1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. hajj yatra 2021 news jharkhand this year only 416 people from jharkhand are eligible for hajj pilgrimage people above 60 years of age are not allowed from other countries srn

Hajj Yatra 2021 News Jharkhand : झारखंड से इस वर्ष सिर्फ 416 लोग ही हज यात्रा के लिए योग्य, लेकिन संशय बरकरार, सउदी सरकार के इस आदेश का है इंतजार

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
झारखंड से इस वर्ष सिर्फ 416 लोग ही हज यात्रा के लिए योग्य
झारखंड से इस वर्ष सिर्फ 416 लोग ही हज यात्रा के लिए योग्य
Twitter

Hajj 2021 Saudi Government, Hajj 2021 India रांची : राज्य से इस साल मात्र 416 लोग हज यात्रा के लिए योग्य पाये गये हैं. इस साल राज्य से हज पर जाने के लिए 1030 लोगों ने निबंधन कराया था, जिसमें सभी वर्ग के लोग शामिल हैं. मालूम हो कि सउदी सरकार की अोर से जारी दिशा निर्देश में कहा गया है कि इस बार कोरोना के कारण दूसरे देशों से आनेवाले 18 से 60 वर्ष के लोगों को ही हज यात्रा के लिए अनुमति दी जायेगी.

ऐसे में 60 वर्ष से उपर के लोगों को छूट नहीं मिलने से उनमें निराशा है. उधर, 26 जून से शुरू होनेवाली हज यात्रा को लेकर भी वर्तमान में संशय बना हुआ है, क्योंकि इस समय तक कई प्रक्रिया पूरी कर लेनी पड़ती है.

केंद्र को सउदी सरकार के आदेश का इंतजार

हज यात्रा को लेकर भारत सरकार को अब भी सउदी सरकार के आदेश का इंतजार है. कोरोना के कारण सउदी सरकार ने भारत सहित कई देशों के यात्रियों को अपने यहां आने पर रोक लगा रखी है. उम्मीद की जा रही है कि इस पर जल्द ही सउदी सरकार अपना फैसला सुना देगी, तभी पता चल पायेगा कि यहां के लोग हज जा पायेंगे अथवा नहीं.

हज यात्रा के संदर्भ में राज्य हज समिति के सदस्यों की पहली बैठक पांच जून को हज हाउस परिसर में दिन के 12 बजे से होगी. बैठक में हज यात्रा के विभिन्न बिंदुअों पर चर्चा की जायेगी. राज्य हज समिति के अध्यक्ष डॉ इरफान अंसारी ने कहा कि इस बैठक में हज यात्रा के लिए सउदी सरकार की अोर से दिये गये दिशा निर्देश सहित अन्य बिंदुअों पर चर्चा की जायेगी.

कोविशील्ड उपलब्ध कराने की मांग की

कमेटी के अध्यक्ष डॉ अंसारी ने केंद्र सरकार से राज्य के हज यात्रियों के लिए कोविशील्ड उपलब्ध कराने की मांग की है, ताकि उन्हें किसी तरह की कोई परेशानी ना हो. मालूम हो कि भारत में कोविशील्ड का टीका लेने वालों को ही विदेश जाने की अनुमति है, जबकि कोवैक्सीन का टीका डब्ल्यूएचओ की लिस्ट में नहीं होने के कारण वे लोग विदेश यात्रा नहीं कर सकेंगे, जिन्होंने कोवैक्सीन लिया है.

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें