1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand school reopen update government is preparing for conducting classes from class 1 to 5 get freedom from taking online examination srn

झारखंड सरकार कर रही है कक्षा 1 से लेकर 5 तक के क्लास संचालन की तैयारी, ऑनलाइन परीक्षा देने से भी मिलेगी मुक्ति

झारखंड में पहली से पांचवीं तक की कक्षाओं का संचालन शुरू करने पर विचार चल रहा है, और इस पर निर्णय जल्द होगा. इसके अलावा स्कूलों में ऑफलाइन परीक्षा की भी जल्द ही अनुमति मिलेगी तो वहीं स्कूल का संचालन भी छह घंटे तक का होगा.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
Jharkhand News : सरकार कर रही है कक्षा 1 से लेकर 5 तक के क्लास संचालन की तैयारी
Jharkhand News : सरकार कर रही है कक्षा 1 से लेकर 5 तक के क्लास संचालन की तैयारी
prabhat khabar

School Reopen In Jharkhand रांची : राज्य में कोरोना संक्रमण कम होने के साथ ही स्कूलों को पूरी तरह खोलने की तैयारी हो रही है. अब एक से पांच तक की कक्षा के संचालन पर निर्णय लिया जायेगा. स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग ने इसका प्रस्ताव तैयार किया है. विभाग ने भी इसके अनुरूप ही विद्यालयों में कक्षा संचालन पूर्व की भांति छह घंटा करने और विद्यालय स्तर की परीक्षा ऑफलाइन लेने की तैयारी की है.

इसका प्रस्ताव आपदा प्रबंधन विभाग को भेजा गया है. वहां से अनुमति मिलने पर आगे की कार्रवाई की जायेगी. कक्षा संचालन शुरू होने के बाद बच्चों को विद्यालय में ही मध्याह्न भोजन देने पर विचार किया जा सकता है. वर्तमान में स्कूलों में मध्याह्न भोजन देने पर रोक है. इस कारण ग्रामीण क्षेत्र के बच्चों को बड़ी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. वहीं, उनका स्वास्थ्य भी प्रभावित हो रहा है.

कक्षा छह से 12वीं तक का ही हो रहा संचालन :

राज्य में फिलहाल कक्षा छह से 12वीं तक चार घंटे ही संचालित हो रही है, जबकि सामान्य दिनों में छह घंटे तक संचालन होता है. इसके अलावा विद्यालय स्तर की परीक्षा ऑफलाइन लेने पर रोक है. कक्षा एक से पांच तक के बच्चों का कक्षा संचालन 17 मार्च 2020 से बंद है. सरकार ने अगस्त में कक्षा नौ से 12वीं और सितंबर में कक्षा छह से आठ तक की ऑफलाइन कक्षा शुरू की थी.

प्रति माह लिया जा रहा है टेस्ट

राज्य के सरकारी विद्यालयों में कक्षा तीन से 12वीं तक के विद्यार्थियों का टेस्ट लिया जा रहा है. जेसीइआरटी स्कूलों को प्रश्न पत्र उपलब्ध कराता है. विद्यालय द्वारा प्रश्न पत्र की फोटो कॉपी करा कर बच्चों को दी जाती है. बच्चे घर से उत्तर लिखकर उत्तरपुस्तिका विद्यालय में जमा करते हैं. राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वे के कारण कक्षा संचालन बंद होने के बाद भी कक्षा तीन से पांच तक के बच्चों की परीक्षा ली जा रही है. ऑफलाइन परीक्षा होने से सारी परीक्षाएं स्कूल में ली जायेगी.

अभी बिना लंच ब्रेक के होती है पढ़ाई

विद्यालय का संचालन छह घंटा होने पर सामान्यत: सात घंटी कक्षा का संचालन होता है. इसमें लंच ब्रेक भी रहता है. वर्तमान में स्कूलों में लंच ब्रेक नहीं मिलता है और चार से पांच घंटी कक्षा संचालन किया जाता है. वर्ष 2022 की मैट्रिक व इंटर की परीक्षा दो चरणों में होगी. पहले चरण की परीक्षा दिसंबर में होने की संभावना है. कक्षा संचालन की अवधि बढ़ने से विद्यार्थी और बेहतर तरीके से परीक्षा की तैयारी कर सकेंगे.

Posted by : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें