1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. former chief minister raghubar das attacked jharkhand hemant government said women and daughters are not safe in the state smj

झारखंड की हेमंत सरकार पर पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास का हमला, कहा- राज्य में महिलाएं एवं बेटियां नहीं हैं सुरक्षित

By Prabhat khabar Digital
Updated Date
 Jharkhand news : झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कानून व्यवस्था को लेकर हेमंत सरकार पर साधा निशान.
Jharkhand news : झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कानून व्यवस्था को लेकर हेमंत सरकार पर साधा निशान.
सोशल मीडिया.

Jharkhand news, Ranchi news : रांची : पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने झारखंड की महिलाएं एवं बेटियों की सुरक्षा को लेकर हेमंत सरकार पर बड़ा हमला किया है. उन्होंने कहा कि झारखंड में महिलाएं एवं बेटियां सुरक्षित नहीं हैं. राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में आदिवासी, दलित महिलाओं एवं बच्चियों के साथ हृदयविदारक, अमानवीय और बर्बरतापूर्वक अत्याचार हो रहा है. 4 वर्ष की बच्चियों से लेकर आश्रम में साध्वी तक सुरक्षित नहीं है. अपराधियों का मनोबल बढ़ा हुआ है.

उन्होंने कहा कि झारखंड पुलिस के आंकड़ों की माने, तो जनवरी से जुलाई 2020 के बीच राज्य में 1033 बच्चियों के साथ दरिंदगी की रिपोर्ट दर्ज हुई थी यानी हर दिन 5 बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटना हो रही है. इनमें सबसे ज्यादा आदिवासी एवं दलित बच्चियां इसकी शिकार हो रही है.

पूर्व मुख्यमंत्री ने वर्तमान मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था की स्थिति कमजोर हो गयी है. अनुसूचित जाति (SC), अनुसूचित जनजाति (ST), दलित, आदिवासी, गरीब, पिछड़ों-वंचितों पर इसका सबसे अधिक प्रभाव पड़ रहा है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री का क्षेत्र भी इससे अछूता नहीं है. मुख्यमंत्री के क्षेत्र में घटनाएं होती है, लेकिन कार्रवाई के नाम पर केवल खानापूर्ति हो रही है.

श्री दास ने कहा कि दूसरे राज्यों में हो रही घटना पर झामुमो-कांग्रेस के नेता तुरंत बयान देकर राजनीति कर रहे हैं, लेकिन झारखंड की घटना पर कोई प्रतिक्रिया नहीं मिलती है. उन्होंने कहा कि संताल परगना में अपराधियों का ग्राफ बढ़ा है. जमीन पर अवैध कब्जा, बालू-पत्थरों की अवैध ढुलाई, हत्या-बलात्कार जैसी घटनाएं आम हो गयी हैं. रांची, जमशेदपुर, धनबाद, लोहरदगा, लातेहार आदि में दिनदहाड़े हत्याएं हो रही है.

उन्होंने कहा कि अगर राज्य में कानून व्यवस्था पटरी पर नहीं लौटी, तो भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता सड़कों पर उतर कर राज्य की हेमंत सरकार के खिलाफ उग्र आंदोलन करने को बाध्य होगी. उन्होंने राज्य सरकार से इस मसले को गंभीरता से लेते हुए हर हाल में सभी जगह कानून व्यवस्था सुनिश्चित करने की बात कही.

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें