1. home Home
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. jharkhand news team to be not play in santosh trophy and womens championship due to dispute between president secretary srn

संतोष ट्रॉफी व वीमेंस चैंपियनशिप में नहीं खेलेगी झारखंड की टीम, अध्यक्ष-सचिव के बीच विवाद बनी वजह

झारखंड के फुटबॉलरों को जेएफए) के आपसी विवाद का भगतना पड़ रहा, इस बार राज्य की टीम दो प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में भाग नहीं ले पाएगी. संतोष ट्रॉफी का आयोजन एक दिसंबर से उड़ीसा में होगा तो वहीं महिला चैंपियनशिप 29 नवंबर से केरल में होगा.

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
संतोष ट्रॉफी व वीमेंस चैंपियनशिप में नहीं खेलेगी झारखंड की टीम
संतोष ट्रॉफी व वीमेंस चैंपियनशिप में नहीं खेलेगी झारखंड की टीम
Symbolic Pic

Jharkhand News, Ranchi News रांची : झारखंड फुटबॉल एसोसिएशन ( Jharkhand Football Association ) (जेएफए) के आपसी विवाद का खमियाजा झारखंड के फुटबॉलरों को भुगतना पड़ रहा है. विवाद को देखते हुए ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (एआइएफएफ) ने संतोष ट्रॉफी और महिला चैंपियनशिप में झारखंड टीम की भागीदारी पर रोक लगा दी है. अब न तो झारखंड की पुरुष फुटबॉल टीम और न ही महिला टीम इन प्रतियोगिताओं में भाग ले पायेगी.

संतोष ट्रॉफी का आयोजन एक दिसंबर से ओड़िशा में होना है, जिसके लिए 30 नवंबर को टीम को रिपोर्ट करनी है. वहीं महिला चैंपियनशिप 29 नवंबर से केरल में होगी, जिसके लिए टीमों को 26 नवंबर को रिपोर्ट करने को कहा गया है.

फेडरेशन को भेजी गयी चार टीमों की लिस्ट

ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन ने पत्र में लिखा है कि फेडरेशन को संतोष ट्रॉफी और वीमेंस चैंपियनशिप के लिए अलग-अलग टीम की लिस्ट मिली है. एक टीम लिस्ट में सचिव के हस्ताक्षर हैं, जबकि दूसरी लिस्ट में प्रेसिडेंट के, इसलिए फेडरेशन को ये कदम उठाना पड़ा और इस वजह से दोनों प्रतियोगिताओं के लिए टीमों को रोका गया.

टीम चयन के दौरान जब एक पक्ष ने बेहतर टीम बनाने के लिए पांच बाहरी खिलाड़ियों को शामिल करने की बात कही, तो दूसरे पक्ष ने इसमें झारखंड के खिलाड़ियों और कोच को स्थान देने की मांग की. इसके बाद विवाद शुरू हुआ और दो प्रतियोगिताओं के लिए चार टीमों की लिस्ट भेज दी गयी.

झारखंड के 42 खिलाड़ियों का एक साल बरबाद

एआइएफएफ के इस पत्र के बाद झारखंड के 42 प्रतिभावान खिलाड़ियों का एक साल बर्बाद हो गया. पुरुष टीम में कुल 22 खिलाड़ी और महिला टीम में कुल 20 खिलाड़ियों को जगह दी जाती है, लेकिन जेएफए के विवाद के कारण इन खिलाड़ियों की मेहनत पर पानी फिर गया. अब अगले साल ही इन खिलाड़ियों को मौका मिल पायेगा.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें