1. home Hindi News
  2. state
  3. jharkhand
  4. ranchi
  5. coronavirus in jharkhand maximum 1312 new cases found in jharkhand 7 patients died know what is the latest situation srn

Coronavirus In Jharkhand : झारखंड में मिले सर्वाधिक 1312 नये मामले, 7 मरीजों की हुई मौत, जानें क्या है ताजा हालात

By Prabhat Khabar Print Desk
Updated Date
झारखंड में मिले सर्वाधिक 1312 नये मामले
झारखंड में मिले सर्वाधिक 1312 नये मामले
pti

Jharkhand Coroanvirus Update : रांची : राज्यभर में बुधवार को 1312 नये संक्रमित मिले हैं. ये इस साल का एक दिन का सर्वाधिक आंकड़ा है. वहीं सात संक्रमितों की मौत हो गयी है. इनमें रांची से चार, देवघर, दुमका और कोडरमा से एक-एक मरीज की मौत हो गयी है. राज्यभर में 22105 सैंपल की जांच हुई है और 5.93 प्रतिशत संक्रमित मिले.

राज्य में अब तक कुल 130908 संक्रमित मिल चुके हैं. वहीं 121885 स्वस्थ हो चुके हैं. दूसरी ओर 1151 की मौत हो चुकी है. इस समय कुल एक्टिव केस 7872 हैं.

रांची से मिले 562 संक्रमित:

बुधवार को राजधानी रांची से ही सबसे अधिक 562 संक्रमित मिले हैं. वहीं पूर्वी सिंहभूम से 149 संक्रमित मिले हैं. इसके अलावा बोकारो से 39, चतरा से 10, देवघर से 34, धनबाद से 68, दुमका से 39, गढ़वा से 13, गिरिडीह से 17, गोड्डा से 61, गुमला से 33, हजारीबाग से 48, जामताड़ा से 26, खूंटी से 13, कोडरमा से 26, लातेहार से 28, लोहरदगा से 16, पाकुड़ से दो, पलामू से तीन, रामगढ़ से 57, सिमडेगा से 11 और पश्चिमी सिंहभूम से 21 संक्रमित मिले हैं.

277 की रिपोर्ट निगेटिव :

राज्यभर में 277 की रिपोर्ट निगेटिव आयी है. इनमें रांची से 113, पूर्वी सिंहभूम से 40 व अन्य जिलों से 20 से कम की रिपोर्ट निगेटिव आयी है.

रांची में कुल जांच के 9.6 फीसदी की दर से मिल रहे हैं संक्रमित

राज्य में कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को देखते हुए जांच की गति को बढ़ा दी गयी है. रांची जिला में मंगलवार (छह अप्रैल) को को 5,595 लोगों की जांच की गयी, जिसमें 9.6 फसदी यानी 539 संक्रमित मिले. डॉक्टरों का कहना है कि जांच से ही संक्रमितों की पहचान की जा सकती है. एक संक्रमित पांच से छह गुना की रफ्तार से संक्रमण फैला सकता है.

ऐसे में संक्रमित के संपर्क में आये लोगों की पहचान हो जाये तो संक्रमितों का इलाज भी समय पर होगा और उनके संपर्क में आये लोगों की मॉनीटरिंग भी होगी. सिविल सर्जन डाॅ वीबी प्रसाद ने बताया कि जांच की संख्या बढ़ायी गयी है, जिससे संक्रमितों की पहचान हो रही है. जरूरत पड़ी तो जांच की संख्या को 7,000 प्रतिदिन तक किया जायेगा.

जांच से ही संक्रमित व उसके संपर्क में आये लोगों की पहचान हो सकती है. इससे कोरोना के फैलाव को रोका जा सकता है. हालांकि वर्तमान जांच की गति को और तेज करने की जरूरत है.

-डॉ तापस साहू, क्रिटिकल केयर विशेषज्ञ

Posted By : Sameer Oraon

Share Via :
Published Date

संबंधित खबरें

अन्य खबरें