी

चान्हो व मांडर में कोल्ड स्टोरेज नहीं रहने के कारण आलू का स्टॉक रखने की व्यवस्था नही है. मांडर के बुढ़ाखुखरा में एक कोल्ड स्टोरेज सालों से निर्माणधीन है.

भानु महतो, किसान, पतरातू (चान्हो)

यहां के किसान मार्च, अप्रैल माह की पैदावार आलू को बीज के लिए शीत गृह में रखते हैं. वहीं जून-जुलाई से लेकर अगस्त-सितंबर तक स्थानीय आलू की पैदावार नहीं होने के कारण स्थानीय बाजारों में आलू की कीमत बढ़ जाती है.

देवेंद्र महतो व शिव नारायण महतो, किसान, बेड़ो

Post by : Prirtish Sahay

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें