1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. fake of 735 lakhs from 514 youths by false pretense fir lodged srn

नौकरी का झांसा देकर की 514 युवाओं से 7.35 लाख की ठगी, प्राथमिकी दर्ज

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
नौकरी का झांसा 514 युवाओं से लाखों की ठगी
नौकरी का झांसा 514 युवाओं से लाखों की ठगी
सांकेतिक तस्वीर

रांची : कोरोना काल का लाभ उठा कर कुछ लोग बेरोजगारों को ठगने से बाज नहीं आ रहे हैं. ऐसा ही एक मामला बरियातू थाना में दर्ज हुआ है़ बोकारो स्टील सिटी स्थित एक नये प्लांट में सुपरवाइजर, फीटर व स्टोरकीपर की नौकरी दिलाने के नाम पर 514 युवाओं से 7़ 35 लाख रुपये की ठगी की गयी है़.

ठगी का आरोप मोरहाबादी के राधेश्याम अपार्टमेंट निवासी प्रभु नाथ यादव के पुत्र ज्योति कुमार उर्फ विक्की कुमार पर लगा है. वह साईं इंटरप्राइजेज नामक संस्थान चलाता था़ 138 युवाओं से 1़ 97 लाख लेकर देने वाले गौतम कुमार व 376 युवाओं से 5़ 38 लाख लेकर (कुल 7़ 35 लाख रुपये)देने वाले विकास तिवारी व रोशन कुमार ने बरियातू थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी है़

क्या है मामला :

मोरहाबादी निवासी गौतम कुमार ने प्राथमिकी में कहा है कि साईं इंटरप्राइजेज के संचालक ज्योति कुमार उर्फ विक्की सिंह मोरहाबादी स्थित राज कंप्यूटर सेंटर में जेरॉक्स कराने आता था़ गौतम उसी सेंटर में काम करता है़ काम के दौरान ज्योति की गौतम से दोस्ती हो गयी.

एक दिन उसने व्हाट्स मैसेज किया, जिसमें अर्जेंट रिक्वायरड स्टाफ लिखा था. बात करने पर बताया कि बोकारो स्टील सिटी में एक नया प्लांट खुल रहा है़ उसमें विभिन्न पदों के लिए 15 से 25 हजार तक की नौकरी की बात कही गयी थी़

1432 रुपये रजिस्ट्रेशन शुल्क लिये गये थे :

प्रत्येक आवेदक से 1432 रुपये रजिस्ट्रेशन शुल्क लिये गये थे. यह काम 29 अगस्त से शुरू किया गया था. तीन अक्तूबर को मेडिकल जांच की तिथि तय की गयी थी़ कहा गया था कि मेडिकल के लिए आवेदकों काे बोकारो भेजा जायेगा़ साथ ही बिहार के आवेदकों को लाने के लिए बोकारो से बस भेजी जायेगी. बोकारो के एक लॉज का एड्रेस भी दिया गया था, जो गलत निकला़ साथ ही मेडिकल में फेल होने पर 653 रुपये वापस करने की बात कही गयी थी़

दो अक्तूबर की देर रात से बंद है मोबाइल :

गौतम ने बताया कि दो अक्तूबर की देर रात से ही विक्की सिंह ने मोबाइल बंद कर लिया था, जो अाज तक बंद है़ उसके बाद सभी लोग समझ गये कि वे ठगी के शिकार हो गये है़ं उसके बाद कुछ आवेदक मोरहाबादी के राधेश्याम अपार्टमेंट पहुंचे़ वहां विक्की के पिता प्रभु नाथ यादव से मिले तो उन्होंने कहा कि विक्की से उनका कोई संबंध नहीं है. उसने ठगी कि है अब वही समझेगा़

बैंक वाले एकाउंट फ्रीज करने काे हैं तैयार :

बैंक वाले एकाउंट फ्रीज करने काे हैं तैयार : इधर, गौतम कुमार व अन्य लोगों ने विक्की सिंह के आइसीआइसीआइ बैंक एकाउंट में पैसा ट्रांसफर किया था़ बैंक के मैनेजर से मिल कर गौतम, विकास व रोशन ने एकाउंट फ्रीज करने का निवेदन किया है. बैंक अधिकारियों ने इसके लिए प्राथमिकी की कॉपी लाने को कहा है. गौतम कुमार का कहना है कि अब प्राथमिकी दर्ज हो गयी है़ एकाउंट फ्रीज करने के लिए जल्द ही आवेदन देंगे़

posted by : sameer oraon

Share Via :
Published Date
Comments (0)
metype

संबंधित खबरें

अन्य खबरें